Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीति'सबसे बड़ी आबादी हिंदुओं की, अपना हक ले लें क्या: PM मोदी ने जाति...

‘सबसे बड़ी आबादी हिंदुओं की, अपना हक ले लें क्या: PM मोदी ने जाति की राजनीति पर कॉन्ग्रेस को घेरा, याद दिलाया मनमोहन सिंह का ‘मुस्लिम प्रेम’

"कॉन्ग्रेस को अब पर्दे के पीछे से ऐसे लोग चला रहे हैं और ऐसे खेल कर रहे हैं जो देश विरोधी है। कॉन्ग्रेस किसी भी कीमत पर देश के हिन्दुओं को बाँट कर भारत को तबाह कर देना चाहती है। वो गरीबों को बाँटना चाहती है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (3 अक्टूबर, 2023) को छत्तीसगढ़ में न सिर्फ कई विकास परियोजनाओं की सौगात दी, बल्कि बिहार में जाति आधारित जनगणना के आँकड़े जारी किए जाने के बाद शुरू हुई राजनीति पर भी बोले। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस ने अब ‘जितनी आबादी, उतना हक़’ वाला राग अलापने शुरू कर दिए हैं। पीएम मोदी ने कहा कि उनके लिए सबसे ज़्यादा आबादी गरीबों की है और और गरीब कल्याण ही उनका मुख्य उद्देश्य है।

इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री रहते मनमोहन सिंह द्वारा दिए गए बयान का जिक्र भी किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मनमोहन सिंह कहते थे कि देश के संसाधनों पर पहला हक़ अल्पसंख्यकों का है, उसमें भी मुस्लिमों का है। पीएम मोदी ने याद दिलाया कि अब कॉन्ग्रेस कह रही है कि आबादी तय करेगी कि पहला हक़ किसका होगा। उन्होंने पूछा कि क्या कॉन्ग्रेस अल्पसंख्यकों का हक़ खत्म करना चाहती है क्या? पीएम मोदी ने कॉन्ग्रेस से ये स्पष्ट करने को कहा कि क्या वो अल्पसंख्यकों को हटाना चाहती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “सबसे बड़ी आबादी वाले हिन्दू अब आगे बढ़ कर अपने सारे हक़ ले लें क्या? मैं पिछले काफी समय से कह रहा हूँ कि कॉन्ग्रेस पार्टी के बड़े-बड़े नेता मुँह में ताला लगा कर बैठे हैं। न उनसे पूछा जाता है और न ही उनकी बोलने की हिम्मत है। कॉन्ग्रेस को अब पर्दे के पीछे से ऐसे लोग चला रहे हैं और ऐसे खेल कर रहे हैं जो देश विरोधी है। कॉन्ग्रेस किसी भी कीमत पर देश के हिन्दुओं को बाँट कर भारत को तबाह कर देना चाहती है। वो गरीबों को बाँटना चाहती है।”

बता दें कि बिहार में जातिगत जनगणना में पिछड़ों की जनसंख्या 63% और अनारक्षित वर्ग की जनसंख्या 15% बताई गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नगरनार में भारत के सबसे आधुनिक स्टील प्लांट में से एक का भी लोकार्पण किया। उन्होंने बताया कि इस स्टील प्लांट के कारण बस्तर सहित आस-पास के इलाकों के करीब 50 हजार नौजवानों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने जानकारी दी कि 27,000 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात छत्तीसगढ़ को मिली है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -