Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजसड़क पर बस रोककर पढ़वाई नमाज… शिकायत के बाद कंडक्टर की सेवा समाप्त, ड्राइवर...

सड़क पर बस रोककर पढ़वाई नमाज… शिकायत के बाद कंडक्टर की सेवा समाप्त, ड्राइवर सस्पेंड: UP पुलिस कर रही केस की जाँच, Video वायरल

रोडवेज बस रोक कर नमाज़ पढ़ाने जाने के मामले में बरेली डिपो के बस ड्राइवर को सस्पेंड कर दिया है। इसी बस के कंडक्टर के अनुबंध को भी खत्म कर दिया गया है। रामपुर पुलिस ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए वीडियो की जाँच शुरू कर दी है और कानूनी कार्रवाई किए जाने की बात कही है।

उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग ने रोडवेज बस रोक कर नमाज़ पढ़ाने जाने के मामले में बरेली डिपो के बस ड्राइवर को सस्पेंड कर दिया है। इसी बस के कंडक्टर के अनुबंध को भी खत्म कर दिया गया है। रामपुर पुलिस ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए वीडियो की जाँच शुरू कर दी है और कानूनी कार्रवाई किए जाने की बात कही है। यह मामला शनिवार (3 जून 2023) का है जिसके वायरल वीडियो में 2 नमाज़ियों को नमाज़ पढ़ाने के लिए पूरी बस को रोक दिया गया था। विश्व हिन्दू परिषद ने भी मामले में कड़ी कार्रवाई की माँग की है।

क्या था पूरा मामला

शनिवार (3 जून 2023) को यह जनरथ बस बरेली से गाजियाबाद के कौशाम्बी स्टॉप तक जा रही थी। शनिवार (4 जून 2023) को सत्येंद्र नाम के एक व्यक्ति ने खुद को बस यात्री बता कर परिवहन विभाग मुख्यालय को एक शिकायती ट्वीट किया। अपनी शिकायत के समर्थन में सत्येंद्र ने टिकट के साथ एक वीडियो भी अटैच किया था। इस वीडियो में इस्लामी वेशभूषा में सड़क पर 2 लोगों को नमाज़ पढ़ते देखा जा सकता है। बस के यात्री कंडक्टर से नमाज़ के लिए यात्रा रोके जाने का विरोध करते दिखाई दे रहे हैं। हालाँकि इन सभी के जवाब में कंडक्टर उन्हें हिन्दू-मुस्लिम न करने की नसीहत देता दिखाई दे रहा है।

अपने ट्वीट में सत्येंद्र ने लिखा, “रात मैंने बरेली से दिल्ली के लिए उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग की जनरथ बस ली। जिस का प्रस्थान समय 7pm था। बस 8:25 pm में रुकी। मैंने जा कर देखा कि 2 मुस्लिम बस से उतरे और बस के सामने बैठ कर नमाज़ पढ़ने लगे। मैने बरेली डिपो के ARM,SM,RM से शिकायत की है। सत्येंद्र की इस शिकायत पर बरेली डिपो के ARM ने अगले दिन 5 जून 2023 (सोमवार) को कार्रवाई की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बस पर कार्यरत ड्राइवर कृष्ण पाल सिंह को निलंबित कर दिया गया है और कंडक्टर मोहित यादव की संविदा समाप्त कर दी गई है। ARM के मुताबिक कंडक्टर मोहित यादव ने घटना को स्वीकार करते हुए इसे अपनी भूल माना।

वहीं वायरल हुए इसी वीडियो पर रामपुर पुलिस ने भी जाँच जारी होने की जानकारी दी है। जिस स्थान पर बस को रोका गया था वो जगह रामपुर के मिलक क्षेत्र में पड़ती है। रामपुर पुलिस के मुताबिक ड्राइवर और कंडक्टर से पुलिस बातचीत कर रही है। मामले की जाँच मिलक सर्किल के डिप्टी SP को सौंपे जाने की जानकारी देते हुए पुलिस ने कानूनी कार्रवाई किए जाने की भी बात कही है।

विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने भी इस मामले को अति बताया है। उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए सभी आरोपितों पर कठोर एक्शन की माँग की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

प्रयागराज, धनबाद, भीलवाड़ा, श्रीनगर… कहीं भगवा को रौंदा, कहीं चले पत्थर, कहीं लहराया फिलिस्तीन का झंडा: मुहर्रम पर ताजिए का जुलूस ही नहीं निकला,...

मुहर्रम के मौके पर देश के अलग-अलग इलाकों से हिंसा की खबरें आई। प्रयागराज में एक हिन्दू परिवार पर हमला हुआ, बरेली में पुलिस पर पथराव किया गया।

नई नहीं है दुकानों पर नाम लिखने की व्यवस्था, मुजफ्फरनगर पुलिस ने काँवड़िया रूट पर मजहबी भेदभाव के दावों को किया खारिज: जारी की...

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में पुलिस ने ताजी एडवायजरी जारी की है, जिसमें दुकानों और होटलों पर मालिकों के नाम लिखने को ऐच्छिक कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -