Tuesday, July 27, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनमहेश भट्ट की फिल्म सड़क 2 में हिन्दू आस्था को अपमानित करने का आरोप:...

महेश भट्ट की फिल्म सड़क 2 में हिन्दू आस्था को अपमानित करने का आरोप: VHP ने की कार्रवाई की माँग

"महेश भट्ट के निर्देशन में बनी फिल्म सड़क 2 में एक बार फिर हिन्दू आस्था को अपमानित किया गया है जिसे हॉटस्टार में दिखाया जाएगा, फिल्म में केवल नेपोटिज्म के प्रोडक्ट्स भरे पड़े हैं, जिन्हें महेश भट्ट आगे बढ़ा रहे हैं। केन्द्र सरकार इस पर कार्यवाही करे।"

बॉलीवुड निर्देशक महेश भट्ट निर्देशित फिल्म ‘सड़क-2’ रिलीज से पहले ही विवादों में आ गई है। बता दें कि यह आलिया भट्ट की पहली होम प्रोडक्शन फिल्म है और उनके पिता महेश भट्ट की 21 साल बाद निर्देशक के रूप में वापसी भी है।

फिल्म को लेकर विश्व हिन्दू परिषद ने बड़ा गंभीर आरोप लगाया है। वहीं फिल्म की स्टारकास्ट को लेकर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। अब वीएचपी नेता विजय शंकर तिवारी ने फिल्म ‘सड़क-2’ को लेकर हिन्दू आस्था को अपमानित करने का आरोप लगाया है।

बॉलीवुड में अक्सर पंडितों और साधु-संतों को धोखेबाज और बलात्कारी दिखाया जाता रहा है जबकि संप्रदाय विशेष के किरदारों को ईमानदार और देश के लिए मर-मिटने वाला प्रदर्शित किया जाता रहा है। इसी तरह ‘सड़क-2’ में भी महेश भट्ट एक ऐसी कहानी लेकर आ रहे हैं, जिसमें एक साधु को बुरा दिखाया जाएगा और उसके काले कृत्यों का खुलासा किया जाएगा।

वीएचपी नेता विजय शंकर तिवारी ने ट्वीट करते हुए लिखा, “महेश भट्ट के निर्देशन में बनी फिल्म सड़क 2 में एक बार फिर हिन्दू आस्था को अपमानित किया गया है जिसे हॉटस्टार में दिखाया जाएगा, फिल्म में केवल नेपोटिज्म के प्रोडक्ट्स भरे पड़े हैं, जिन्हें महेश भट्ट आगे बढ़ा रहे हैं। केन्द्र सरकार इस पर कार्यवाही करे।”

संजय दत्त, आलिया भट्ट और आदित्य रॉय कपूर अभिनीत फिल्म “नकली साधु” के साथ नायक की मुठभेड़ के चारों ओर घूमती है। इस फिल्म में आलिया भट्ट का किरदार एक ऐसी महिला का होगा, जो एक ‘फेक बाबा’ से पंगा लेती है। दिखाया जाएगा कि दुनिया के सामने अच्छा बना रहे वाला गुरु कितना बड़ा अपराधी है और उसका असली चेहरा कुछ और है। ये आलिया बनाम एक आश्रम चलाने वाले बाबा की कहानी है। संजय दत्त का किरदार बाबा को ‘एक्सपोज’ करने में आलिया की मदद करेगा।

पिछले महीने, जब फिल्म का पोस्टर जारी किया गया था, तब भी विवादों में घिर गई थी। उस समय बिहार के मुजफ्फरपुर में एक अदालत के समक्ष दायर शिकायत में, फिल्म निर्माता महेश भट्ट और मुकेश भट्ट, अभिनेत्री आलिया भट्ट के अलावा, पोस्टर के माध्यम से ‘हिंदू भावनाओं को आहत’ करने का आरोप लगाया गया था।

फिल्म में कैलाश पर्वत के फोटो पर सड़क 2 लिखकर वायरल किया गया है जिसे हिन्दुओं की धार्मिक भावना को ठेस पहुँचाने को लेकर परिवाद दाखिल किया गया है। शिकायतकर्ता ने बताया कि फिल्म निर्देशक महेश भट्ट, निर्माता मुकेश भट्ट अभिनेत्री आलिया भट्ट पर फिल्म सड़क 2 में कैलाश पर्वत की तस्वीर को लेकर फोटो दिखाया गया है। उन्होंने कहा कि कैलाश पर्वत हिन्दुओं के लिए धर्मिक रूप से महत्वपूर्ण है इसलिए इन लोगों पर केस दाखिल हुआ है।

वीएचपी नेता विजय शंकर तिवारी ने एक अन्य ट्वीट में इस तरफ ध्यान दिलाया कि किस तरह से महेश भट्ट की यह फिल्म भाई-भतीजावाद का समर्थन करती है। उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है, “सुनील दत्त के बेटे हैं संजय दत्त, महेश भट्ट की बेटियाँ हैं पूजा और आलिया, सिद्धार्थ रॉय कपूर के भाई हैं आदित्य, इन सबकी फिल्म है सड़क-2, जो आज रिलीज हुई है, अब महेश भट्ट को बताना होगा कि तुम्हारा और तुम्हारी फिल्म का हश्र खान ब्रदर्स जैसा ही होगा। यही नेपोटिज्म है।”

फिल्म का पहला पोस्टर रिलीज होने के बाद भी आलिया भट्ट और महेश भट्ट को सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल किया गया था। कई यूजर्स ने फिल्म को 2020 का अगला डिजास्टर बताते हुए फिल्म के बॉयकॉट की बात कही थी और अभी भी सोशल मीडिया पर ऐसे ही रिएक्शन देखने को मिल रहे हैं।

सोशल मीडिया पर भी इस दौरान ‘अनइंस्टॉल हॉटस्टार’ ट्रेंड होता रहा क्योंकि लोगों का कहना है कि इस फिल्म में केवल नेपोटिज्म के प्रोडक्ट्स भरे पड़े हैं, जिन्हें महेश भट्ट आगे बढ़ा रहे हैं। चूँकि इसे ‘डिजनी हॉटस्टार’ पर रिलीज किया जाना है, इसीलिए इसका विरोध हो रहा है। सोशल मीडिया में कई लोगों ने हॉटस्टार को अनइंस्टॉल कर के स्क्रीनशॉट्स भी शेयर किए। 

सोशल मीडिया पर हर तरफ आलिया भट्ट की फिल्म को बॉयकॉट करने की माँग उठ रही है। सोशल मीडिया पर सड़क 2 को लेकर मुहिम शुरू कर दी गई है। फिल्म के खिलाफ #BoycottBollywoodFilms ट्रेंड कर रहा है। नेपोटिज्म को लेकर हर कोई आलिया पर निशाना साध रहा है और उनकी आने वाली फिल्म को फ्लॉप बोल रहा है।

वहीं दूसरी तरफ एक्ट्रेस ने ट्रोल्स से परेशान हो कर अपना कमेंट सेक्शन बंद कर रखा है, जिसे लेकर भी उन्हें ट्रोल किया जा रहा है। हर कोई उनसे सवाल कर रहा है कि आखिर उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स के कमेंट सेक्शन बंद क्यों कर रखा है।

बता दें कि 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत बांद्रा के अपने घर में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी। 8 जून को उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान ने आत्महत्या की थी। खुलासा हुआ है कि इसी दिन सुशांत का घर उनकी गर्लफ्रेंड रिया चकवर्ती ने छोड़ा था। 8 से 13 जून के बीच महेश भट्ट और रिया चकवर्ती के बीच फोन पर कई बार बात हुई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe