Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजआदित्य सिंह बनकर कई बार दूल्हा बना आबिद हवारी, खुद को बताता था पुलिस...

आदित्य सिंह बनकर कई बार दूल्हा बना आबिद हवारी, खुद को बताता था पुलिस इंस्पेक्टर: लव जिहाद मामले में गिरफ्तार

आबिद हवारी ने खुद को हिंदू आदित्य सिंह बताकर न केवल लड़की के साथ रेप किया, बल्कि युवती से वह अब तक 15 लाख रुपए भी ऐंठ चुका है। वह फर्जी इंस्पेक्टर बनकर कुछ दिन तक युवती के साथ भी रहा। इसी दौरान एक दिन उसका मोबाइल देखकर पीड़िता को उसकी असलियत का पता चला।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा नगर पुलिस ने मूल रूप से आजमगढ़ के रहने वाले आबिद हवारी को गिरफ्तार कर लव जिहाद के एक सनसनीखेज मामले का खुलासा किया है। पुलिस ने आरोपित आबिद हवारी को गंभीर धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया है।

मामले की जानकारी देते हुए लखनऊ के इंदिरानगर पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर अजय प्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि इंदिरा नगर की ही रहने वाली एक युवती ने शिकायत की थी कि आबिद हवारी ने अपना नाम आदित्य सिंह बताकर उसे अपने जाल में फँसाया, वह खुद को लखनऊ क्राइम ब्रांच का इस्पेक्टर बताकर उसे धोखा दिया है।

आरोपित आबिद हवारी ने खुद को हिंदू आदित्य सिंह बताकर न केवल लड़की के साथ रेप किया, बल्कि युवती से वह अब तक 15 लाख रुपए भी ऐंठ चुका है। वह फर्जी इंस्पेक्टर बनकर कुछ दिन तक युवती के साथ भी रहा। इसी दौरान एक दिन उसका मोबाइल देखकर पीड़िता को उसकी असलियत का पता चला।

मोबाइल से युवती को पता चला कि आरोपित आबिद आजमगढ़ का रहने वाला है और वहाँ उसकी एक बीवी है। उसके 5 बच्चे भी हैं। इसके अलावा मध्य प्रदेश के ओरछा में भी उसने एक हिंदू युवती के साथ खुद को इंस्पेक्टर आदित्य सिंह बताकर शादी कर रखी है।

पीड़िता को ये सारी जानकारियाँ पता चलने के बाद उसे उसके साथ किए गए छल का आभास हुआ। इसके बाद उसने इंदिरानगर पुलिस स्टेशन में आबिद के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। रिपोर्ट के मुताबिक वह शादी के बाद युवतियों का धर्म परिवर्तन कराने में लगा हुआ था।

आबिद की इंस्पेक्टर की यूनिफॉर्म, पुलिस का मोनोग्राम लगी बाइक और इस्पेक्टर के दफ्तर में बैठी हुई तस्वीरों के बल पर ही वह लड़कियों को पहले अपने जाल में फँसाता था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में पिछले कुछ समय के दौरान कथित तौर पर लव जिहाद के कई मामले सामने आए थे। अकेले कानपुर जिले में लव जिहाद और जबरन धर्मान्तरण के 11 मामलों की छानबीन की जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

‘आपातकाल तो उत्तर भारत का मुद्दा है, दक्षिण में तो इंदिरा गाँधी जीत गई थीं’: राजदीप सरदेसाई ने ‘संविधान की हत्या’ को ठहराया जायज

सरदेसाई ने कहा कि आपातकाल के काले दौर में पूरे देश पर अत्याचार करने के बाद भी कॉन्ग्रेस चुनावों में विजयी हुई, जिसका मतलब है कि लोग आगे बढ़ चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -