Tuesday, July 27, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइमरान खान को नहीं है प्रोटोकॉल और नियम की तमीज़, सऊदी ने रद की...

इमरान खान को नहीं है प्रोटोकॉल और नियम की तमीज़, सऊदी ने रद की कैबिनेट मीटिंग

पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत ने पाकिस्तानी सेना की कथित 'पीएम सेलेक्शन कमेटी' को सलाह दी कि आगे से वे जिसे भी पीएम चुनें, उसे कम-से-कम प्रोटोकॉल के नियम सिखा दें।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की एक ‘बेहूदा’ हरकत की वजह से उनके देश को अंतरराष्ट्रीय शर्मिंदगी और कूटनीतिक झटके का सामना करना पड़ रहा है। सऊदी के राजा किंग सलमान से अपनी बात अधूरी छोड़ इमरान आगे चल दिए। बताया जा रहा है कि इसके बाद किंग सलमान और उनकी कैबिनेट के साथ इमरान की बैठक रद्द कर दी गई।

अपनी बात कहकर चल पड़े इमरान, देखते रह गए अनुवादक और किंग सलमान

सोशल मीडिया पर चल रहे वीडियो के अनुसार इमरान खान सऊदी के दरबार में पहुँचे और किंग सलमान से उन्होंने कुछ बोला। अभी किंग सलमान का जवाब देना तो दूर, उनके शाही अनुवादक ने इमरान की बात का अनुवाद भी नहीं किया था कि पाकिस्तानी पीएम ने सर हिलाकर उन दोनों को इशारा किया और चल पड़े। किंग सलमान और उनके अनुवादक देखते रह गए।

इस पर पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत ने पाकिस्तानी सेना की कथित ‘पीएम सेलेक्शन कमेटी’ को सलाह दी कि आगे से वे जिसे भी पीएम चुनें, उसे कम-से-कम प्रोटोकॉल के नियम सिखा दें। यह आम धारणा है पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के बारे में कि उनका जनता ने निर्वाचन नहीं बल्कि सेना ने ‘चुनाव’ किया था, पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को सत्ता से दूर रखने के लिए।

सोशल मीडिया पर पाकिस्तानी ही ले रहे मजे

इमरान खान की इस हरकत पर पाकिस्तानी ही उनके सबसे ज्यादा मजे ले रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe