Saturday, July 13, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा...तो PM मोदी की हत्या की प्लानिंग थी: पंजाब के फ्लाईओवर पर जो हुआ...

…तो PM मोदी की हत्या की प्लानिंग थी: पंजाब के फ्लाईओवर पर जो हुआ खालिस्तानियों ने 1 साल पहले ही तैयार कर लिया था उसका वीडियो प्लान

एनिमेटेड वीडियो में दिखाया गया है फ्लाईओवर पर पीएम मोदी के काफिले को रोक लिया जाता है। लाठी-डंडों से लैस प्रदर्शनकारी उन्हें घेर लेते हैं...

पंजाब में 5 जनवरी 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक ने कई सवाल खड़े किए हैं। अब सोशल मीडिया में एक एनिमेटेड वीडियो वायरल हो रहा है। इसे संयोग कहा जाए या साजिश, जो कुछ पंजाब में हुआ वैसा ही कुछ इस वीडियो में दिख रहा है। खालिस्तानियों द्वारा बनाया गया यह एनिमेटेड वीडियो करीब साल भर पुराना है। इसमें किसानों को फ्लाईओवर पर प्रधानमंत्री को घेरते और नीचे फेंकते दिखाया गया है। यह भी उल्लेखनीय है कि पंजाब की घटना के बाद आतंकवादी संगठन सिख फॉर जस्टिस (SFJ) ने इसे ‘खालिस्तान आजादी’ की शुरुआत करार दिया है।

यह वीडियो 1 दिसंबर 2020 को खालिस्तानी संगठन की तरफ से यूट्यूब चैनल पर DHAKKA GAMING पर अपलोड किया गया है। इस वीडियो में फ्लाईओवर पर एक तरफ से पीएम मोदी को सुरक्षाकर्मी के साथ गाड़ी में आते हुए दिखाया गया है और दूसरी तरफ से किसानों के काफिले को। ये किसान ट्रैक्टर पर सवार होकर आते हैं और पीएम मोदी का रास्ता रोक लेते हैं। 

काफिला रोका, लाठी-डंडों से लैस होकर घेरा

एनिमेटेड वीडियो में दिखाया गया है कि पीएम मोदी गाड़ी से उतर जाते हैं। सभी प्रदर्शनकारी जमा होकर उनकी तरफ दौड़ते हैं, जिनसे डरकर वह भागने लगते हैं, तभी ट्रैक्टर पर सवार एक प्रदर्शनकारी उनका रास्ता रोक लेता है। फिर प्रधानमंत्री दूसरी तरफ दौड़ते हैं, लेकिन यहाँ भी एक ट्रैक्टर उनका रास्ता रोक देती है। वह वहाँ से भागना शुरू करते हैं, लेकिन पाते हैं कि प्रदर्शनकारियों ने उन्हें घेर लिया है। वह लोग लाठी-डंडों से लैस होते हैं।

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने इस वीडियो को ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा है, “YouTube पर एक साल पहले ये एनिमेटेड वीडियो खालिस्तानियों द्वारा डाला गया। इसमें मोदी जी को फ्लाईओवर के ऊपर नकली किसानों द्वारा रोक कर, घेर कर मारने की कोशिश की जाती है। जैसा इस वीडियो में है। हूबहू वैसे ही पंजाब में करने की कोशिश की गई। यह बेहद चिंताजनक है।”

बैरिकेड तोड़े, पैर में रस्सी बाँध फ्लाईओवर के नीचे लटकाया

इसी यूट्यूब चैनल पर 6 दिसंबर 2020 को एक और वीडियो अपलोड किया गया। इसमें ‘किसान’ प्रदर्शनकारियों को ट्रैक्टर लेकर हुड़दंग मचाते हुए देखा जा सकता है। वह ट्रैक्टर लेकर बैरिकेड को रौंदते नजर आते हैं। इन ट्रैक्टर पर ‘किसान एकता जिंदाबाद’ लिखा होता है। जब किसान बैरिकेड तोड़ देते हैं तो पीएम मोदी को डर कर भागते हुए दिखाया गया है। वह आगे-आगे भाग रहे होते हैं और प्रदर्शनकारी उनके पीछे। इसी दौरान एक ट्रैक्टर उनका रास्ता रोक लेती है और फिर प्रदर्शनकारी उनके पैर में रस्सी बाँध उन्हें फ्लाईओवर के नीचे लटका देते हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई बड़ी चूक की घटना के बाद सिख फॉर जस्टिस’ के संस्थापक गुरपतवंत सिंह पन्नू ने भारत सरकार को परोक्ष रूप से धमकी देते हुए कहा था, “पंजाब ने आजादी की ओर पहला कदम बढ़ाया है। पंजाब की जनता ने आज फैसला कर लिया है। मोदी और उनकी सरकार को ध्यान देना चाहिएकि जब इंदिरा हथियारों के साथ पहुँची थी, तो उन्होंने एहसान वापस कर दिया था (पूर्व पीएम इंदिरा गाँधी की हत्या की तरफ था इशारा)।”

वहीं 3 जनवरी 2022 को अपलोड एक वीडियो में खालिस्तानी संगठन ने पंजाब में पीएम मोदी का विरोध करने के लिए ‘किसानों’ को भड़काया था और इनाम की भी घोषणा की थी। उसने वीडियो में कहा था, “पीएम मोदी 5 जनवरी को पंजाब में आ रहा है। ये 3700 किसान भाइयों की मौतों का जिम्मेदार है। अभी उनकी लाश ठंड भी नहीं हुई और ये तुम्हारे बीच 5 जनवरी को आकर वोट माँगने वाला है। इसका विरोध करना पड़ेगा। इसे जूती दिखाओ और 1 लाख डॉलर (74,41,015 रुपए) पाओ। ये रकम सिख फॉर जस्टिस देगी।”

बता दें कि बुधवार को, पीएम मोदी 42,750 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का उद्घाटन करने और फिरोजपुर में एक रैली को संबोधित करने गए थे। लेकिन सुरक्षा चूक के कारण उन्हें वापस दिल्ली लौटना पड़ा। गृह मंत्रालय के अनुसार, पीएम मोदी खराब मौसम के कारण हेलिकॉप्टर के बजाय सड़क मार्ग से राष्ट्रीय शहीद स्मारक का दौरा करने वाले थे। हुसैनीवाला से लगभग 30 किमी दूर, कुछ प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री के काफिले को ब्लॉक कर दिया, जिसके कारण पीएम मोदी 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फँसे रहे। इसके बाद वापस लौट आए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अमेरिका की उप-राष्ट्रपति ने राहुल गाँधी से फोन पर की बात, दुनिया मानती है अगला PM’: कॉन्ग्रेस इकोसिस्टम के साथ-साथ मीडिया ने चलाई खबर,...

खुद को लेखक बताने वाले हर्ष तिवारी ने दावा किया कि लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष बनने के बाद राहुल गाँधी का कद काफी बढ़ गया है, दुनिया उन्हें अगले प्रधानमंत्री के रूप में देख रही है।

जिसे ‘चाणक्य’ बताया, उसके समर्थन के बावजूद हारा मौजूदा MLC: महाराष्ट्र में ऐसे बिखरा MVA गठबंधन, कॉन्ग्रेस विधायकों ने अपनी ही पार्टी को दिया...

जिस जयंत पाटील के पक्ष में महाराष्ट्र की राजनीति के कथित चाणक्य और गठबंधन के अगुवा शरद पवार खुद खड़े थे, उन्हें ही हार का सामना करना पड़ा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -