Friday, July 12, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'कश्मीर की स्वतंत्रता के लिए खड़ा है Pizza-Hut': मुर्गी बेचने वाले KFC के बाद...

‘कश्मीर की स्वतंत्रता के लिए खड़ा है Pizza-Hut’: मुर्गी बेचने वाले KFC के बाद पिज्जा हट का बहिष्कार शुरू, Hyundai, Kia भी झेल रहे बायकॉट

यह पहली बार नहीं पिछले साल भी KFC ने ऐसे ही भारत विरोधी एजेंडा चलाया था। तब रिलीज पोस्टर पर लिखा है, "कश्मीर सॉलिडेरिटी डे पर हम आपके साथ खड़े हैं, आपको यह एहसास दिलाने के लिए स्वतंत्रता आपका अधिकार है।"

पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय ऑउटलेट राजनीतिक प्रोपेगेंडा के टूल बने हुए हैं। इसी कड़ी में अब एक और नाम आया है पिज्जा हट का, जिसने ‘Hyundai’, ‘Kia’, KFC के बाद भारत विरोधी पाकिस्तानी नैरेटिव को आगे बढ़ाया है। अभी हुंडई, ‘Kia’, KFC मामला शांत भी नहीं हुआ था कि पिज्जा हट के ‘कश्मीर की आजादी के समर्थन’ का पोस्ट सामने आने बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। लोग सोशल मीडिया पर इस अंतरराष्ट्रीय ऑउटलेट पर भड़के हुए हैं जो पाकिस्तान में भारत विरोधी एजेंडा चला रहा है।

पिज्जा हट पाकिस्तान ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर पोस्ट किया, “कश्मीर सॉलिडेरिटी डे पर हम सभी कश्मीरी भाई-बहनों की स्वतंत्रता के लिए साथ खड़े हैं।”

ऐसे में लोग भी इन कंपनियों के मुखर विरोध में उतर आए हैं। एक ट्वीटर यूजर गुज्जु गिरी ने ट्वीट कर कहा, “कंपनियों से व्यापार करने की अपेक्षा की जाती है, राजनीति में नहीं उलझने की। लेकिन अगर वे ऐसा करते हैं, तो अब समय आ गया है कि नागरिक भी उन्हें उनका स्थान दिखाएँ।”

वहीं आज KFC का भी भारत विरोधी पोस्ट सामने आया। अपने पाकिस्तानी फेसबुक पेज से 5 फरवरी कश्मीर डे पर एक तस्वीर शेयर किया जिसपर लिखा था, “कश्मीर कश्मीरियों का है!”

साथ ही पाकिस्तान से KFC ने कश्मीरियों को सम्बोधित करते हुए लिखा, “आपने हमारे इस विचार को कभी नहीं छोड़ा और हम आशा करते हैं कि आने वाले वर्ष आपके लिए शांति लाए!”

हालाँकि यह पहली बार नहीं पिछले साल भी KFC ने ऐसे ही भारत विरोधी एजेंडा चलाया था। तब रिलीज पोस्टर पर लिखा है, “कश्मीर सॉलिडेरिटी डे पर हम आपके साथ खड़े हैं, आपको यह एहसास दिलाने के लिए स्वतंत्रता आपका अधिकार है।”

KFC पाकिस्तान की इन हरकतों पर उसे ट्विटर सही सोशल मीडिया पर लताड़ा जा रहा है। लोग भारत विरोधी एजेंडा चलाने वाले इन कंपनियों का भारत में बहिष्कार की अपील कर रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले ‘Kia’ के पाकिस्तानी ट्विटर हैंडल ने लिखा, “हम सब कश्मीर की आज़ादी के लिए एक होकर खड़े हैं।” कंपनी ने इसके साथ ही ‘5 फरवरी’ और ‘कश्मीर दिवस’ का हैशटैग भी लगाया। पाकिस्तान भारत विरोधी प्रोपेगंडा के लिए 5 फरवरी को ‘कश्मीर डे’ मनाता है।

इन कंपनियों का भारत विरोधी एजेंडा देखकर लोग भड़के हुए हैं। लोगों ने कहा कि पाकिस्तान से कई गुना अधिक कारें भारत में बिकती हैं, लेकिन इसके बावजूद ‘Kia’ कश्मीर पर पाकिस्तानी झूठ फैलाने में लगा हुआ है। ‘Kia’ से लोगों ने सवाल किया कि क्या उसने अब आतंकवादियों को फंडिंग करनी भी शुरू कर दी है? उस ट्वीट के साथ तस्वीर में पाकिस्तान का झंडा भी लगाया गया था। हालाँकि, विवाद होने के बाद ‘Kia’ के उस पाकिस्तानी हैंडल ने अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया है। लेकिन, इसके लिए लोग माफ़ी की माँग कर रहे हैं।

वहीं हुंडई पाकिस्तान (Hyundai Pakistan) ने भी एक ट्वीट किया था जहाँ से इस विवाद की शुरुआत हुई। इस ट्वीट को लेकर भारत की ऑटोमोबाइल कंपनी हुंडई इंडिया (Hyundai Motor India) अब सवालों के घेरे में है। रविवार (6 फरवरी 2022) दोपहर से ही ट्विटर पर हैशटैग #BoycottHyundai के साथ ट्रेंड कर रही है। बता दें कि हुंडई पाकिस्तान ने शनिवार (5 फरवरी 2022) को ट्वीट किया था, “आइए हम अपने कश्मीरी भाइयों के बलिदान को याद करें और उनके समर्थन में खड़े हों, क्योंकि वे आजादी के लिए संघर्ष कर रहे हैं।”

हालाँकि, अब सोशल मीडिया के विस्तार के साथ ऐसे प्रोपेगेंडा आसानी से लोगों की पकड़ में आ रहा है और लोग मुखर होकर इन कंपनियों के विरोध के साथ ही भारत में इनके सामानों का विरोध के साथ ही, बहिष्कार की अपील भी कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -