Monday, July 15, 2024
Homeराजनीति'बाड़ ही खेत खाए, उस फसल को कौन बचाए': ट्वीट पर बवाल, राजस्थान CM...

‘बाड़ ही खेत खाए, उस फसल को कौन बचाए’: ट्वीट पर बवाल, राजस्थान CM अशोक गहलोत के OSD ने दिया इस्तीफा

''मजबूत को मजबूर, मामूली को मगरूर किया जाए। बाड़ ही खेत को खाए, उस फसल को कौन बचाए।'' - इस ट्वीट ने पंजाब कॉन्ग्रेस की कलह को राजस्थान से जोड़ दिया है।

पंजाब में चल रहे सियासी उठापठक के बीच कॉन्ग्रेस के लिए राजस्थान से बुरी खबर सामने आ रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा ने शनिवार (18 सितंबर) देर रात को अपना इस्तीफा दे दिया।

पंजाब में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच लोकेश शर्मा ने 18 सितंबर को ट्वीट किया, ”मजबूत को मजबूर, मामूली को मगरूर किया जाए। बाड़ ही खेत को खाए, उस फसल को कौन बचाए।” इस्तीफे की वजह लोकेश शर्मा द्वारा किया गया ट्वीट बताया जा रहा है। उनके ट्वीट को पंजाब के घटनाक्रम के साथ जोड़कर देखा जा रहा था।

शर्मा ने अपने इस्तीफे में लिखा है कि उनके ट्वीट को राजनीतिक रंग देते हुए पंजाब के घटनाक्रम से जोड़ने का काम किया जा रहा है। इसलिए वे अपना इस्तीफा दे रहे हैं। गहलोत के सोशल मीडिया का कामकाज संभालने वाले लोकेश शर्मा ने लिखा:

”आज दिन में मेरे द्वारा किए गए ट्वीट को राजनीतिक रंग दिया गया और गलत अर्थ निकालकर पंजाब के घटनाक्रम से जोड़ा जा रहा है। मैं साल 2010 से ट्विटर पर सक्रिय हूँ और मैंने आज तक पार्टी लाइन से अलग कॉन्ग्रेस के किसी भी छोटे से लेकर बड़े नेता के संबंध में और प्रदेश की कॉन्ग्रेस सरकार को लेकर कभी कोई ऐसे शब्द नहीं लिखे हैं, जिन्हें गलत कहा जा सके।”

उन्होंने आगे लिखा, ”मैं लगभग रोजाना ही ट्वीट करता रहता हूँ। मेरे आज के ट्वीट से किसी भी रूप में पार्टी, सरकार और आलाकमान की भावनाओं को ठेस पहुँची हो तो मैं इसके लिए माफी माँगता हूँ। मैं अपना इस्तीफा भेज रहा हूँ, निर्णय आपको करना है।”

लोकेश शर्मा का ट्वीट

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पंजाब, राजस्थान के साथ-साथ छत्तीसगढ़ में भी कॉन्ग्रेस में गुटबाजी चल रही है। सियासी जानकारों का कहना है कि कॉन्ग्रेस आलाकमान दोनों राज्यों को लेकर जल्द ही फैसला ले सकता हैं।

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार (18 सितंबर) को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कॉन्ग्रेस आलाकमान से कहा कि वो अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे और राजभवन जाकर पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

IAS बेटी ऑडी पर बत्ती लगाकर बनाती थी भौकाल, माँ-बाप FIR के बाद फरार: पूजा खेडकर को जाँच के बाद डॉक्टरों ने नहीं माना...

पूजा खेडकर का मामला मीडिया में उठने के बाद उनके माता-पिता से जुड़ी कई वीडियो सामने आई है। ऐसे में पुलिस ने उनकी माँ के खिलाफ एफआईआर की है।

शूटिंग क्लब का सदस्य था डोनाल्ड ट्रम्प पर गोली चलाने वाला, शिकारी वाली वेशभूषा थी पसंद: रिपब्लिकन पार्टी ने बुलाया राष्ट्रीय सम्मेलन, पूर्व राष्ट्रपति...

वो लगभग 1 साल से पास में ही स्थित 'क्लेयरटन स्पोर्ट्समेन क्लब' का सदस्य भी था। इसमें कई शूटिंग रेंज हैं। पहले से कोई भी आपराधिक या ट्रैफिक चालान का मामला दर्ज नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -