Thursday, July 18, 2024
Homeसोशल ट्रेंडवायरल वीडियो में ट्विटर इंजीनियर ने कबूला 'वामपंथी' है ये प्लेटफॉर्म, केवल राइट विंग...

वायरल वीडियो में ट्विटर इंजीनियर ने कबूला ‘वामपंथी’ है ये प्लेटफॉर्म, केवल राइट विंग वालों को करता है सेंसर: एलन मस्क की फ्री स्पीच का ‘डर’ भी

"तो, यह सही है कि राइट विंग के साथ भेदभाव करता है। यह सच है। पक्षपात होता है। मुझे नहीं पता कि एक मंच पर दो पार्टियाँ कैसे सह-अस्तित्व में रह सकती हैं।"

अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में, ट्विटर के एक वरिष्ठ इंजीनियर को यह स्वीकार करते हुए सुना जा सकता है कि माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) पर कैसे वामपंथियों के कब्जे में है और यह दक्षिणपंथी एकाउंट्स पर कैसे शिकंजा कसता है।

वायरल वीडियो में सिरु मुरुगेसन (Siru Murugesan) के नाम से पहचाने जाने वाले इंजीनियर ने इस साल 28 अप्रैल को प्रोजेक्ट वेरिटास के साथ काम करने वाले एक पत्रकार से बात करते हुए कई खुलासे किए थे। वीडियो को पत्रकार टिम पूल ने मंगलवार (17 मई) को ट्विटर पर शेयर किया था।

मुरुगेसन कहते हैं, “ट्विटर फ्री स्पीच में विश्वास नहीं करता है। एलोन फ्री स्पीच में विश्वास करते हैं। वह एक पूँजीवादी है और हम वास्तव में पूँजीवादी के रूप में नहीं बल्कि एक सोशलिस्ट की तरह काम कर रहे थे। जैसे हम सभी अपनी ऐसी-तैसी करा रहे थे।”

वह आगे कहते हैं, “वैचारिक रूप से, ऐसी बातों का कोई मतलब नहीं है, क्योंकि हम वास्तव में वामपंथ को नहीं बल्कि दक्षिणपंथ को सेंसर कर रहे हैं। तो, हर दक्षिणपंथी ऐसा ही होगा। ब्रो, ठीक है, बस इसे टॉलरेट करना होगा। लेकिन वामपंथी ऐसा नहीं होगा, नहीं, मैं इसे बर्दाश्त नहीं करने वाला। मुझे इसे सेंसर करने की आवश्यकता है अन्यथा मैं प्लेटफॉर्म पर जगह नहीं देने वाला हूँ।”

वहीं ट्विटर इंजीनियर ने यह भी कहा, “तो, यह सही है कि राइट विंग के साथ भेदभाव करता है। यह सच है। पक्षपात होता है। मुझे नहीं पता कि एक मंच पर दो पार्टियाँ कैसे सह-अस्तित्व में रह सकती हैं।” सिरु मुरुगेसन ने बताया कि उनके लेफ्टिस्ट सहकर्मियों को ‘पूँजीवादी’ एलोन मस्क द्वारा ट्विटर अधिग्रहण के विचार से ही नफरत थी।

मुरुगेसन ने कहा कि जब से ट्विटर डील हुई है, तब से कंपनी की संस्कृति में ‘बहुत कुछ बदल गया है। “ओह माय गॉड! मैं कम से कम इसके साथ ठीक हूँ। लेकिन मेरे कुछ सहकर्मी सुपर लेफ्ट जैसे हैं। वे ऐसे हैं कि अगर ऐसा होता है तो यह मेरा आखिरी दिन होगा।”

“हमने इसके खिलाफ विद्रोह करने के लिए हर संभव प्रयास किया। बहुत सारे कर्मचारियों ने इसके खिलाफ विद्रोह किया। लेकिन अंत में, निदेशक मंडल के हस्तक्षेप के बाद मामला थोड़ा ठीक हो गया क्योंकि कोई अपने खिलाफ मुकदमा नहीं छठा था।”

ट्विटर इंजीनियर ने काम के माहौल में लापरवाही पर भी प्रकाश डाला। उसने कबूल किया कि कैसे आखिरी तिमाही में वह हफ्ते में सिर्फ 4 घंटे ही ऑफिस जाता था।

उन्होंने जोर देकर कहा, “अनिवार्य रूप से जैसे हर किसी को वह काम करने को मिलता है जो वे चाहते हैं, कोई भी वास्तव में (ऑपरेटिंग व्यय) की परवाह नहीं करता है, पूंजीपतियों की तरह, वे संख्याओं की परवाह करते हैं या व्यवसाय को और अधिक कुशल बनाने के बारे में परवाह करते हैं।”

उन्होंने आगे बताया, “लेकिन ट्विटर में, ऐसा लगता है कि मानसिक स्वास्थ्य ही सब कुछ है, जैसे अगर आप अच्छा महसूस नहीं कर रहे हैं, तो आप कुछ दिनों की छुट्टी ले सकते हैं। लोगों ने महीनों की छुट्टी ली है, और उसके बाद वे वापस आएँगे। लेकिन जैसा आप पसंद करते हैं, किसी भी समय आप अपना सर्वश्रेष्ठ परफॉर्मेंस दे सकते हैं। और यही वह संस्कृति है और आप जानते हैं कि जितना संभव हो सके बिजनेस चलाएँगे।”

उन्होंने यह भी बताया कि कैसे ट्विटर के लिए काम करने से उनके अपने राजनीतिक विचारों पर भी असर पड़ा है। उन्होंने कहा, “जैसे मैंने ट्विटर पर काम करना शुरू किया और लेफ्टिस्ट हो गया। मुझे लगता है कि यह वैसा ही माहौल है जैसा वहाँ हैं और आप उसी तरह के हो जाते हैं।”

एलोन मस्क और ‘ट्विटर डील’

बता दें कि एलोन मस्क, पहले से ही ट्विटर के सबसे बड़े व्यक्तिगत शेयरधारक थे, उनके पास कंपनी का 9.2% हिस्सा था। उन्होंने पहले कहा था कि उन्हें प्रबंधन में कोई भरोसा नहीं था और उनके तहत ट्विटर की अपनी वास्तविक क्षमता को पूरा करते हुए कार्य नहीं कर सकता था। उन्होंने कंपनी को निजी कंपनी बनाने की बात की ताकि उनका इस पर पूरा नियंत्रण हो सके और ट्विटर को अपनी पूरी क्षमता हासिल करने के लिए निर्देशित कर सकें।

ट्विटर के बोर्ड ने एलोन मस्क द्वारा अधिग्रहण बिड को प्रभावित करने की पूरी कोशिश की थी। हालाँकि, मस्क की पेशकश की कीमत ट्विटर शेयरधारकों के बहुमत के साथ अंततः ट्विटर बोर्ड को विवश कर देती है।

एलोन मस्क, जो पहले से ही इलेक्ट्रिक वाहन दिग्गज टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ हैं, ने 44 बिलियन डॉलर के सौदे में माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर को खरीद लिया था।

हाल ही में, मस्क ने घोषणा की कि सौदे को अस्थायी रूप से रोक दिया गया था, क्योंकि एक अनुमान के मुताबिक माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर 5% से कम उपयोगकर्ता स्पैम / नकली थे। इससे ट्विटर स्टॉक के मूल्य में अचानक गिरावट आई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

काँवड़ यात्रा पर किसी भी हमले के लिए मोहम्मद जुबैर होगा जिम्मेदार: यशवीर महाराज ने ‘सेकुलर’-इस्लामी रुदालियों पर बोला हमला, ढाबों मालिकों की सूची...

स्वामी यशवीर महाराज ने 18 जुलाई 2024 को एक वीडियो बयान जारी कर इस्लामिक कट्टरपंथियों और तथाकथित 'सेकुलरों' को आड़े हाथों लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -