Thursday, September 23, 2021
Homeराजनीतिअफगानिस्तान से हिंदुओं-सिखों को जल्द से जल्द भारत लाएँ: तालिबान का खौफ, कॉन्ग्रेस MP...

अफगानिस्तान से हिंदुओं-सिखों को जल्द से जल्द भारत लाएँ: तालिबान का खौफ, कॉन्ग्रेस MP ने विदेश मंत्री को लिखा लेटर

"हमें पता है कि तालिबान किस तरह भारत से सम्बन्ध रखने वाले अल्पसंख्यकों को अपना निशाना बनाता है। हाल ही में हिन्दुओं व सिखों पर हमले की कई घटनाएँ सामने आई हैं।"

कॉन्ग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने केंद्रीय विदेश मंत्रालय को पत्र लिख कर माँग की है कि अफगानिस्तान में लगातार तीव्र होती जा रही व विक्षुब्ध कर देने वाली हिंसा को मद्देनजर रखते हुए हिन्दुओं एवं सिखों को वहाँ से बचा कर निकाला जाए। उन्होंने इसके लिए विशेष वीजा की व्यवस्था का निवेदन किया है। कॉन्ग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने कहा कि वो ‘सिख समुदाय के एक जिम्मेदार भारतीय नागरिक’ होने के नाते व्यक्तिगत रूप से ये पत्र लिख रहे हैं।

उन्होंने इस पत्र में ध्यान दिलाया है कि अमेरिका की सेना की वापसी के बाद तालिबान बंदूक की नोंक पर अफगानिस्तान को अपने कब्जे में लेने के लिए युद्ध कर रहा है। एक बार फिर से अफगानिस्तान के आतंकी चंगुल में जाने की आशंका है। उन्होंने अफगानिस्तान में हुई हालिया हिंसा की भीषण घटनाओं की तरफ ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि ये मानवता के लिए संकट पैदा करने वाली समस्या है।

सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता जयवीर शेरगिल ने पत्र में लिखा, “अब तक मिली सूचनाओं के हिसाब से अफगानिस्तान में फ़िलहाल 650 सिख और 50 हिन्दू फँसे हुए हैं। हमें पता है कि तालिबान किस तरह भारत से सम्बन्ध रखने वाले अल्पसंख्यकों को अपना निशाना बनाता है। हाल ही में हिन्दुओं व सिखों पर हमले की कई घटनाएँ सामने आई हैं। पकिता के चमकानी क्षेत्र के गुरुद्वारे से तालिबान ने ‘निशान साहिब’ को हटा दिया था।”

उन्होंने काबुल के नजदीक हर राय साहिब गुरुद्वारा पर हमले में 25 सिखों की मौत वाली घटना की भी याद दिलाई। इसी तरह जुलाई 2018 में जलालाबाद में हुए एक आत्मघाती हमले में 19 सिख व हिन्दू मारे गए थे। उन्होंने इन घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि अब अफगानिस्तान हिन्दुओं व सिखों के लिए एक सुरक्षित देश नहीं रह गया है। अपनी जान की चिंता में पड़े इन लोगों ने भारत सरकार से अनुरोध भी किया है कि वो उन्हें वहाँ से सुरक्षित निकालें।

जयवीर शेरगिल ने अफगानिस्तान में फँसे 700 हिन्दुओं/सिखों को स्पेशल वीजा देकर उन्हें वहाँ से निकालने की अपील की है। 2020 में भी उन्हें सुरक्षित निकाला गया था। चूँकि इनमें से अधिकतर लोगों ने अपनी नौकरी भी खो दी है, इसीलिए भारत सरकार ने उन्हें आर्थिक मदद मुहैया कराने का निवेदन भी कॉन्ग्रेस नेता ने किया है। उन्होंने भरोसा जताया कि हिन्दुओं व सिखों की मदद के लिए केंद्रीय विदेश मंत्रालय प्रयास करेगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

गले पर V का निशान, चलता पंखा… महंत नरेंद्र गिरि के ‘सुसाइड’ पर कई सवाल, CBI जाँच को योगी सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की CBI जाँच कराने की सिफारिश की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe