Saturday, July 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान में बंदूक की नोंक पर सिख लड़के के साथ 3 मुस्लिमों ने किया...

पाकिस्तान में बंदूक की नोंक पर सिख लड़के के साथ 3 मुस्लिमों ने किया गैंगरेप, तीनों पुलिस की पहुँच से दूर: वीडियो बना कर पिता को ब्लैकमेल भी किया

ताज़ा मामले में आरोपितों की पहचान मोहसिन जमैल और सिद्दीर के रूप में हुई है। एक अन्य अज्ञात है। इन तीनों ने मिल कर बंदूक की नोंक पर सिख लड़के का गैंगरेप किया।

पाकिस्तान के सिंध स्थित जकोबाबाद में एक 13 साल के सिख लड़के से 3 मुस्लिमों ने बलात्कार किया। पुलिस ने दो आरोपितों को पकड़ा, लेकिन वो सिविल लाइन्स थाने से भाग निकले। आरोपितों ने लड़के को मोटरसाइकिल दिलाने का लालच दिया था। इसी बहाने वो उसे लेकर स्थानीय PTCL (पाकिस्तान टेलीकम्युनिकेशंस लिमिटेड) के टेलीफोन एक्सचेंज ऑफिस लेकर गए, जहाँ उसके साथ सामूहिक अप्राकृतिक बलात्कार किया गया।

पाकिस्तान का सिंध वो प्रान्त है, जहाँ हिन्दुओं और सिखों के जबरन धर्मांतरण और अल्पसंख्यक लड़कियों के अपहरण की घटनाएँ आम हो गई हैं। थार, उमेरकोट, मीरपुर खास, घोटकी और खैरपुर जैसे क्षेत्रों में हिन्दुओं की ठीक-ठाक जनसंख्या है, लेकिन वो पीड़ित हैं। जुलाई 2019 में सिंध की विधानसभा में हिन्दू लड़कियों के धर्मांतरण को लेकर प्रस्ताव भी आया था। जबरन धर्मांतरण को अपराध बताने वाला बिल विधानसभा से कई बार नकारा जा चुका है।

ताज़ा मामले में आरोपितों की पहचान मोहसिन जमैल और सिद्दीर के रूप में हुई है। एक अन्य अज्ञात है। इन तीनों ने मिल कर बंदूक की नोंक पर सिख लड़के का गैंगरेप किया। इस मामले की FIR तो दर्ज कर ली गई है, लेकिन तीनों ही आरोपित पुलिस की पहुँच से दूर हैं। आरोपितों ने गैंगरेप का वीडियो बना कर पीड़ित के पिता को ब्लैकमेल भी किया। अस्पताल में लड़के का इलाज चल रहा है। पुलिस मामले की जाँच करने की बात कह रही है।

पाकिस्तान में इस तरह का ये पहला मामला नहीं है। नवंबर 2021 में सिंध में ही 11 साल के हिन्दू लड़के का उत्पीड़न किया गया था और फिर उसकी हत्या कर दी गई थी। जब 5वीं के उक्त छात्र परिवार गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व में व्यस्त था, तब उसका अपहरण कर लिया गया था। घर से कुछ दूरी पर कुछ घंटे बाद उसका शव बरामद हुआ। गला दबा कर उसकी हत्या की गई थी। सिंध में बाढ़ के बावजूद भी हिन्दू लड़कियों पर अत्याचार नहीं रुक रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -