Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजबछड़े के साथ रेप करते रंगे हाथ पकड़ा गया इम्तियाज हुसैन मियां, मस्जिद से...

बछड़े के साथ रेप करते रंगे हाथ पकड़ा गया इम्तियाज हुसैन मियां, मस्जिद से सटे खेत में चरने के लिए छोड़ चला गया था मालिक: कर्नाटक की घटना

अमरेश बसन्ना ने बछड़े को अन्य गायों के साथ खेत में चरने के लिए छोड़ दिया था। वहाँ पास में एक मस्जिद भी है। इसी बीच इम्तियाज हुसैन मियां ने मौका पाकर बछड़े को एक पेड़ से बाँध दिया और उसके साथ दुष्कर्म किया।

कर्नाटक के रायचूर जिले से बछड़े के साथ रेप की घटना सामने आई है। आरोपित इम्तियाज हुसैन मियां रंगे हाथ पकड़ा गया है। उसने मस्जिद से लगे खेत में इस घटना को अंजाम दिया।

24 वर्षीय मियाँ को पुलिस ने सोमवार (2 जनवरी 2023) को पकड़ा। पुलिस पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमरेश बसन्ना ने बछड़े को अन्य गायों के साथ खेत में चरने के लिए छोड़ दिया था। वहाँ पास में एक मस्जिद भी है। इसी बीच आरोपित ने मौका पाकर बछड़े को एक पेड़ से बाँध दिया और उसके साथ दुष्कर्म किया। जब आसपास के लोगों ने इम्तियाज हुसैन को यह कुकृत्य करते देखा, तो उन्होंने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुँची पुलिस ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया।

घटना की जानकारी मिलने के बाद बछड़े के मालिक ने हुसैन के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस के अनुसार, आरोपित ने प्रारंभिक जाँच में ही अपना जुर्म कबूल कर लिया।

इस तरह की यह पहली घटना नहीं है। अगस्त 2022 में उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में गाय के साथ घिनौनी हरकत करने का मामला सामने आया था। ई-रिक्शा चालक शोएब को गाय के साथ गंदा काम करते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया था। इसी तरह छत्तीसगढ़ के रायपुर में जुलाई 2022 में गाय के चारों पैर बाँधकर दुष्कर्म करने वाले शहरे आलम को पकड़ा गया था। उसका वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें वह लोगों के आगे ‘बहक कर’ गाय के साथ गलत काम करने की बात स्वीकार कर रहा था।

फरवरी 2022 में राजस्थान के भिवाड़ी से भी इस तरह की एक घटना सामने आई थी। गाय के साथ रेप का वीडियो वायरल हुआ था। वीडियो में एक युवक गाय के मुँह पर पैर रखकर खड़ा था और दूसरा उसके साथ दुष्कर्म कर रहा था। उनका साथी इसका वीडियो बना रहा था। इस मामले में जुबेर और मोहम्मद चुन्ना को तत्काल गिरफ्तार किया गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -