Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजइमरान ने कुल्हाड़ी से काटी भेड़ की पूँछ, दलितों के विरोध पर मुस्लिम भीड़...

इमरान ने कुल्हाड़ी से काटी भेड़ की पूँछ, दलितों के विरोध पर मुस्लिम भीड़ ने किया हमला: अलवर की घटना, पुलिस पर ढिलाई दिखाने का आरोप

दलित सोहनलाल मेघवाल का भेड़ देख इमरान को इतना गुस्सा आया कि उसने उस भेड़ की पूँछ काट दी। बाद में मुस्लिमों की भीड़ ने दलितों पर हमला किया। घटना में कई लोगों के घायल होने की खबर है।

राजस्थान के अलवर में एक दलित परिवार ने मुस्लिमों की भीड़ पर हमले का आरोप लगा है। बताया जा रहा है कि यह विवाद भेड़ की पूँछ कटने की वजह से शुरू हुआ था। इस विवाद में लाठी-डंडों के अलावा पथराव भी होने की सूचना है। हमले में लगभग 20 लोगों के घायल होने की खबर है। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। अब तक 9 लोगों की गिरफ्तारी की जानकारी है। घटना शनिवार (31 दिसंबर 2022) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना नौगंवा तहसील के गाँव नारथला की है। घटना के दिन सोहनलाल मेघवाल एक मंदिर के बाहर अपनी भेड़ें और बकरियाँ चरा रहा था। सोहनलाल से थोड़ी ही दूर पर उसी गाँव का इमरान नाम व्यक्ति भी अपनी बकरियों को चरा रहा था। आरोप है कि चरते-चरते सोहनलाल की एक भेड़ भटक कर इमरान की बकरियों के बीच पहुँच गई। यह बात इमरान को नागवार गुजरी।

आरोप है कि इस बात से नाराजगी जताते हुए असलम के बेटे इमरान और उसके भाई ने सोहनलाल के भेड़ की पूँछ कुल्हाड़ी से काट डाली। जब सोहनलाल ने इसका विरोध किया तो इमरान और उसके भाई ने पीड़ित से न सिर्फ गाली-गलौज की बल्कि जातिसूचक शब्द भी बोले। इस दौरान दोनों पक्षों के लोग जमा हो गए। मेघवाल समाज के पीड़ितों का कहना है कि मुस्लिमों की तरफ से 40-50 की संख्या में भीड़ जमा हो गई थी।

शिकायत में बताया गया है कि मुस्लिमों की भीड़ ने ने पुरुषों के साथ मेघवाल समाज की महिलाओं को भी बेरहमी से मारा-पीटा। इस दौरान हमलावरों ने न सिर्फ लाठी-डंडे ले रखे थे बल्कि उन्होंने पीड़ित लोगों पर पत्थरबाजी भी की। इस घटना में दलित समुदाय के लगभग 15 से 20 लोग घायल हो गए हैं। दूसरे पक्ष के भी लगभग 3 से 4 लोगों को चोटें आने की खबर है। भीम सेना के अलवर जिलाध्यक्ष नवल सिंह के मुताबिक सोहनलाल ने इसकी शिकायत पुलिस में की थी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

पीड़ित परिवार के सदस्यों ने भी पुलिस कार्रवाई पर असंतोष जताया है। उनका कहना है कि किसी भी आरोपित को गिरफ्तार नहीं किया गया है और केस में आरोपितों पर लगाई गईं धाराओं को भी कम किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया है कि आए दिन उनकी बहन बेटियों के साथ अत्याचार किया जा रहा है लेकिन कहीं भी सुनवाई नहीं हो रही है। पीड़ितों का इलाज अस्पताल में चल रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -