Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिहिंदुओं के 40 साल तक अवैध पार्टनर, मुस्लिम फॉर्मूला से 18 साल में लड़की...

हिंदुओं के 40 साल तक अवैध पार्टनर, मुस्लिम फॉर्मूला से 18 साल में लड़की की शादी करो… उपजाऊ जमीन में बीज बोओ: बदरुद्दीन अजमल

"हिंदू लड़कियों की शादी 40 साल की उम्र में भी नहीं होती। हिन्दू 40 साल की उम्र तक अवैध पार्टनर रखते हैं। हिंदुओं को मुस्लिम फॉर्मूले को स्वीकार करना चाहिए... उपजाऊ जमीन में बीज बोएँगे, तभी खेती अच्छी होगी।"

ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के नेता बदरुद्दीन अजमल ने हिंदुओं को लेकर बेहद विवादित बयान दिया है। जनसंख्या वृद्धि पर बदरुद्दीन ने कहा कि मुस्लिम लड़कियों की शादी 18 साल की उम्र में हो जाती है, लेकिन हिंदू लड़कियों की शादी 40 साल की उम्र तक नहीं होती। हिंदू 40 साल के बाद शादी करते हैं, तब तक बच्चा पैदा करने की क्षमता नहीं रहती।

एआईयूडीएफ प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने हिंदुओं को नसीहत दी कि उन्हें मुस्लिमों की तरह अपनी लड़कियों की शादी 18 साल की उम्र में कर देनी चाहिए। बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि मुस्लिम लड़कियों की शादी 18 साल की उम्र में हो जाती है, लेकिन हिंदू लड़कियों की शादी 40 साल की उम्र में भी नहीं होती। हिन्दू 40 साल की उम्र तक अवैध पार्टनर रखते हैं। बच्चे नहीं पैदा करते और पैसे बचाते हैं।

बदरुद्दीन अजमल के अनुसार हिंदू 40 साल की उम्र के बाद माँ-बाप के दबाव में या कहीं फँस गए तो शादी करते हैं। सवालिया लहजे में इसके बाद वो कहते हैं कि 40 की उम्र के बाद बच्चा पैदा करने की सलाहियत (क्षमता) कहाँ रहती है।

अपनी बात जारी रखते हुए उन्होंने सलाह दिया कि हिंदुओं को मुस्लिम फॉर्मूले को स्वीकार करना चाहिए और अपने बच्चों की शादी 20-22 साल की उम्र में कर देनी चाहिए। उनके अनुसार 18-20 साल की उम्र में लड़कियों की शादी करा दो और फिर देखो कितने बच्चे पैदा होते हैं। बदरुद्दीन ने आगे कहा कि जब आप उपजाऊ जमीन में बीज बोएँगे, तभी खेती अच्छी होगी। उसके बाद तरक्की ही तरक्की होगी।

एआईयूडीएफ चीफ बदरुद्दीन अजमल इस दौरान बीजेपी पर भी निशाना साध रहे थे। बदरुद्दीन अजमल ने कहा, “बीजेपी सरकार मुसलमानों को हर जगह अलग-थलग करने में लगी हुई है। मोदी सरकार सिर्फ हिंदुओं को मजबूत बनाने का काम कर रही है।”

असम से भाजपा विधायक डी कलिता ने बदरुद्दीन अजमल के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कलिता ने कहा, “आप मुसलमान हो और हम हिन्दू। क्या हमें आपसे सीखना है? यह भगवान राम और देवी सीता का देश है। हमें मुसलमानों से सीखने की जरूरत नहीं है।”

भाजपा विधायक डी कलिता ने बदरुद्दीन अजमल को राजनीतिक फायदे के लिए इस तरह के बयान न देने की चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि या तो आप अपने माताओं और बहनों को कलंकित करने वाले बयान न दें और अगर ऐसे बयान देने हैं तो बांग्लादेश चले जाएँ। उन्होंने कहा कि हिंदू इस तरह के बयान बर्दास्त नहीं करेंगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -