Tuesday, July 16, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेक'अहमद हमीद को टिकट देना सबसे बड़ी गलती, नहीं पता था उन्होंने जाटों को...

‘अहमद हमीद को टिकट देना सबसे बड़ी गलती, नहीं पता था उन्होंने जाटों को मारा’: RLD सुप्रीमो जयंत चौधरी का वायरल ट्वीट – FACT CHECK

हम आपको बताते हैं कि इस वायरल दावे की सच्चाई क्या है कि 'नवाब' अहमद हमीद को टिकट दिए जाने को जयंत चौधरी ने अपनी गलती बताया है।

सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले एक ट्वीट वायरल हो रहा है। ये ट्वीट ‘राष्ट्रीय लोकदल (RLD)’ के अध्यक्ष जयंत चौधरी का बताया जा रहा है। इस ट्वीट में उनके हवाले से लिखा गया है, “बागपत में मेरे और RLD पार्टी द्वारा अहमद हमीद को दिया गया टिकट मेरे जीवन की सबसे बड़ी गलती है। मुझे नहीं पता था कि अहमद हमीद का परिवार बाबा शाहमल तोमर जाट को मार कर नवाब बने। उन्होंने मुजफ्फरनगर दंगों में भी जाटों को मारने के लिए हथियार भेजे थे।”

RLD सुप्रीमो जयंत चौधरी ने अपने ही उम्मीदवार अहमद हमीद को लेकर किया ‘गलती’ वाला ट्वीट?

इस ट्वीट में रालोद सुप्रीमो के हवाले से आगे लिखा गया है, “मैं इस टिकट को (बागपत से अहमद हमीद) रद्द कर रहा हूँ। पर्चा वापस तो नहीं होगा, लेकिन मेरा समाज अब बागपत में आज़ाद होकर मतदान करे।” बता दें कि इस बार रालोद अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन बना कर चुनाव लड़ रही है। सपा को उम्मीद है कि इससे पश्चिमी उत्तर प्रदेश, जिसे जाटलैंड भी कहते हैं, वहाँ उन्हें अच्छी संख्या में सीटें मिलेंगी। हालाँकि, इस गठबंधन ने अधिकतर मुस्लिम उम्मीदवारों पर अपना भरोसा जताया है।

अहमद हमीद बागपत के सबसे अमीर प्रत्याशी भी हैं। उन्होंने जो विवरण चुनाव के लिए नामांकन भरते समय दर्ज कराए हैं, उसके अनुसार उनके बैंक खाते में 21 लाख रुपए हैं और तीन वाहन हैं। वो हथियार के भी शौक़ीन हैं। उनके पास 250 ग्राम सोना, 16 करोड़ रुपए की कृषि भूमि, 6.90 करोड़ रुपए की गैर-कृषि भूमि, गाजियाबाद सहित विभिन्न जगहों पर 12.85 करोड़ रुपए की अन्य संपत्ति और 138 दुकानें भी हैं। इस तरह से वो अरबपति प्रत्याशी हैं।

जाइए क्या है वायरल दावे की सच्चाई

अब आपको बताते हैं कि इस वायरल दावे की सच्चाई क्या है कि ‘नवाब’ अहमद हमीद को टिकट दिए जाने को जयंत चौधरी ने अपनी गलती बताया है। मामला इतना बढ़ गया कि जयंत चौधरी को खुद सफाई देनी पड़ी। उन्होंने इस वायरल स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए बताया, ” बागपत चुनाव पर झूठा पोस्ट बनाकर वायरल किया जा रहा है। बागपत पुलिस को तहरीर दी गई है। विकास पर जवाब जब दे नहीं पा रहे तो फोटोशॉप द्वारा फ़र्ज़ी पोस्ट बनाने वाले कौन हैं – जनता पहचान ले।”

बता दें कि अहमद हमीद के अब्बा कौकब हमीद खान बागपत से लगातार 5 बार विधायक रहे हैं। सबसे पहले उन्होंने कॉन्ग्रेस के टिकट पर 1985 में पहली बार चुनाव जीता था। उन्होंने कॉन्ग्रेस और ‘भारतीय क्रांति दल’ के टिकट पर 1993 और 1996 में चुनाव जीता था। फिर वो रालोद के टिकट पर लगातार 2 बार 2002 और 2007 में विधायक बने। हालाँकि, उनकी मौत के बाद बेटे को दो बार हार का मुँह देखना पड़ा। अब वो फिर से मैदान में हैं। रालोद के अलावा बसपा से भी वो अपनी किस्मत आजमा चुके हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस भोजशाला को मुस्लिम कहते हैं कमाल मौलाना मस्जिद, वह मंदिर ही है: ASI ने हाई कोर्ट को बताया- मंदिरों के हिस्से पर बने...

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट को सौंपी गई रिपोर्ट में ASI ने कहा है कि भोजशाला का वर्तमान परिसर यहाँ पहले मौजूद मंदिर के अवशेषों से बनाया गया था।

भारतवंशी पत्नी, हिंदू पंडित ने करवाई शादी: कौन हैं JD वेंस जिन्हें डोनाल्ड ट्रम्प ने चुना अपना उपराष्ट्रपति उम्मीदवार, हमले के बाद पूर्व अमेरिकी...

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को रिपब्लिकन पार्टी के नेशनल कंवेंशन में राष्ट्रपति और सीनेटर JD वेंस को उपराष्ट्रपति उम्मीदवार चुना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -