Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजबकरीद पर कलेजी लेकर मामा के घर चली गई बच्ची, नाराज सलीम ने हत्या...

बकरीद पर कलेजी लेकर मामा के घर चली गई बच्ची, नाराज सलीम ने हत्या कर नाले में फेंका

बच्ची के पूरे दिन नहीं मिलने पर उसके मामा ने मामला दर्ज करवाया। तलाश शुरू हुई और पुलिस ने 100 लोगों से पूछताछ की जिसके बाद बच्ची के चाचा को गिरफ्तार कर लिया गया।

बकरीद के मौके पर उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक चाचा ने गुस्से में अपनी मासूम भतीजी को मारकर नाले में फेंक दिया। घटना का खुलासा उस समय हुआ जब बच्ची का शव एक नाले से बरामद हुआ। पुलिस ने शव मिलने के बाद बच्ची के चाचा को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने बताया कि बकरीद के दिन गाजियाबाद के खोड़ा के भरत नगर इलाके में सामूहिक कुर्बानी दी गई थी। जिसके बाद बच्ची के चाचा सलीम मे उसे एक तसले में कलेजी (मांस के टुकड़े) दी और घर पहुँचाने को कहा। लेकिन बच्ची चाचा के घर के बजाय मामा के घर चली गई। गुस्से में सलीम ने बच्ची की हत्या कर दी।

नवभारत टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक पूछताछ में सलीम ने बताया कि बकरीद के दिन सामूहिक कुर्बानी के बाद उसने अपनी भतीजी को कलेजी घर पहुँचाने के लिए कहा था लेकिन वह मामा के घर चली गई। थोड़ी देर बाद उसकी पत्नी का फोन आया और उसने बताया कि कलेजी अभी तक घर नहीं आई है। जब उसने अपनी भतीजी को खोजा तो पता चला कि बच्ची कलेजी लेकर मामा के घर चली गई थी।

नवभारत टाइम्स में प्रकाशित खबर

सलीम के मुताबिक बच्ची की इस गलती पर उसके परिवार वालों ने उसे बहुत सुनाया, जिस कारण उसे गुस्सा आ गया। वह भतीजी लाइवा को ढूँढने निकला जो उसे छत पर दूसरे बच्चों के साथ खेलती नजर आई। छत पर पहुँचकर उसने अन्य बच्चों को डाँटकर वहाँ से भगा दिया। फिर उसने अकेले में लाइवा को थप्पड़ मारा, जिससे उसका सिर सीढ़ियो से टकरा गया।

थोड़ी देर बाद सलीम ने महसूस किया कि बच्ची की साँस नहीं चल रही। घबराकर उसने लाइवा का शव बोरे में भरकर उसके पिता मकसूर के कमरे में छुपा दिया। जब रात हुई तो कुर्बानी के अवशेषों को फेंकने का बहाना बनाकर वह बोरा समेत शव को नाले में फेंक आया।

खबरों की मानें तो एसपी सिटी के मुताबिक बच्ची के पूरे दिन नहीं मिलने पर उसके मामा ने मामला दर्ज करवाया। तलाश शुरू हुई और शव मिलने के 12 घंटों में पुलिस ने 100 लोगों से पूछताछ की जिसके बाद बच्ची के चाचा को गिरफ्तार कर लिया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -