Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीति'विवाहित महिलाओं को सालाना ₹12000, रामलला के दर्शन, 5 शक्तिपीठों का विकास': 'मोदी की...

‘विवाहित महिलाओं को सालाना ₹12000, रामलला के दर्शन, 5 शक्तिपीठों का विकास’: ‘मोदी की गारंटी’ में छत्तीसगढ़ को 5 साल में विकसित राज्य बनाने का BJP का वादा

केंद्रीय मंत्री शाह ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर हमला बोलते हुए कहा, "मैं छत्तीसगढ़ की जनता से कहना चाहता हूँ कि मोदी जी छत्तीसगढ़ का विकास करना चाहते हैं, लेकिन भूपेश बघेल उसमें सबसे बड़े विघ्न हैं। बघेल जी को डर है कि अगर यहाँ विकास के इतने कार्य हो गए तो उनकी कुर्सी चली जाएगी। इन्होंने 300 से ज्यादा वादे किए थे, जो पूरे नहीं किए गए।"

छत्तीसगढ़ में जारी विधानसभा चुनावों को लिए भाजपा ने अपना घोषणा-पत्र जारी कर दिया है। ‘मोदी की गारंटी’ नाम से जारी इस घोषणा-पत्र में समाज के हर तबके का ध्यान रखा गया है। खासकर किसानों, जनजातीय समुदाय और महिलाओं का विशेष ख्याल रखा गया है। घोषणा पत्र को जारी करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि अगर भाजपा सत्ता में आती है तो पाँच साल में राज्य की तस्वीर बदल जाएगी।

घोषणा पत्र समिति के संयोजक विजय बघेल बोल का कहना है कि यह घोषणा-पत्र तीन महीने में तैयार हुआ है। इसे 3 अगस्त 2023 से 3 नवम्बर 2023 के बीच तैयार किया गया है। इस समिति में 35 सदस्य थे। घोषणा-पत्र बनाने से पहले समाज के सभी वर्गों से राय ली गई है, जिसके लिए 2 लाख से ज़्यादा सुझाव आए थे।

वहीं, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, “हमने लाखों लोगों से चर्चा करके एक घोषणा पत्र “मोदी की गारंटी” तैयार किया है। इसमें हमने तय किया है कि हम कृषि उन्नति योजना की शुरुआत करेंगे जिसके अंतर्गत 21 क्विंटल/एकड़ धान 3,100 रुपये के मूल्य पर हम खरीदेंगे। इसका एक मुश्त भुगतान किसानों को किया जाएगा।”

केंद्रीय मंत्री शाह ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर हमला बोलते हुए कहा, “मैं छत्तीसगढ़ की जनता से कहना चाहता हूँ कि मोदी जी छत्तीसगढ़ का विकास करना चाहते हैं, लेकिन भूपेश बघेल उसमें सबसे बड़े विघ्न हैं। बघेल जी को डर है कि अगर यहाँ विकास के इतने कार्य हो गए तो उनकी कुर्सी चली जाएगी। इन्होंने 300 से ज्यादा वादे किए थे, जो पूरे नहीं किए गए।”

केंद्रीय गृहमंत्री ने पाँच वर्षों में छत्तीसगढ़ को पूर्ण विकसित राज्य बनाने की बात कही। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ को नक्सलवाद से मुक्ति दिलाने का काम बीजेपी ने किया है। पोषण की गारंटी देने वाला पहला राज्य छत्तीसगढ़ बना। वहीं, मनरेगा में 150 दिन का रोजगार देने वाला राज्य छत्तीसगढ़ बना है। उन्होंने कहा कि छात्रों को निशुल्क लैपटॉप और टैब देने का काम किया है।

भाजपा की ‘मोदी की गारंटी’ बातें

  1. हर विवाहित महिला को प्रत्येक साल 12,000 रुपए की वित्तीय सहायता
  2. 18 लाख पीएम आवास योजना के तहत घर और निर्मल जल योजना
  3. तेंदूपत्ता 5,500 रुपए प्रति मानक बोरा में खरीदी
  4. अतिरिक्त संग्रह करने वाले 4,500 रुपए बोनस
  5. आयुष्मान भारत योजना इसके साथ 10 लाख रुपए तक का हेल्थ स्कीम
  6. सस्ते में दवाई उपलब्ध कराने के लिए 500 नए जन औषधि केंद्र खोलेंगे
  7. UPSC की तर्ज पर CGPSC की परीक्षा, पीएससी परीक्षा घोटाले की जाँच
  8. दिल्ली की एनसीआर की दर्ज पर एचसीआर बनाया जाएगा. रायपुर दुर्ग भिलाई को मिलाकर बनाए जाएगा
  9. गरीब परिवार की महिलाओं को 500 रुपए में गैस कनेक्शन
  10. कॉलेज स्टूडेंट को बस की सुविधा दी जाएगी
  11. एम्स के दर्ज हर संभाग सिम्स बनाया जाएगा
  12. छत्तीसगढ़ के 5 शक्तिपीठों को विकसित किया जाएगा
  13. अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है, छत्तीसगढ़ के गरीब लोगों को रामलला के दर्शन के लिए रामलला दर्शन योजना
  14. BPL परिवार में जन्म लेने वाली लड़कियों के नाम पर 1.5 लाख रुपए
Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -