Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीतिमुस्लिम आरक्षण संविधान विरोधी…इसे खत्म कर देंगे: तेलंगाना में गृहमंत्री अमित शाह और CM...

मुस्लिम आरक्षण संविधान विरोधी…इसे खत्म कर देंगे: तेलंगाना में गृहमंत्री अमित शाह और CM योगी ने भरी हुंकार, कहा- पिछड़े वर्ग को रिजर्वेशन देंगे

तेलंगाना में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मुस्लिम आरक्षण पर रुख साफ करते हुए कहा कि सत्ता में आने के बाद बीजेपी यहाँ मुस्लिम आरक्षण को खत्म कर देगी। वहीं इसे लेकर यूपी के सीएम योगी ने भी कहा कि मुस्लिम आरक्षण संविधान विरोधी है।

तेलंगाना में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के ‘मिशन तेलंगाना’ में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘मुस्लिम आरक्षण’ पर अपना रुख साफ कर दिया है। शुक्रवार (24 नवंबर,2023) को चुनावी प्रचार करने पहुँचे गृहमंत्री शाह ने कहा कि अगर बीजेपी यहाँ सत्ता में आई तो वो मुस्लिम आरक्षण खत्म कर देगी। वहीं शनिवार (25 नवंबर,2023) को वहाँ पहुँचे सीएम योगी ने कुमुरम भीम आसिफाबाद की रैली में कहा कि मुस्लिम आरक्षण संविधान विरोधी है। किसी भी स्थिति में इसे लागू नहीं होने देना चाहिए।

दरअसल, केंद्रीय मंत्री शाह ने शुक्रवार (24 नवंबर 2023) को निजामाबाद में चुनावी जनसभा की। इसके बाद उन्होंने चुनावी राज्य तेलंगाना में रोड शो किए। इस दौरान एक रोड शो में केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा नेता शाह ने कहा, “हमने बहुत सारे वादे किए हैं। उनमें से एक ये है कि सीएम पिछड़ा वर्ग से बनाया जाएगा। हम मुस्लिम आरक्षण खत्म कर एससी, एसटी और ओबीसी को आरक्षण देंगे। हमने मडिगा समुदाय को शीर्ष आरक्षण का भी वादा किया है।”

उन्होंने आगे कहा, ”हमने राज्य की गरीब महिलाओं को एक साल में चार गैस सिलेंडर मुफ्त देने का भी वादा किया है। जितना भी भ्रष्टाचार हुआ है उस पर हम एक जाँच आयोग बिठाएँगे और भ्रष्टाचार के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा देंगे।”

वहीं, शनिवार (25 नवंबर 2023) को सीएम योगी ने कुमुरम भीम आसिफाबाद और वेमुलावाड़ा में बीजेपी प्रत्याशियों के समर्थन में की गई रैली में कहा कि भाजपा मुस्लिम आरक्षण को खत्म करने और इस चार फीसदी आरक्षण को एससी/एसटी और ओबीसी वर्गों के कल्याण के लिए देने के लिए प्रतिबद्ध है। तेलंगाना के वेमुलावाड़ा में लोगों ने सकारात्मक बदलाव के वादे को पहचानते हुए बीजेपी को अपना समर्थन देने का वादा किया है।

उन्होंने आगे कहा, “तुष्टिकरण का सबसे गंदा खेल देखना हो तो तेलंगाना में देख सकते हैं। समाज को बाँटने के लिए और अपने स्वार्थ के लिए कोई सरकार किस हद तक गिर सकती है उदाहरण यहाँ पर मुस्लिम आरक्षण के रूप में हैं। इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी तेलंगानावासियों से एक वादा करती है कि भाजपा को जिताइए, मुस्लिम आरक्षण का खात्मा भारतीय जनता पार्टी करेगी।”

बता दें कि तेलंगाना में 119 विधानसभा क्षेत्रों के लिए 30 नवंबर को मतदान होगा और 3 दिसंबर को चुनाव के नतीजों का ऐलान होगा। इस राज्य में सत्तारूढ़ पार्टी बीआरएस, कॉन्ग्रेस और बीजेपी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। राज्य के कुल 3.17 करोड़ वोटर्स इन पार्टियों के भाग्य का फैसला करेंगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -