Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइंग्लैंड के सांसद डेविड एमेस की बार-बार चाकू घोंप कर हत्या, इस्लामी आतंकी ने...

इंग्लैंड के सांसद डेविड एमेस की बार-बार चाकू घोंप कर हत्या, इस्लामी आतंकी ने चर्च में घुस कर किया हमला

सांसद डेविड एमेस की हत्या एक चर्च में कई बार चाकू घोंप कर की गई। पुलिस ने इस घटना को आंतकी कृत्य बताया है। गिरफ्तार किया गया 25 वर्षीय हमलावर इस्लामी चरमपंथ से संबंधित है।

इंग्लैंड में सांसद डेविड एमेस (David Amess) की चाकू घोंप कर निर्दयता से हत्या कर दी गई है। 69 वर्षीय डेविड एमेस कंजर्वेटिव पार्टी के साउथएंड वेस्ट से 1997 से लगातार सांसद रहे हैं। मृत सांसद इंग्लैंड के वर्तमान प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के करीबियों में गिने जाते थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह घटना शुक्रवार देर रात (15 अक्टूबर 2021) की बताई जा रही है। डेविड एमेस की हत्या लेह-ऑन-सी के एक चर्च में कई बार चाकू घोंप कर की गई। स्थानीय पुलिस ने इस घटना को आंतकी कृत्य बताया है। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार किया गया 25 वर्षीय हमलावर इस्लामी चरमपंथ से संबंधित है।

इस घटना की जांच काउंटर टेररिज़्म कमांड कर रहा है। हमलावर ब्रिटेन का ही नागरिक बताया जा रहा है। जाँच एजेंसियां लंदन में 2 अलग-अलग ठिकानों की तलाशी ले रही हैं।

इस घटना पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने दुःख जताया है। बोरिस जॉनसन ने ट्वीट कर के लिखा है – “सर डेविड एमेस के निधन से हम सभी दुःखी और सदमे में हैं। वो राजनीति में सबसे दयालु और सबसे सज्जन लोगों में से एक थे।”

इसी घटना पर लेबर पार्टी के नेता कीर स्टॉर्मर ने भी दुःख जताया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है – “यह भयानक और बेहद चौंकाने वाली खबर है। मैं सर डेविड, उनके परिवार और उनके कर्मचारियों के बारे में सोच रहा हूँ।”

इसी घटना पर इंग्लैंड के पूर्व प्रधानमंत्री और कंजर्वेटिव नेता डेविड कैमरून ने भी दुःख जताया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है – “ले-ऑन-सी से बहुत ही चिंताजनक और भयभीत करने वाला समाचार आ रहा है। मेरी संवेदना सर डेविड एमेस और उनके परिवार के साथ है।”

ब्रिटेन के सांसदों को पुलिस सुरक्षा प्रदान करती है। लेकिन डेविड एमेस को ऐसी कोई सुरक्षा प्राप्त नहीं थी। वो अपनी बैठकों के साथ आने वाले सम्मेलनों की भी जानकारी अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित किया करते थे। इस जानकारी में उनके कार्यक्रमों के दिन और समय आदि का पूरा विवरण होता था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

खालिस्तानी अमृतपाल के लिए संसद में पूर्व CM चन्नी की बैटिंग, सिख किसान नेताओं के साथ राहुल गाँधी की बैठक: क्या पका रही है...

बकौल चरणजीत सिंह चन्नी, अमृतपाल पर NSA लगाना 'अभिव्यक्ति की आज़ादी' के खिलाफ है। वो खालिस्तानी अमृतपाल सिंह की गिरफ़्तारी को आपातकाल बता रहे हैं।

अखलाक की मौत हर मीडिया के लिए बड़ी खबर… लेकिन मुहर्रम पर बवाल, फिर मस्जिद के भीतर तेजराम की हत्या पर चुप्पी: जानें कैसे...

बरेली में एक गाँव गौसगंज में तेजराम नाम के एक युवक की मुस्लिम भीड़ ने मॉब लिंचिंग कर दी। इलाज के दौरान तेजराम की मौत हो गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -