Saturday, July 24, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाआस मोहम्मद पर 50+ महिलाओं से रेप का आरोप, एक के पति ने तलवार...

आस मोहम्मद पर 50+ महिलाओं से रेप का आरोप, एक के पति ने तलवार से काट डाला: ‘आज तक’ ने ‘तांत्रिक’ बताया

तांत्रिक शब्द से ऐसा प्रतीत होता है जैसे रेप का प्रयास करने वाला हिंदू हो, इसलिए मीडिया फकीरों और मौलवियों के पकड़े जाने पर 'धर्मगुरु' और 'तांत्रिक' शब्द का इस्तेमाल कर उनकी असली पहचान छिपाने का खेल करती है।

गाजियाबाद के मुरादनगर थाना क्षेत्र स्थित गाँव जलालपुर में एक फ़क़ीर की हत्या के मामले में पुलिस ने नया खुलासा किया है। ये घटना 19 फरवरी की है। फ़क़ीर आस मोहम्मद के बारे में पुलिस ने रविवार (फरवरी 28, 2021) को बताया कि वो ‘तंत्र विद्या’ के नाम पर एक व्यक्ति की पत्नी का रेप करने की कोशिश कर रहा था, इसलिए उस व्यक्ति ने उसे मार डाला। नूरगंज चौराहे पर उसने तलवार से काट कर मुस्लिम फ़क़ीर की हत्या कर दी थी। मीडिया ने उसे ‘तांत्रिक’ बताया।

आरोपित ने बताया है कि आस मोहम्मद अक्सर तंत्र विद्या से संतान पैदा करने का वादा कर महिलाओं को अपने पास बुलाता था। आरोप है कि उसने इसी तरह कई महिलाओं के साथ रेप किया था। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त बाइक और तलवार बरामद कर ली है। आरोपित की पत्नी का भी उसी ‘तांत्रिक’ आस मोहम्मद के पास आना-जाना था। जब उसने महिला के साथ रेप का प्रयास किया तो पीड़िता ने अपने पति को इस बारे में बताया।

इसके बाद आग-बबूला होकर आरोपित ने आस मोहम्मद के घर में जाकर उसकी खोजबीन शुरू की, लेकिन उसके वहाँ न मिलने के कारण वो चौराहे पर ही उसका इंतजार करने लगा। जैसे ही वो अपने ई-रिक्शे से वहाँ से गुजरा, आरोपित ने उसे बाल पकड़ के खींच लिया। आरोपित का घर गाँव के बाहरी इलाके में है, ऐसे में उसने चोर-डाकू के भय से तलवार रखा था। 70 से अधिक CCTV फुटेज खंगाल कर पुलिस ने बाइक और आरोपित की पहचान की

फिर उसका स्केच बनवाया गया। मुखबिरों की मदद ली गई। आरोपित मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं करता था, जिससे उसे पकड़ने में पुलिस को दिक्कतें आईं। मृतक आस मोहम्मद के घर से एक डायरी भी मिली है, जिसमें यूनानी और देशी दवाइयों के बारे में लिखा है। पुलिस के सामने ये बात सामने आई है कि वो 50 से भी अधिक महिलाओं के साथ रेप कर चुका था। इस मामले में एक और ‘तांत्रिक’ मुस्तकीन का नाम भी सामने आया है।

तांत्रिक शब्द से ऐस प्रतीत होता है जैसे रेप का प्रयास करने वाला हिंदू हो, इसीलिए मीडिया भी फकीरों और मौलवियों के पकड़े जाने पर भी ‘धर्मगुरु’ और ‘तांत्रिक’ शब्द का धड़ल्ले से इस्तेमाल तो करता ही है, उसकी असली पहचान छिपाने के लिए खबर की हेडिंग से भी खेलता है। इस बार भी ‘आज तक’ और ‘अमर उजाला’ जैसे संस्थानों ने आस मोहम्मद का नाम छिपा कर ऐसा ही खेल किया है। आरोपित ने इस मामले में अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

आजतक ने भी हेडिंग में ‘तांत्रिक’ ऐसे लिखा, जैसे वो हिन्दू हो

मीडिया इससे पहले भी इस तरह का खेल कर चुका है। इसी तरह निकाह-हलाला के नाम पर एक युवती का बलात्कार करने वाले आरोपित अनवर खान का नाम NDTV ने उसे ‘बाबा’ कह कर छिपाया था, जैसे वो कोई हिन्दू साधु हो। इसी तरह एक अन्य बलात्कारी के मामले में नई दुनिया समेत कई मीडिया पोर्ट्ल्स ने इस खबर को प्रकाशित किया था और हेडलाइन में मुस्लिम आलिम की जगह ‘तांत्रिक’ शब्द का प्रयोग किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योगी सरकार के एक्शन के डर से 3 कुख्यात गैंगस्टर मोमीन, इन्तजार और मंगता हाथ उठाकर पहुँचे थाने, किया आत्मसमर्पण

मामला यूपी के शामली जिले का है। सभी गैंगस्टर्स ने कहा कि वो अपराध से तौबा कर भविष्य में अपराध न करने की कसम खाते हैं।

जहाँ से इस्लाम शुरू, नारीवाद वहीं पर खत्म… डर और मौत भला ‘चॉइस’ कैसे: नितिन गुप्ता (रिवाल्डो)

हिंदुस्तान में नारीवाद वहीं पर खत्म हो जाता है, जहाँ से इस्लाम शुरू होता है। तीन तलाक, निकाह, हलाला पर चुप रहने वाले...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,018FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe