Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिसच में लगा था 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा: जिस लैब ने जारी की FSL...

सच में लगा था ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा: जिस लैब ने जारी की FSL रिपोर्ट, कॉन्ग्रेसी मंत्री अब उस पर ही दे रहे एक्शन लेने की धमकी

कर्नाटक विधानसभा में कॉन्ग्रेस नेता नासिर हुसैन की जीत के बाद 'पाकिस्तान जिंदाबाद' जैसे नारे सुनाई पड़ने की बात बीजेपी ने उठाई थी लेकिन कॉन्ग्रेस नेताओं ने उन दावों को झूठा कहा था। अब इस मामले में जब FSL रिपोर्ट आ गई है तो भी कॉन्ग्रेस नेता मानने को तैयार नहीं। उन्होंने उस लैब पर एक्शन की बात कही है जिसने ये रिपोर्ट जारी की।

कर्नाटक में पिछले दिनों कॉन्ग्रेस प्रत्याशी नासिर हुसैन की जीत के बाद विधानसभा में हुई नारेबाजी पर फॉरेंसिक जाँच की रिपोर्ट आ गई है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि उस दिन ‘नासिर साहब जिंदाबाद नहीं, बल्कि पाकिस्तान जिंदाबाद’ कहा गया था। इससे पहले यही बात मीडिया में सूत्रों के हवाले से भी बताई जा चुकी है।

सामने आई रिपोर्ट में कहा गया कि जिस वीडियो पर विवाद हुआ वो एक सिंगल कैप्चर में बनाई गई थी (यानी उसमें कुछ और जोड़ा-घटाया नहीं गया)। उसमें कुछ भी छेड़छाड़ नहीं हुई है। वहाँ जिस शब्द ‘साब’ के लिए सवाल हो रहा था वो ‘साब’ नहीं, ‘तान’ था।

इस रिपोर्ट का एक पन्ना भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष विष्णु वर्धन रेड्डी ने अपने एक्स अकॉउंट पर शेयर किया। उन्होंने इस रिपोर्ट के साथ सिद्धारमैया सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि कैसे उन्होंने (कॉन्ग्रेस की सरकार) उनकी पूरी मशीनरी ने सच को झूठ साबित करने पर काम किया। लेकिन अब जब FSL रिपोर्ट आ गई है तो क्या वह राष्ट्र से माफी माँगेंगे।

इस रिपोर्ट में साफ तौर पर लिखा गया कि वीडियो में ‘नासिर साब जिंदाबाद’ नहीं कहा गया बल्कि ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ कहा गया है। इस रिपोर्ट के साथ पेनड्राइव में वो वीडियो भी दी गई है जिसकी जाँच पुलिस ने फॉरेंसिक लैब से कराई। इसमें फ्रेम बाय प्रेम विश्लेषण किया गया है।

बता दें कि इससे पहले प्रदेश के कॉन्ग्रेस नेता और ऑल्ट न्यूज वाला मोहम्मद जुबैर ये साबित करने में जुटे हुए थे कि ये पाकिस्तान जिंदाबाद नहीं, नासिर साहब जिंदाबाद है। कर्नाटक मंत्री प्रियांक खड़गे ने तो यहाँ तक कहा था कि उन्होंने इस मामले में जाँच करवा ली है और रिपोर्ट में कुछ निकल कर नहीं आया है। हालाँकि अब ये खबर आने के बाद ऐसा लग रहा है कि वो लोग जनता को सच से भ्रमित करने का प्रयास कर रहे थे।

गौरतलब है कि एक तरफ ये रिपोर्ट सोशल मीडिया पर वायरल होना शुरू हुई है और दूसरी ओर ये खबर आ रही है कि कर्नाटक के गृह मंत्री ने उस प्राइवेट लैब वाले पर एक्शन लेने के लिए उन्हें धमकाया है जिसने अपनी रिपोर्ट में कहा कि विधानसभा में पाकिस्तान जिंदाबाद ही कहा गया था।

विजय कर्नाटक की रिपोर्ट के अनुसार, राज्य के गृह मंत्री ने इस जाँच रिपोर्ट पर अपनी आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि क्या इस तरह रिपोर्ट बनाना वैध है। उन्होंने कहा कि वो इस मामले में जाँच करके एक्शन लेंगे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान जिंदाबाद के दावों पर FSL रिपोर्ट रिव्यू के लिए भेजी गई है। पूरी जानकारी आने पर एक्शन लिया जाएगा। अगर वाकई ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ कहा गया होगा तो किसी तरह का कोई कवर-अप नहीं करेंगे।

विजय कर्नाटक की रिपोर्ट का स्क्रीनशॉट

राज्य मंत्री द्वारा इस तरह जाँच रिपोर्ट पर सवाल उठाए जाने के बाद लोग सवाल ये कर रहे हैं कि क्या कर्नाटक सरकार इतनी निष्पक्ष है कि रिपोर्ट देने वाली लैब पर कार्रवाई कर सकती है पर झूठ फैलाने वाले जुबैर और अपने नेताओं पर नहीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -