Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजपाकिस्तान जिंदाबाद के नारे… अब देना होगा 1 करोड़ रुपए का हर्जाना: मुहर्रम में...

पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे… अब देना होगा 1 करोड़ रुपए का हर्जाना: मुहर्रम में देशद्रोही घटना पर यूपी पुलिस-प्रशासन टाइट

13 आरोपितों पर कुल मिला कर 1 करोड़ रुपए का हर्जाना लगाया गया है। हर्जाने की यह राशि न्यूनतम 32 हजार से अधिकतम 19.80 लाख रुपए के बीच में है।

उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में इसी महीने 1 अगस्त को पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी का वीडियो वायरल हुआ था। यह नारेबाजी 29 जुलाई को निकले दशवीं मुहर्रम के जुलूस के दौरान हुई थी। तब पुलिस ने 33 आरोपितों पर FIR दर्ज करके जेल भेज दिया था। अब इन 33 आरोपितों में से 13 के खिलाफ जिला प्रशासन ने जमीन पर अवैध कब्ज़े की नोटिस जारी की है। शनिवार (12 अगस्त 2023) को जारी इस नोटिस में कब्ज़ा हटाने के लिए 15 दिनों का समय दिया गया है। इसी के साथ सबको मिला कर लगभग 1 करोड़ रुपए का हर्जाना भी लगाया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला मीरगंज थानाक्षेत्र के गाँव गोधना और किशुनदासपुर का है। यहाँ बुधवार (9 अगस्त) को राजस्व टीमें आरोपितों की जमीनों की पैमाइश के लिए पहुँचीं। सुरक्षा के लिए टीम के साथ पुलिस बल भी मौजूद था।

पैमाइश के दौरान पाया गया कि मुहर्रम के जुलूस में पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने वाले 13 आरोपितों ने ग्राम समाज की भूमि पर अवैध कब्ज़ा किया है। जमीन की पैमाइश के बाद शनिवार (12 अगस्त) को मछलीशहर के नायब तहसीलदार संतोष कुमार यादव ने सभी आरोपितों के घर वालों को नोटिस थमा दिया।

इस नोटिस में जमीन कब्ज़ाने के सभी 13 आरोपितों को 15 दिनों के अंदर अतिक्रमण खुद ही हटा लेने के आदेश दिए गए हैं। इसके साथ सबको मिला कर कुल 1 करोड़ रुपए का हर्जाना भी लगाया गया है। हर्जाने की यह राशि न्यूनतम 32 हजार से अधिकतम 19.80 लाख रुपए के बीच में है।

सभी आरोपितों को यह हर्जाना 15 दिनों के अंदर जमा करना होगा। तय समय सीमा में खुद से कब्ज़ा न हटाने और हर्जाने की राशि जमा न करने पर आगे की कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।

बताते चलें कि 1 अगस्त 2023 को पाकिस्तान समर्थक नारेबाजी का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने साहिल अली, ईदू, कैफ, मोहम्मद कैश, मोहम्मद शरीफ, सलीम, दिलशाद, सज्जाक के बेटे संजय, तालिम, नौशाद, मोहम्मद अली, वसीम, अफ़ज़ल, मोहम्मद कैफ, इबरार, आफ़ताब, इरशाद, मुश्ताक, दिलशाद अली, शेर अली, रफीक, इश्तियाक, एजाज, इबनैन, मजीद, सरफराज, कैफ, असलम, महताब, अब्दुल अजीज, मोहम्मद शमीम, इजाज अहमद और मोहम्मद फिरोज को गिरफ्तार किया था। आरोपितों में जौनपुर के साथ प्रयागराज के भी निवासी हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -