Saturday, July 24, 2021
HomeराजनीतिBJP पैसे दे तो ले लो... वोट TMC के लिए करो: 'अकेली महिला ममता...

BJP पैसे दे तो ले लो… वोट TMC के लिए करो: ‘अकेली महिला ममता बहन’ को मिला शरद पवार का साथ

"अकेली महिला ममता बहन के खिलाफ BJP पूरी ताकत लगा रही है। जनता को यह सुनिश्चित करना होगा कि भाजपा के हाथ में सत्ता नहीं जाए, फिर से बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार बने।"

पश्चिम बंगाल में चुनावी सरगर्मी चरम पर पहुँच चुकी है। अब चुनावी रैलियों के जरिए एक-दूसरे को धराशायी करने के लिए पूरी ताकत झोंकी जा रही है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी पहली चुनावी रैली कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में की। वहीं दूसरी तरफ सिलिगुड़ी में टीएमस प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक जनसभा को संबोधित किया।

इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए जहाँ एक ओर पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और तृणमूल कॉन्ग्रेस पर जमकर हमला बोला। वहीं ममता बनर्जी ने पीएम मोदी के सभी आरोपों का जवाब दिया। पीएम मोदी ने कोलकाता में ममता के अलावा कॉन्ग्रेस और लेफ्ट गठबंधन पर भी जम कर निशाना साधा।

पीएम मोदी के आरोपों का जवाब देते हुए सिलिगुड़ी से ममता बनर्जी ने कहा, “खेला होबे! हम खेलने के लिए तैयार हैं। मैं आमना-सामना करने के लिए तैयार हूँ। अगर वे (भाजपा) वोट खरीदना चाहते हैं तो पैसे ले लो और वोट टीएमसी के लिए करो।”

उन्होंने इससे आगे पीएम मोदी को जवाब देते हुए कहा, “पोरिबर्तन (परिवर्तन) होगा, लेकिन बंगाल में नहीं, बल्कि दिल्ली में होगा। वे (पीएम मोदी) कहते हैं कि बंगाल में महिलाएँ सुरक्षित नहीं हैं, लेकिन पहले भाजपा शासित बिहार, उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों का हाल देखें।”

पीएम मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि बंगाल में महिलाएँ सुरक्षित नहीं हैं, हर दिन यहाँ पर महिलाओं पर अत्याचार की घटनाएँ घट रही हैं। इसके अलावा भाजपा ने बंगाल में ‘असल परिवर्तन’ का नारा दिया है।

ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर सब कुछ बेचने का आरोप लगाते हुए कहा, “दिल्ली को बेच दिया, डिफेंस, एयर इंडिया, BSNL जैसे तमाम संस्थानों को बेच दिया, कल ताजमहल भी बेच देंगे। कहते थे सोनार बंगला बनाएँगे। पटेल जी के नाम वाले स्टेडियम का नाम बदल कर अपने नाम पर कर दिया। जब कोरोना काल था, तब मैं तो घूम रही थी, मोदी बताएँ वो कहाँ थे।”

TMC प्रमुख ने आगे कहा कि उज्ज्वला की रोशनी कहाँ गई? देश में सिर्फ एक सिंडिकेट है और वो है मोदी और अमित शाह। ये सिंडिकेट BJP की भी नहीं सुनता। उज्ज्वला को लेकर कैग की रिपोर्ट कहती है कि घपला हुआ। मोदी के लोगों ने पैसे खाए हैं। 

वहीं झारखंड के राँची स्थित हरमू मैदान में राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी की जनसभा को संबोधित करने पहुँचे शरद पवार ने तृणमूल कॉन्ग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पक्ष लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर निशाना साधा।

शरद पवार ने कहा कि केंद्रीय जाँच एजेंसियों का इस्तेमाल ममता बनर्जी के खिलाफ किया जा रहा है। ऐसे में आम जनता को यह सुनिश्चित करना होगा कि भारतीय जनता पार्टी के हाथ में सत्ता नहीं आए और एक बार फिर बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार बने। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार दस साल से सत्ता में रहने वाली अकेली महिला ममता बहन के खिलाफ पूरी ताकत लगा रही है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में रैली को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि बंगाल ने परिवर्तन के लिए ममता दीदी पर भरोसा किया था। लेकिन दीदी ने ये भरोसा तोड़ दिया। इन लोगों ने बंगाल का विश्वास तोड़ा। इन लोगों ने बंगाल को अपमानित किया।

PM ने आरोप लगाया कि बंगाल की बहन-बेटियों पर अत्याचार किया गया, लेकिन ये लोग बंगाल की उम्मीद कभी नहीं तोड़ पाए। उन्होंने कहा कि इस बार के विधानसभा चुनाव में एक तरफ TMC है, लेफ्ट-कॉन्ग्रेस है, उनका बंगाल विरोधी रवैया है, और दूसरी तरफ खुद बंगाल की जनता कमर कसकर खड़ी हो गई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NH के बीच आने वाले धार्मिक स्थलों को बचाने से केरल HC का इनकार, निजी मस्जिद बचाने के लिए राज्य सरकार ने दी सलाह

कोल्लम में NH-66 के निर्माण कार्य के बीच में धार्मिक स्थलों के आ जाने के कारण इस याचिका में उन्हें बचाने की माँग की गई थी, लेकिन केरल हाईकोर्ट ने इससे इनकार कर दिया।

कीचड़ मलती ‘गोरी’ पत्रकार या श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग… समाज/मदद के नाम पर शुद्ध धंधा है पत्रकारिता

श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग और जलती चिताओं की तस्वीरें छापकर यह बताने की कोशिश की जाती है कि स्थिति काफी खराब है और सरकार नाकाम है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe