Monday, August 2, 2021
Homeसोशल ट्रेंडTikTok पर अब मुजीबुर का रेप वाला वीडियो, कल था फैजल का एसिड अटैक:...

TikTok पर अब मुजीबुर का रेप वाला वीडियो, कल था फैजल का एसिड अटैक: NCW अध्यक्ष ने कहा- बैन करे सरकार

जब मुजीबुर अपनी पैंट की जिप बंद कर करता है, तब उसके हाव-भाव को देखिए। और तब वीडियो के बैकग्राउंड में राहत फ़तेह अली ख़ान का 'चाहत' वाला गाना बज रहा है, जिसके बोल हैं- "तेरी रूह पे, तेरे जिस्म पे- बस हक़ है इक मेरा।"

चाइनीज सोशल मीडिया ऐप टिक-टॉक (TikTok) पर रेप के महिमामंडन का वीडियो वायरल हो रहा है। टिक-टॉक (TikTok) पर वायरल हुए इस वीडियो में दो लड़के अपने कपडे पहन रहे हैं, पैंट की चेन लगा रहे हैं और दूसरी तरफ एक लड़की रोती हुई दिखती है। लड़की भी अपने कपड़े सही कर रही होती है।

मुजीबुर रहमान के इस वीडियो के बैकग्राउंड में राहत फ़तेह अली ख़ान का ‘ब्लड मनी’ फिल्म में गया गाना ‘चाहत’ बज रहा है, जिसके बोल हैं- ‘तेरी रूह पे, तेरे जिस्म पे- बस हक़ है इक मेरा।‘ वीडियो को लेकर विरोध शुरू हो गया है।

रेप को ग्लोरिफ़ाई करने वाले इस वीडियो को देख कर सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा उबल पड़ा। ट्विटर यूजर आदित्य ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा कि मुजीबुर रहमान और उसके साथियों द्वारा शूट किया गया वीडियो ये दिखाने की कोशिश है कि रेप कितना ‘कूल’ है।

उसे लिखा कि जब मुजीबुर अपनी पैंट की जिप बंद कर करता है, तब उसके हाव-भाव को देखिए। दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने तुरंत राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा को टैग कर के इस वीडियो की सूचना दी।

उन्होंने लिखा कि महिला आयोग को इस शर्मनाक वीडियो को देखना चाहिए और एक्शन लेना चाहिए। रेखा शर्मा ने लिखा कि ये उनकी प्रबल सोच है कि टिक-टोक (TikTok) को भारत में प्रतिबंधित किया जाना चाहिए।

उन्होंने भरोसा दिलाया कि वो जल्द ही इस सम्बन्ध में भारत सरकार को लिखेंगी। उन्होंने लिखा कि ऐसे आपत्तिजनक वीडियोज न सिर्फ़ युवाओं को एक निरर्थक ज़िंदगी की तरफ धकेल रहे हैं बल्कि वो फॉलोवरों के लिए ही जी रहे हैं और मर रहे हैं।

इससे पहले  टिक-टॉक (TikTok) पर फैज़ल सिद्दीकी ने एक वीडियो डाला था। फैज़ल के फॉलोवरों की संख्या 1.34 करोड़ है। इस वीडियो में फैज़ल कहता है- “उसने तुम्हें छोड़ दिया, जिसके लिए तुमने मुझे छोड़ा था?” इसके बाद लड़की के चेहरे पर एक लिक्विड फेंका जाता है और उसका चेहरा पूरा जल जाता है। उसे एसिड अटैक को प्रमोट किया था। इस मामले में फैज़ल सिद्दीकी के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई है। वकील अभिषेक राजपूत ने एफआईआर की कॉपी ट्विटर पर शेयर की थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe