Wednesday, July 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइजरायल से आया PM मोदी को कॉल, नेतन्याहू से कहा- इस मुश्किल घड़ी में...

इजरायल से आया PM मोदी को कॉल, नेतन्याहू से कहा- इस मुश्किल घड़ी में भारत आपके साथ खड़ा है: हमास के 1500 आतंकवादियों के शव मिले

"मैं प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को उनके फोन कॉल और चल रही स्थिति पर अपडेट प्रदान करने के लिए धन्यवाद देता हूँ। भारत के लोग इस मुश्किल घड़ी में इजरायल के साथ मजबूती से खड़े हैं। भारत आतंकवाद के सभी रूपों की कड़ी और स्पष्ट रूप से निंदा करता है।"

इस्लामी आतंकी संगठन हमास पर जवाबी कार्रवाई करते हुए इजरायल ने गाजा पट्टी को पूरी तरह सील कर दिया है। इजरायली क्षेत्र में आतंकियों के करीब 1500 शव मिले हैं। युद्ध के बीच इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी से बात की है।

पीएम मोदी ने 10 अक्टूबर 2023 को एक्स/ट्विटर पर पोस्ट कर नेतन्याहू का कॉल आने की जानकारी दी है। उन्होंने लिखा है, “मैं प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को उनके फोन कॉल और चल रही स्थिति पर अपडेट प्रदान करने के लिए धन्यवाद देता हूँ। भारत के लोग इस मुश्किल घड़ी में इजरायल के साथ मजबूती से खड़े हैं। भारत आतंकवाद के सभी रूपों की कड़ी और स्पष्ट रूप से निंदा करता है।”

इजरायल के प्रति भारत का समर्थन पीएम मोदी ने ऐसे समय में दोहराया है, जब कॉन्ग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी)  की बैठक में फिलिस्तीन के समर्थन में प्रस्ताव पास किया गया था।

वहीं इजरायल की सेना ने बताया है कि उसे अपने इलाके में ऑपरेशन के बाद इस्लामी आतंकी संगठन हमास के 1500 आतंकियों की लाशें मिली है। अब उन सभी इलाकों पर इजरायल के सेना का नियंत्रण हैं जहां आतंकियों ने घुसकर हमले किए थे। इन इलाकों में आतंकी नए सिरे से घुसपैठ करने में नाकाम रहे हैं।

हमास के आंतकियों ने शनिवार (7 अक्टूबर 2023) को दक्षिणी इजरायल में अचानक से हमला बोल दिया था। बड़ी संख्या में आतंकी इजरायल के भीतर घुस आए थे और उन्होंने सैनिकों और नागरिकों को मारना चालू कर दिया था। हमास के हमलों में अब तक लगभग 900 इजरायली नागरिकों की मौत हो चुकी है। लगभग 3000 लोग घायल भी हैं।

इजरायल के सुरक्षाबलों ने यह भी बताया है कि उसके 123 सैनिक अब तक आतंकियों से लड़ते हुए बलिदान हुए हैं। इसके अतिरिक्त दो सैनिकों की मृत्यु इजरायल और लेबनान की सीमा पर हुई है। ये सैनिक लेबनान की तरफ से इजरायल में घुसने का प्रयास कर रहे आतंकियों को रोक रहे थे।

दूसरी तरफ गाजा से बैठे हमास के आतंकियों ने इजरायल पर अब तक 4500 से अधिक रॉकेट दागे हैं।

इजरायल ने 3 लाख से भी अधिक रिजर्व सुरक्षाबलों को ड्यूटी पर तुरंत वापस बुलाया है। इसके अतिरिक्त, बड़ी संख्या में विदेशों में रह रहे इजरायली नागरिक भी वापस अपने देश लौट रहे हैं।

इजरायल द्वारा गाजा पट्टी में 1352 स्थानों पर बमबारी की गई है। एक जानकारी के अनुसार बमबारी में अब तक लगभग 700 आतंकी मारे गए हैं। इजरायल ने गाजा के लिए बिजली, पानी और गैस की आपूर्ति भी बंद कर दी है। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि हम युद्ध नहीं लड़ना चाहते थे, लेकिन हम पर जबरदस्ती युद्ध लादा गया और अब हम इसे खत्म जरूर करेंगे।

इजरायल ने अपने नागरिकों को कहा है कि वह 72 घंटे के लिए बंकरों में रहने को तैयार रहें। इस ऐलान के बाद इजरायली नागरिकों ने खाने-पीने के सामान का भंडारण शुरू कर दिया है। यह भी कहा जा रहा है कि इजरायल जल्द ही गाजा में अपनी थल सेना भेज कर ऑपरेशन शुरू कर सकता है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन से कहा है कि हमें ‘अन्दर जाना’ होगा’।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -