Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयगाजा पर गिराए 1000 बम, 160 विमानों ने 150 टारगेट पर दागे 450 मिसाइल:...

गाजा पर गिराए 1000 बम, 160 विमानों ने 150 टारगेट पर दागे 450 मिसाइल: बोले नेतन्याहू- हमास को बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

आईडीएफ ने ट्विटर पर हमास के कुछ आतंकियों की तस्वीरें भी जारी की है। इजरायल पर रॉकेट हमलों के लिए इन्हें जिम्मेदार बताते हुए उन्हें मार गिराने का दावा किया है।

फलस्तीन के साथ चल रहे हवाई संघर्ष के बीच इजरायल अब जमीनी लड़ाई की भी तैयारी कर रहा है। सीमा पर हथियारबंद टुकड़ियों के साथ 9000 रिजर्व सैनिकों को तैनात किया गया है। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि हमास को इस बार बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। फलस्तीनी आतंकी संगठन हमास का युद्धविराम प्रस्ताव इजरायल पहले ही ठुकरा चुका है।

इससे पहले गुरुवार (14 मई 2021) की रात इजरायल ने रात भर गाजा पर हमले किए। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक रात भर में 1000 से ज्यादा बम गिराए गए। इजरायल के निशाने पर मुख्य रूप से हमास का टनल था। करीब 160 विमानों को इस ऑपरेशन में लगाया गया था। इजरायल डिफेंस फोर्स के हवाले से द टाइम्स ऑफ इजरायल ने बताया है कि 40 मिनट के इस हवाई ऑपरेशन के दौरान उत्तरी गाजा में करीब 150 टारगेट पर 450 मिसाइल गिराए गए। इस दौरान हमास के भूमिगत इंफ्रास्ट्रक्चर को हुए नुकसान का अभी भी आकलन किया जा रहा है।

एक अनाम इजरायली सुरक्षा अधिकारी के हवाले से चैनल 12 ने कहा है कि इस दौरान हमास के सैकड़ों आतंकी मारे गए हैं। अधिकारी ने बताया कि हमास की ओर से दागे गए ज्यादातर रॉकेट हमने हवा में ही नष्ट कर दिए हैं। उसके रणनैतिक केंद्र टनल को तबाह कर दिया। आईडीएफ ने ट्विटर पर हमास के कुछ आतंकियों की तस्वीरें भी जारी की है। इजरायल पर रॉकेट हमलों के लिए इन्हें जिम्मेदार बताते हुए उन्हें मार गिराने का दावा किया है। कहा है कि अब ये कभी भी आतंकी हमले की साजिश नहीं रच पाएँगे।

हमास के स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाजा में अब तक 119 मौत की पुष्टि की है। इनमें से 27 नाबालिग हैं। संघर्ष शुरू होने के बाद से गाजा में 600 लोगों के जख्मी होने की बात भी कही गई है। आईडीएफ के अनुसार सोमवार से अब तक गाजा से आतंकी 2000 से ज्यादा रॉकेट इजरायल पर दाग चुके हैं। अब तक 7 इजरायली नागरिकों की मौत की भी पुष्टि हो चुकी है।

इजरायल में भारत की सौम्या संतोष की भी मौत हो चुकी है। मूल रूप से केरल के इडुकी की रहने वाली 31 साल की सौम्या संतोष की मौत इजरायल के अश्कलोन शहर में हमास के रॉकेट हमले की चपेट में आने से हुई थी। जब हमला हुआ उस वक्त वह केरल में रह रहे अपने पति संतोष से वीडियो कॉल पर बात कर रही थी। इजरायल ने मुआवजा के साथ-साथ उसके परिवार की देखभाल करने की भी बात कही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वकील चलाता था वेश्यालय, पुलिस ने की कार्रवाई तो पहुँचा हाई कोर्ट: जज ने कहा- इसके कागज चेक करो, लगाया ₹10000 का जुर्माना

मद्रास हाई कोर्ट में एक वकील ने अपने वेश्यालय पर कार्रवाई के खिलाफ याचिका दायर की। कोर्ट ने याचिका खारिज करके ₹10,000 का जुर्माना लगा दिया।

माजिद फ्रीमैन पर आतंक का आरोप: ‘कश्मीर टाइप हिंदू कुत्तों का सफाया’ वाले पोस्ट और लेस्टर में भड़की हिंसा, इस्लामी आतंकी संगठन हमास का...

ब्रिटेन के लेस्टर में हिन्दुओं के विरुद्ध हिंसा भड़काने वाले माजिद फ्रीमैन पर सुरक्षा एजेंसियों ने आतंक को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -