Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश-समाजतकिए से करो सेक्स, सहपाठी लड़कियों से दुर्व्यवहार: महात्मा गाँधी मेडिकल कॉलेज में रैगिंग,...

तकिए से करो सेक्स, सहपाठी लड़कियों से दुर्व्यवहार: महात्मा गाँधी मेडिकल कॉलेज में रैगिंग, एक-दूसरे को थप्पड़ मारने के लिए जूनियर्स को किया मजबूर

इंदौर के अलावा रतलाम मेडिकल कॉलेज में भी जूनियर छात्रों को थप्पड़ मारे गए। बताया जा रहा है कि रैगिंग की शिकायत मिलने पर जब वार्डन डॉ. अनुराग जैन हॉस्टल पहुँचे तब उनके ऊपर शराब की बोतलें फेंकी गई।

मध्य प्रदेश के इंदौर स्थित महात्मा गाँधी मेडिकल कॉलेज (MGM) में रैगिंग की घटना सामने आई है। फर्स्ट ईयर के छात्रों ने थर्ड ईयर के सीनियर्स पर रैगिंग और प्रताड़ना का आरोप लगाया है। इन छात्रों को कथित तौर पर तकिए के साथ सेक्स करने के लिए कहा गया। सहपाठी लड़कियों के साथ दुर्व्यवहार को मजबूर किया गया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक MGM के पीड़ित छात्रों ने इसकी शिकायत UGC की एंटी रैगिंग हेल्पलाइन में की। UGC ने इसकी सूचना कॉलेज के डीन को दी। MGM मेडिकल कॉलेज के डीन संजय दीक्षित के मुताबिक, “एक लड़के ने UGC की एंटी रैगिंग हेल्पलाइन पर कुछ दिनों पहले शिकायत दर्ज करवाई थी। शिकायत का संज्ञान लेते हुए फ़ौरन ही एंटी रैगिंग टीम की मीटिंग करवाई गई। मीटिंग के बाद कमेटी ने घटना की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई। FIR संयोगिता गंज थाने में दर्ज हुई है।

SHO तहजीब काज़ी ने के मुताबिक 8-10 छात्रों के खिलाफ IPC की धारा 294, 323 और 506 के तहत FIR दर्ज की गई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने 700 छात्रों से पूछताछ की तैयारी की है। इनके बयानों को गोपनीय रखा जाएगा।

नई दुनिया की रिपोर्ट के अनुसार एमजीएम मेडिकल कॉलेज के जूनियर्स को उनके सीनियर गीता भवन क्षेत्र के फ्लैटों पर बुलाते थे। वहीं उनकी रैगिंग की जाती थी। जूनियर छात्रों को समूह में बुलाया जाता था। घंटों खड़ा रखकर एक-दूसरे को थप्पड़ मारने के लिए मजबूर किया जाता। इस दौरान सीनियर धड़ल्ले से अपशब्दों का इस्तेमाल भी करते थे।

रतलाम में भी रैगिंग

इंदौर के अलावा रतलाम मेडिकल कॉलेज से भी रैगिंग की खबर आई है। यहाँ जूनियर छात्रों को थप्पड़ मारे गए। बताया जा रहा है कि रैगिंग की शिकायत मिलने पर जब वार्डन डॉ. अनुराग जैन हॉस्टल पहुँचे तब उनके ऊपर भी शराब की बोतलें फेंकी गई। घटना की शिकायत कॉलेज की अनुशासन समिति से की है। रैंगिंग करने वाले छात्रों की पहचान कर ली गई है।

मध्य प्रदेश के राज्य के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने 30 जुलाई 2022 (शनिवार) को इन घटनाओं का संज्ञान लेते हुए जाँच और कार्रवाई का भरोसा दिया है। उन्होंने कहा, “नियमानुसार रैंगिंग पूरी तरह से प्रतिबंधित है। इसके बावजूद हमें शिकायत मिली है। आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हम इस घटना की गहनता से जाँच कर रहे हैं। ऐसे मामलों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -