Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाज'रुक मादर...' वाले वामपंथी गुंडों से ABVP के शिवम ने ऐसे बचाई जान, शेयर...

‘रुक मादर…’ वाले वामपंथी गुंडों से ABVP के शिवम ने ऐसे बचाई जान, शेयर किया Video Viral

शिवम इस दौरान अपनी जान बचाने के लिए एक जूस की दुकान में घुसे। लेकिन,कम्यूनिस्टों ने उन्हें पकड़ने के लिए पहले दुकान में तोड़फोड़ कर दी और फिर उनकी वहाँ मॉब लिंचिंग करने की कोशिश हुई। इस हमले में उनका सिर फट गया।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में रविवार को हुई घटना के बाद सोशल मीडिया पर जोर-शोर से आरएसएस के छात्र संघ एबीवीपी को पूरे वाकये के लिए जिम्मेदार ठहराया गया। हर ओर से भाजपा, आरएसएस, एबीवीपी की आलोचना हुई। लेकिन अगली ही सुबह लेफ्ट की करतूतों का पर्दाफाश करती कई वीडियोज और तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने लगीं। इसी क्रम में एबीवीपी ने भी कल देर रात एक वीडियो जारी किया और दावा किया कि जेएनयू कैंपस में छात्रों एवं कार्यकर्ताओं के साथ लेफ्ट के लोग बदसलूकी करते हैं, मारपीट करते हैं।

एबीवीपी द्वारा वीडियो जारी करते हुए लेफ्ट पर आरोप लगाए गए कि वीडियो में एबीवीपी कार्यकर्ता शिवम को पहले दौड़ाकर उसका पीछा किया गया, फिर उन पर बर्बरता से हमला हुआ। एबीवीपी के मुताबिक अगर जेएनयू में कोई छात्र अधिकारों के लिए खड़ा होता है, तो वामपंथी यही सब करते हैं।

इस वीडियो के बाद सोशल मीडिया पर एबीवीपी की ओर से हमले में घायल हुए शिवम की कुछ तस्वीरें भी शेयर की गईं। जिनमें दावा किया गया कि वामपंथी गुंडो द्वारा किए गए हमले में शिवम के सिर पर, गले पर चोटें आई हैं।

बता दें कि एबीवीपी की तरह इस वीडियो को एबीवीपी की राष्ट्रीय सचिव निधी त्रिपाठी ने भी शेयर किया है। जिन्होंने अपने ट्वीट में शिवम के साथ हुई घटना पर जानकारी दी है। उनके मुताबिक शिवम को कन्यूनिस्टों ने रविवार की दोपहर दौड़ाकर मारा। निधी के अनुसार, शिवम इस दौरान अपनी जान बचाने के लिए एक जूस की दुकान में घुसे। लेकिन,कम्यूनिस्टों ने उन्हें पकड़ने के लिए पहले दुकान में तोड़फोड़ कर दी और फिर उनकी वहाँ मॉब लिंचिंग करने की कोशिश हुई। इस हमले में उनका सिर फट गया। इस बात की जानकारी खुद चश्मदीदों ने दी।

गौरतलब है कि इन तस्वीरों को साझा करते हुए एबीवीपी द्वारा वामपंथी संगठनों को बैन करने की भी माँग उठाई गई। एबीवीपी ने कहा कि वामपंथी संगठनों को बंद करने से परिसर हिंसा-मुक्त हो जाएगा। साथ ही बच्चे अपनी शिक्षा और समग्र विकास पर ध्यान केंद्रित कर पाएँगे।

JNU की जिस प्रेसिडेंट का रात में फूटा माथा, दिन में वो खुद नक़ाबपोश हमलावरों के साथ थीं – Video Viral

JNU हिंसा का इंटरनेशनल कनेक्शन, घायल छात्रा ने खोली पोल: शॉल में पत्थर छिपाए दंगाइयों ने मचाया आतंक

JNU में हमला कर रही नकाबपोश गुंडी ABVP कार्यकर्ता नहीं है, फैलाया जा रहा झूठ: Fact Check

500 नक्सली JNU में घुस आए थे, जान बचा कर जंगलों से भागा: BPSC अफसर की आपबीती

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -