Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीति‘ममता दीदी की पतंग तो कटेगी’: अब MP शताब्दी रॉय ने दिखाए बागी तेवर,...

‘ममता दीदी की पतंग तो कटेगी’: अब MP शताब्दी रॉय ने दिखाए बागी तेवर, 16 जनवरी को बड़ा ऐलान संभव

"हमारे पास तृणमूल कॉन्ग्रेस के लगभग 41 विधायकों की सूची है, जो भाजपा के संपर्क में हैं और पार्टी बदलने के लिए तैयार हैं। अगर हमने उन्हें अपनी पार्टी में शामिल कर लिया तो ममता बनर्जी की सरकार किसी भी समय गिर जाएगी।"

पश्चिम बंगाल में इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की आंतरिक लड़ाई थमती नजर नहीं आ रही है। पार्टी सांसद शताब्दी रॉय ने अब बागी तेवर दिखाए हैं। वहीं भाजपा महासचिव और बंगाल के पार्टी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने 41 टीएमसी विधायकों के संपर्क में होने का दावा किया है।

विजयवर्गीय ने कहा, “बंगाल में ममता बनर्जी और उनकी पार्टी से सत्ता कभी भी छूट सकती है। हमारे पास तृणमूल कॉन्ग्रेस के लगभग 41 विधायकों की सूची है, जो भाजपा के संपर्क में हैं और पार्टी बदलने के लिए तैयार हैं। अगर हमने उन्हें अपनी पार्टी में शामिल कर लिया तो ममता बनर्जी की सरकार किसी भी समय गिर जाएगी। लेकिन हम उन नामों की पड़ताल कर रहे हैं क्योंकि हम नहीं चाहते हैं कि कोई नकारात्मक पृष्ठिभूमि का व्यक्ति हमारी पार्टी का हिस्सा बने। ममता जी की पतंग तो कटेगी 100%, क्योंकि हमने इतनी ढील दी है। अब तो एक हाथ खींचेंगे और सरकार गिर जाएगी। इसलिए हमें विश्वास है कि ममता जी की पतंग तो गई।”  

इधर टीएमसी सांसद और अभिनेत्री शताब्दी रॉय ने फेसबुक पर जनता के नाम पोस्ट लिख कर अपना दुःख और पार्टी के प्रति गुस्सा जाहिर किया है। उन्होंने पोस्ट में लिखा, “मेरे निर्वाचन क्षेत्र बीरभूम के लोगों का 2021 बहुत अच्छे बीते, लोग स्वस्थ रहें। मेरा पार्टी के साथ गहरा रिश्ता रहा है, लेकिन पिछले कुछ समय से लोग मुझसे लगातार पूछ रहे हैं मैं कार्यक्रमों में क्यों नहीं नज़र आती हूँ? मैं उन्हें बताना चाहती हूँ कि मुझे लोगों से मिलना और उनके बीच रहना पसंद है लेकिन तमाम ऐसे लोग हैं ये नहीं चाहते हैं।” 

शताब्दी रॉय ने उन लोगों के नाम का खुलासा नहीं किया है लेकिन इतना ज़रूर कहा है कि वह 16 जनवरी दोपहर दो बजे स्पष्ट करेंगी कि उनका अगला कदम क्या होगा।   

इस बीच विधानसभा चुनाव की तैयारियों को मद्देनज़र रखते हुए पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष, अमिताव चक्रवर्ती, मुकुल रॉय और संगठन के अन्य नेता केंद्रीय नेतृत्व के साथ बैठक के लिए दिल्ली का दौरा करेंगे। फ़िलहाल इस बैठक के एजेंडे को लेकर जानकारी स्पष्ट नहीं है लेकिन रिपोर्ट्स के मुताबिक़ इस बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति को लेकर चर्चा होगी। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहेंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पश्चिम बंगाल के चुनाव संभावित तौर पर अप्रैल के पहले हफ्ते में हो सकते हैं। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -