Wednesday, July 24, 2024
Homeराजनीतिराहुल गाँधी ने पहले बिस्किट कुत्ते के मुँह में लगाया, फिर काॅन्ग्रेस कार्यकर्ता को...

राहुल गाँधी ने पहले बिस्किट कुत्ते के मुँह में लगाया, फिर काॅन्ग्रेस कार्यकर्ता को खिलाया: असम के CM बोले इसी कारण छोड़ी थी पार्टी

कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी की एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें उन्होंने अपने कुत्ते का बिस्कुट कार्यकर्ता को खिलाकर उसका अपमान किया और ऐसा दर्शाया जैसे ये तो बहुत सामान्य चीज है।

कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी की एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसमें वह अपनी रैली के दौरान एक कुत्ते को बिस्किट खिलाते दिख रहे हैं। वहीं, जब कुत्ता वो बिस्किट खाने से मना कर देता है तो वो उसी कुत्ते का मुँह लगा बिस्किट अपने कार्यकर्ता को थमा देते हैं, फिर उससे प्यार से बात करने लगते हैं।

राहुल गाँधी की यह वीडियो कैमरे में कैद होने के बाद अब सोशल मीडिया पर बड़े-बड़े नेता इस पर अपनी टिप्पणी कर रहे हैं। भाजपा नेता अमित मालवीय ने इस वीडियो को शेयर कर कहा, “अभी कुछ दिन पहले कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने पार्टी के बूथ एजेंटों की तुलना कुत्तों से की और यहाँ राहुल गाँधी अपनी यात्रा में एक कुत्ते को बिस्किट खिला रहे हैं और जब कुत्ते ने नहीं खाया तो वही बिस्किट उन्होंने अपने कार्यकर्ता को दे दिया।”

भाजपा नेता ने कहा, “जिस पार्टी का अध्यक्ष और युवराज अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ कुत्ते की तरह बर्ताव करे तो ऐसी पार्टी का लुप्त हो जाना स्वाभाविक है।”

इसी तरह पल्लवी सीटी ने लिखा, “कितना शर्मनाक है। पहले राहुल गाँधी ने हिमंता बिस्वा सरमा को अपने कुत्ते की प्लेट से बिस्किट खिलाने की कोशिश की। फिर कॉन्ग्रेस अध्यक्ष खड़गे ने पार्टी कार्यकर्ताओं की तुलना कुत्ते से की और अब शहजादे वही बिस्किट पार्टी कार्यकर्ता को दे रहे हैं। ये सम्मान करते हैं ये लोग अपने पार्टी कार्यकर्ताओं, समर्थकों और मतदाताओं का?”

पल्लवी के इस ट्वीट पर हिमंत बिस्वा सरमा ने भी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “सिर्फ राहुल गाँधी ही नहीं बल्कि उनका पूरा परिवार मुझे वो बिस्किट नहीं खिला पाया था। मैं एक गौरवान्वित असमिया और भारतीय हूँ। मैंने उसे खाने से मना कर दिया था और कॉन्ग्रेस से इस्तीफा दे दिया था।”

हिमंता बिस्वा सरमा वाला मामला

बता दें कि इंटरव्यू में एक बार हिमंता बिस्वा सरमा ने अपने साथ हुई घटना बताई थी। उन्होंने कहा था कि वो एक जरूरी बैठक के लिए राहुल गाँधी से मिलने गए थे लेकिन राहुल गाँधी वहाँ सिर्फ अपने कुत्ते पिद्दी के साथ खेलने में व्यस्त थे। वो जैसे ही किसी मुद्दे पर बात कहते तो राहुल जवाब देते- तो क्या हुआ।

हिमंता ने कहा था कि उन्हें ऐसा बर्ताव देख हैरानी भी थी। उसी दौरान चाय बिस्किट आया। तभी, उनका कुत्ता गया और उसी प्लेट से बिस्किट उठाकर खाने लगा। उन्हें लगा कि अब शायद राहुल गाँधी अपने प्लेट बदलेंगे। हालाँकि ऐसा हुआ नहीं। बाकी नेता उसी प्लेट से उठाकर खाने लगे और हिमंता बिस्वा सरमा ने उसी क्षण निर्णय लिया कि वो कॉन्ग्रेस को छोड़ देंगे।

खड़गे ने क्या कहा

इसी तरह मल्लिकार्जुन खड़गे ने हाल में बूथ एजेंटों की तुलना कुत्तों से कर दी थी। उन्होंने कहा था, “हमारे यहाँ एक कहावत है, जब आप बाजार में जाते हो और आपको कुत्ता या कोई जानवर लेना होता है तो आप उसके बारे में पूछताछ करते हो, अगर ईमानदार जानवर को भी लेना हो तो उसका कान पकड़कर ऊपर उठाते हैं, उसे ऊपर उठाने के बाद अगर वो भौंकता है तो ठीक है। अगर थोड़ी सी आवाज करता तो वह ठीक नहीं होता और उसे कोई लेता नहीं है।”

उन्होंने आगे कहा था, “इसीलिए आप भी सेलेक्शन करते वक्त जो भौंकता है, जो लड़ता है और जो आपके साथ रहता है तो उसे ले लो। उसे ही बूथ लेवल कमेटी का अध्यक्ष बनाओ। बूथ में ऐसे व्यक्ति को बैठाओ जो सुबह 7 बजे जाए तो जब वहाँ पर पेटी बंद होती है, उसी वक्त उसे साइन करके बाहर आना चाहिए। नहीं तो जाना-आना ठीक नहीं है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -