Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाज15 मौतें, 705 गिरफ्तारियाँ, 57 पुलिसकर्मियों को लगी गोली: यूपी में CAA पर हिंसा...

15 मौतें, 705 गिरफ्तारियाँ, 57 पुलिसकर्मियों को लगी गोली: यूपी में CAA पर हिंसा का हर डिटेल

आईजी के अनुसार पथराव, आगजनी में 263 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इनमें 57 पुलिसकर्मियों को गोली लगी है। इस पूरी हिंसा में 15 लोगों की मौत हुई है। जाँच में पुलिस ने नॉन प्रतिबंधित बोर के 405 खोखे बरामद किए हैं।

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध के नाम पर प्रदेश में हुई हिंसा को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है। उपद्रवियों की पहचान कर एफआईआर दर्ज करने और उन्हें गिरफ्तार का सिलसिला जारी है।

यूपी पुलिस के अनुसार राज्य में विरोध प्रदर्शनों के दौरान हिंसा में अब तक 15 लोगों की मौत हुई है। हिंसा को लेकर अलग-अलग जिलों के थानों में 124 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। 705 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। करीब 4500 लोगों को हिरासत में लेने के बाद छोड़ दिया गया है।

राज्य के पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रवीण कुमार ने शनिवार (दिसंबर 21, 2019) को मीडिया से बात करते हुए ये आँकड़ें सार्वजनिक किए। उन्होंने बताया कि सीएए को लेकर लगातार हो रहे विरोध-प्रदर्शनों में अब तक 124 एफआईआर दर्ज की गई है। 705 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 4500 लोगों को निरोधात्मक कार्रवाई के तहत हिरासत में लिया गया।

आईजी के अनुसार पथराव, आगजनी में 263 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इनमें 57 पुलिसकर्मियों को गोली लगी है। इस पूरी हिंसा में 15 लोगों की मौत हुई है। जाँच में पुलिस ने नॉन प्रतिबंधित बोर के 405 खोखे बरामद किए हैं।

गौरतलब है कि सड़कों पर उतरे उपद्रवियों के अलावा सोशल मीडिया पर भी इस समय यूपी पुलिस ने कड़ी निगरानी बनाई हुई है। आईजी प्रवीण कुमार ने मीडिया से बातचीत में बताया कि सोशल मीडिया के 14,101 आपत्तिजनक पोस्टों से संबंधित लोगों पर कार्रवाई की गई है। इनमें टि्वटर की 5965, फेसबुक की 7995 और यूट्यूब की 142 आपत्तिजनक पोस्टों पर कार्रवाई की गई है। इनमें 63 एफआईआर दर्ज की गई हैं, वहीं 102 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, इनके अलावा 442 पाबंद किए गए हैं।

25-30 पुलिस वालों को दुकान में बंद कर जिंदा जलाने का प्रयास: नमाज के बाद हापुड़ में उपद्रवियों का तांडव

कानपुर में CAA पर हिंसा: दंगाइयों ने पुलिस पर तेज़ाब और पेट्रोल बम से किया हमला, 50 गिरफ़्तार-12 को लगी गोली

जामिया दंगों में जो मिन्हाजुद्दीन हुआ घायल, उसे AAP विधायक अमानतुल्लाह ने दिया ₹5 लाख और सरकारी नौकरी

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तालिबान ने कंधारी कॉमेडियन की हत्या से पहले थप्पड़ मारने का वीडियो किया शेयर, जमीन पर कटा मिला था सिर

"वीडियो में आप देख सकते हैं कि कंधारी कॉमेडियन खाशा का पहले तालिबानी आतंकियों ने अपहरण किया। फिर इसके बाद आतंकियों ने उन्हें कार के अंदर कई बार थप्पड़ मारे और अंत में उनकी जान ले ली।"

समर्थन ले लो… सस्ता, टिकाऊ समर्थन: हर व्यक्ति, संस्था, आंदोलन और गुट के लिए है राहुल गाँधी के पास झऊआ भर समर्थन!

औसत नेता समर्थन लेकर प्रधानमंत्री बनता है, बड़ा नेता बिना समर्थन के बनता है पर राहुल गाँधी समर्थन देकर बनना चाहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,488FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe