Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजबुर्के वाली मुस्कान का एक चेहरा ये भी: पत्रकार के सवाल पर भड़की, फोटो-वीडियो...

बुर्के वाली मुस्कान का एक चेहरा ये भी: पत्रकार के सवाल पर भड़की, फोटो-वीडियो डिलीट कराए; लगाए थे ‘अल्लाह-हू-अकबर’ के नारे

बता दें कि मुस्लिम संगठनों ने मुस्कान पर इनामों और उपहारों की बौछार कर रखी है। महाराष्ट्र के मालेगाँव की मेयर ताहिरा शेख ने मालेगाँव में उर्दू घर का नाम उसके नाम पर रखने का ऐलान किया है। मुंबई के बांद्रा से कॉन्ग्रेस विधायक ज़ीशान सिद्दीकी ने उसे आईफोन व स्मार्टवॉच और इस्लामिक संगठन जमीयत उलमा-ए-हिंद ने पाँच लाख रुपए का ईनाम दिया है।

कर्नाटक में बुर्के को लेकर जारी बहस (Karnataka Burqa/Hijab Controversy) के बीच बुर्का पहनी एक लड़की का वीडियो सामने आया था। नाम था- मुस्कान जैनब (Muskan Zainab)। मुस्कान ने कैम्पस में बुर्का पहनकर ‘अल्लाह-हू-अकबर’ के नारे लगाए थे। इसके बाद से वह सुर्खियों में बनी हुई है। तमाम मीडिया चैनल्स और अखबार उसके घर जाकर इंटरव्यू ले रहे हैं। इस बीच खबर आ रही है कि मुस्कान के घर पर मीडिया से बदसलूकी हुई।

दरअसल हिंदी अखबार ‘दैनिक भास्कर’ का रिपोर्टर मुस्कान का इंटरव्यू करने सादात नगर स्थित उसके घर पर पहुँचा था। इंटरव्यू उस वक्त तक तो ठीक चला, जब तक हिजाब पर बात होती रही। जैसे ही रिपोर्टर ने मुस्कान से पूछा कि ‘अल्लाह-हू-अकबर’ का नारा लगाकर वह फेमस हो गई है और उसे कई जगह से गिफ्ट मिल रहे हैं, तो मुस्कान ने इंटरव्यू देने से इनकार कर दिया। इसके बाद उसके घरवाले भी रिपोर्टर पर भड़क गए और वहाँ से उसे भगा दिया। परिजनों ने रिपोर्टर को धमकी दी और कई फोटो और वीडियो भी डिलीट भी करा दिए।

पहले रिपोर्टर ने मुस्कान से ‘हिजाब कब से पहन रही हैं, स्कूल में हिजाब पहनकर क्यों गईं’ जैसे सवाल पूछे। मुस्कान ने इसका सामान्य सा जवाब दिया और इसे मुस्लिम होने की पहचान, गर्व और इस्लाम की संस्कृति बताया। साथ ही उसने यह भी कहा कि वह बुर्के के लिए नहीं, हिजाब के लिए खड़ी है। भले ही वह इसे ‘हिजाब’ के नाम पर प्रदर्शन बता रही है, लेकिन मुस्कान के साथ ही अन्य मुस्लिम छात्राओं को बुर्का में शैक्षणिक संस्थानों में घुसते हुए और प्रदर्शन करते हुए देखा गया है। बता दें कि हिजाब सिर ढँकने के लिए होता है, जबकि बुर्का सर से लेकर पाँव तक।

खैर बात आगे बढ़ी और अखबार के रिपोर्टर ने पूछा कि उसको बहुत गिफ्ट भी मिल रहे हैं और मीडिया में वह सुर्खी बन रही है। इस पर मुस्कान ने कहा कि बस इतना काफी है और अभी वह ज्यादा बातचीत नहीं करेगी। मुस्कान ने कहा, “बस थैंक यू, मैं और कोई बात नहीं करूँगी।” इसके बाद मुस्कान ने माइक निकाल दिया और उसके परिजन रिपोर्टर को घर से जाने के लिए कहने लगे और पुलिस बुलाने की धमकी भी दी।

रिपोर्ट के मुताबिक, रिपोर्टर ने मुस्कान के घर में रखे गुलदस्ते और उसे मिले गिफ्ट की फोटो और वीडियो भी लिए थे। मगर भड़के घरवालों ने उन्हें डिलीट करा दिया। मुस्कान के पिता ने अपने बेटे को हिदायत भी दी कि घर में जो भी लोग आ-जा रहे हैं, उन पर वो नजर रखे। मुस्कान के पिता ये भी कहते दिखे कि इंटेलिजेंस विभाग की नजर उनके घर पर है।

बता दें कि मुस्लिम संगठनों ने मुस्कान पर इनामों और उपहारों की बौछार कर रखी है। महाराष्ट्र के मालेगाँव की मेयर ताहिरा शेख ने मालेगाँव में उर्दू घर का नाम मुस्कान खान के नाम पर रखने का ऐलान किया है। वहीं, मुंबई के बांद्रा से कॉन्ग्रेस विधायक ज़ीशान सिद्दीकी ने मुस्कान के घर जाकर मुलाकात की और उसे आईफोन और स्मार्टवॉच गिफ्ट किया। इससे पहले इस्लामिक संगठन जमीयत उलमा-ए-हिंद ने भी मुस्कान खान को पाँच लाख रुपए का ईनाम दिया था।

उल्लेखनीय है कि भड़काऊ मजहब नारे लगाने के बाद मुस्कान को तालिबान और पाकिस्तान से भी समर्थन मिला। उसके पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से भी संबंध सामने आए हैं। उसके अब्बा पीएफआई के नेता हैं। उडुपी के कॉलेज में बुर्के में आने वाली छात्राओं को कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया (CFI) ने उकसाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -