Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजपहले PM मोदी की हत्या की बात, अब विक्ट्री साइन दिखा बताया विचारधारा की...

पहले PM मोदी की हत्या की बात, अब विक्ट्री साइन दिखा बताया विचारधारा की लड़ाई: कॉन्ग्रेस नेता राजा पटेरिया को जमानत नहीं

दिग्विजय सिंह सरकार में मंत्री रह चुके पटेरिया ने कोर्ट से बाहर निकलते हुए मीडियाकर्मियों को विक्ट्री साइन दिखाया और इसे विचारधारा की लड़ाई बताया।

मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस के नेता और पूर्व मंत्री राजा पटेरिया को जमानत देने से कोर्ट ने इनकार कर दिया है। उनका एक वीडियो सामने आया था जिसमें वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की बात कर रहे थे। पटेरिया को मंगलवार (13 दिसंबर 2022) सुबह गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया। अदालत ने जमानत से इनकार करते हुए 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। वहीं, उनकी पार्टी ने भी उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब देने को कहा है।

हालाँकि, दिग्विजय सिंह सरकार में मंत्री रह चुके पटेरिया को इस बात का कोई अफसोस नहीं है। जमानत याचिका खारिज होने के बाद कोर्ट से बाहर निकलते हुए कॉन्ग्रेस नेता पटेरिया ने मीडियाकर्मियों को विक्ट्री साइन दिखाया और इसे विचारधारा की लड़ाई बताया। उन्होंने कहा, “यह विचारधारा की लड़ाई है। मैंने ये शब्द नहीं कहे हैं। मैं महात्मा गाँधी का अनुयायी हूँ।”

दरअसल, कॉन्ग्रेस के पूर्व मंत्री राजा पटेरिया का वायरल वीडियो सामने आने के बाद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए थे। उनके खिलाफ पन्ना के पवई पुलिस थाने में IPC की धारा 451, 504, 505 (1-B), 505 (1-C), 506, 153-B (1)(C) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

वायरल वीडियो में पटेरिया ने कहा था कि ‘पीएम मोदी की हत्या के लिए तत्पर रहो’। उन्होंने कहा, “मोदी चुनाव खत्म कर देगा, वो धर्म, जाति, भाषा के आधार पर बाँट देगा। दलितों का, वनवासियों का और अल्पसंख्यकों का भावी जीवन खतरे में है। संविधान यदि बचाना है तो मोदी की हत्या करने पर तत्पर रहो।” वीडियो में साफ सुना जा सकता है कि पहले पटेरिया ने हत्या की बात कही और उसके बाद उसे संभालते हुए बोले, “मोदी की हत्या का मतलब मोदी को हराने के लिए तैयार रहो। कार्यकर्ता की उपेक्षा नेता की उपेक्षा होती है।”

बता दें कि वीडियो वायरल होने के बाद राजा ने अपनी सफाई देते हुए कहा था कि उनके कहने का मतलब था कि चुनाव में मोदी को हराओ। उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाइडेन बाहर, कमला हैरिस पर संकट: अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में ओबामा ने चली चाल, समर्थन पर कहा – भविष्य में क्या होगा, कोई नहीं...

अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों की दौड़ से बाइडेन ने अपना नाम पीछे लिया तो बराक ओबामा ने उनकी तारीफ की और कमला हैरिस का समर्थन करने से बचते दिखे।

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -