Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाज'रेप कैपिटल बन गया है राजस्थान': अलवर मूक-बधिर बच्ची से गैंगरेप मामले में पुलिस...

‘रेप कैपिटल बन गया है राजस्थान’: अलवर मूक-बधिर बच्ची से गैंगरेप मामले में पुलिस का यू-टर्न, गहलोत सरकार ने की CBI जाँच की सिफारिश

"एसपी कहती हैं कि रेप नहीं एक्सीडेंट हुआ है, अगर ऐसा है तो पीड़िता के प्राइवेट में ही बस चोट क्यों है। क्यों उसके शरीर के बाकी हिस्से में कोई चोट नहीं है। राजस्थान पुलिस अपनी नाकामी छिपा रही है।"

राजस्थान (Rajashthan) के अलवर जिले में मूक-बधिर बच्ची के साथ किए गए बलात्कार (Rape) की वारदात का खिलाफ तेज होते विरोध के आगे झुकते हुए प्रदेश सरकार ने इस घटना की जाँच CBI से करवाने की बात कही है। सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने रविवार (16 जनवरी 2022) कहा कि राज्य सरकार ने इस मामले की जाँच CBI से करवाने की सिफारिश केंद्र को भेजने का निर्णय लिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में सीएम गहलोत ने कहा था कि पीड़िता का परिवार अगर चाहेगा तो वे इस केस की जाँच CID या CBI या फिर किसी भी इंडिपेंडेंट एजेंसी से इसकी जाँच कराने को तैयार हैं। हालाँकि, इस मामले में राजस्थान की कॉन्ग्रेस सरकार पर लगातार सवाल उठ रहे हैं।

इसी क्रम में रविवार को सांसद हनुमान बेनीवाल की पार्टी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP) के युवा मोर्चा ने जिला कलेक्टर के आवास का घेराव किया। पार्टी के युवा मोर्चा के अध्यक्ष संदीप ओला ने जिले की पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम पर गैर-जिम्मेदाराना बयान देने का आरोप लगाया और कहा कि एसपी कहती हैं कि रेप नहीं एक्सीडेंट हुआ है, अगर ऐसा है तो पीड़िता के प्राइवेट में ही बस चोट क्यों है। क्यों उसके शरीर के बाकी हिस्से में कोई चोट नहीं है। उन्होंने पुलिस पर अपनी नाकामी छुपाने की कोशिश करने का आरोप लगाया।

वहीं इस मामले में राजसमंद से बीजेपी सांसद दिया कुमारी (BJP MP Diya Kumari) ने सीएम गहलोत पर निशाना साधते कहा कि वीरों और वीरांगनाओं का प्रदेश अब रेप कैपिटल हो गया है। उन्होंने आश्चर्य जताया कि हर दिन इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं, लेकिन सरकार चैन की नींद सो रही है।

पीड़िता की हालत में हो रहा सुधार

रेप पीड़ित बच्ची का इलाज जयपुर के जेके लोन अस्पताल में हो रहा है। उसका इलाज कर रहे डॉ अरविंद शुक्ला के मुताबिक, अब पीड़िता की हालत में सुधार है। उसे दिन में केवल पानी ही दिया जा रहा है। हालाँकि, उन्होंने उम्मीद व्यक्त की कि 3-4 दिन में उसे खाना भी दिया जाएगा।

कब हुई थी यह वारदात

गौरतलब है कि मंगलवार (11 जनवरी 2022) को शिवाजी पार्क थाना क्षेत्र में शाम करीब आठ बजे अज्ञात लोग नाबालिग मंदबुद्धि लड़की को तिजारा पुलिया पर पटक कर फरार हो गए। लड़की की हालत गंभीर थी और सूचना पर पहुँची पुलिस ने मौके पर पहुँच कर लड़की को अस्पताल पहुँचाया। पीड़िता के प्राइवेट पार्ट्स में गंभीर इंटरनल इंजरी थी। उसे तत्काल इलाज के लिए आईसीयू में भर्ती किया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -