Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजवर्दी पहन कर रौब दिखाता था, करता था ठगी: यूपी पुलिस ने फर्जी दरोगा...

वर्दी पहन कर रौब दिखाता था, करता था ठगी: यूपी पुलिस ने फर्जी दरोगा कासिम को दबोचा, महिला से लूट लिए ₹55000

कासिम ने खुद को पुलिस में दरोगा बताते हुए यूनियन बैंक से 10 लाख रुपए लोन दिलाने की बात कही थी। इस दौरान, उसने नसरीन हाई स्कूल व इंटर की मार्कसीट भी ले ली थी।

उत्तर प्रदेश के अमरोहा से पुलिस की वर्दी पहन रौब दिखाने वाला फर्जी दरोगा गिरफ्तार हुआ है। पुलिस ने यह कार्रवाई एक महिला की शिकायत पर की है। पीड़िता ने पुलिस को बताया था कि आरोपित ने लोन दिलाने का झाँसा देकर उससे 55 हजार रुपए की ठगी की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अमरोहा में बरछायूँ थाना अंतर्गत चौखट गाँव में रहने वाली पीड़िता नसरीन जहाँ ने ठगी को लेकर पुलिस से शिकायत की थी। पीड़िता ने शिकायत में कहा था कि कासिम नामक व्यक्ति लोगों को फर्जी दरोगा बन कर लूटता है और उसके साथ ठगी की है।

इस पूरे मामले में डिप्टी एसपी अमरोहा सर्किल विजय कुमार राणा का कहना है कि आरोपित कासिम की मुलाकात पीड़िता नसरीन जहां के पति वारिस सैफी से हुई थी। कासिम ने खुद को पुलिस में दरोगा बताते हुए यूनियन बैंक से 10 लाख रुपए लोन दिलाने की बात कही थी। इस दौरान, उसने नसरीन हाई स्कूल व इंटर की मार्कसीट भी ले ली थी।

यही नहीं, लोन दिलाने के लिए उसने पैसे खर्च होने की बात कहते हुए पेटीएम, गूगल पे इत्यादि के माध्यम से 55 हजार रुपए भी ठग लिए। जब पीड़िता ने कासिम से लोन की बात कही तो वह टालमटोल करता रहा। साथ ही, जब उसे दिए गए 55 हजार रुपए वापस माँगे तो उसने गाली-गलौच करते हुए पैसे वापस देने से इनकार दिया।

डिप्टी एसपी राणा ने यह भी कहा है कि पीड़िता ने आरोप लगाया है कि कासिम ने उससे कहा था कि यदि उसने कहीं शिकायत की तो उसके पति अली वारिस सैफी को झूठे केस में फँसा कर जेल भिजवा देगा या जान से मार देगा।

उन्होंने आगे बताया है कि इसके बाद पीड़िता ने फर्जी दरोगा बने कासिम से तंग आकर मामले की शिकायत एसपी से की। शिकायत के आधार पर हुई जाँच में सामने आया है कि कासिम पुलिस की वर्दी पहनकर शहर में घूमता था। साथ हिज़ खुद को दरोगा बताकर लोगों के बीच रौब जमाता था। शनिवार (7 जनवरी, 2022) को भी वर्दी पहनकर घूम रहा था। तभी, पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहाँ से उसे जेल भेज दिया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -