Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाज2023 में हजारों ने फिर से अपनाया हिंदुत्व: कोई बकरी-कंबल के लालच में बना...

2023 में हजारों ने फिर से अपनाया हिंदुत्व: कोई बकरी-कंबल के लालच में बना था ईसाई, किसी ने कहा – इस्लाम मतलब बच्चा पैदा करने की मशीन

घर वापसी करने वाली एक ने कहा - "हिन्दू धर्म से अच्छा कोई धर्म हो ही नहीं सकता। इसमें भाई-बहन में शादियाँ नहीं होती। इसमें तीन तलाक नहीं होता।" सनातन में लौटी महिला ने सुनाई अपनी कहानी - ईसाई बनाने के लिए बकरी, कंबल दिया। लेकिन मंगलसूत्र पहनने से मना किया।

विकसित भारत के लक्ष्य के लिए देश अपने स्वर्णिम काल से गुजर रहा है। गुलामी की जंजीरों को लोग तोड़ रहे। आर्थिक उन्नति भी पूरी दुनिया में सबसे तेज अपने देश की ही है। इसका असर सामाजिक स्तर पर भी पड़ रहा है। इस्लामी और ईसाई धर्मांतरण रैकेट पर लोग चोट कर रहे। इनके जाल को तोड़ा जा रहा। प्रलोभन में आकर जो सनातन भाई-बंधु-भगिनी लोग इनके जाल में फँस गए थे, वो पुनः हिंदू बन रहे, अपनी जड़ों की ओर लौट रहे।

जिस विदेशी फंडिंग के सहारे इस्लामी और ईसाई धर्मांतरण का जाल बिछाया जाता था, उस पर सरकार ने प्रहार किया है। ऐसा नहीं है कि अभी कट्टर मजहबियों ने धर्मांतरण करना छोड़ दिया है, लेकिन अब चावल और दवाइयों के लालच में लोग कम फँस रहे। जो फँस गए हैं, वो भी आर्थिक उन्नति होने से अब ठगा हुआ महसूस करते हैं। जब यह बोध होता है, वो अपने वास्तविक सनातन धर्म को याद करते हैं। घर वापसी करते हैं।

धर्मांतरण की तमाम साजिशों के बीच साल 2023 में घर वापसी करने वाले ऐसे लोग और परिवार सैकड़ों हैं। पूरे साल हमने ऑपइंडिया पर ऐसी खबरों को प्राथमिकता से प्रकाशित भी किया। इन खबरों और इनकी कहानियों को अब एकसाथ लेकर आए हैं हम। अपने भूले-बिछड़ों का सनातन धर्म में स्वागत है!

दिसंबर 2023: कुल 5 घर वापसी

29 दिसंबर 2023: छत्तीसगढ़ के किलकिला धाम में भाजपा नेता और अखिल भारतीय घर वापसी प्रमुख प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने 8 परिवारों की सनातन में वापसी करवाई। इस दौरान उन्होंने हमेशा की तरह सभी लोगों के चरण पखारे। ये सभी लोग ईसाई मिशनरियों की लालच में आकर हिंदू धर्म छोड़ चुके थे। लेकिन अब वापस मिशनरियों की चालबाजी समझने के बाद इन्होंने दोबारा सनातन में लौटने का फैसला किया।

29 दिसंबर 2023: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में परिजनों के विरोध के बावजूद एक मुस्लिम लड़की ने अपने हिंदू प्रेमी के साथ विवाह किया है। इस युवती का नाम शाबिया है। घर वापसी के बाद उसका नाम सीता रखा गया है। पहले दोनों ने कोर्ट मैरिज का फैसला किया। लेकिन शाबिया के परिजनों ने वहाँ हंगामा कर दिया। इसके बाद बजरंग दल से जुड़े लोगों ने तांबेश्वर शिव मंदिर में दोनों की शादी करवाई।

25 दिसंबर 2023: छत्तीसगढ़ के कोरबा में धर्मांतरण का शिकार हुए 101 हिंदू परिवारों की विधि-विधान से घर वापसी कराई गई। भाजपा नेता प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने सभी के पैर धोकर उनका सम्मान किया। उन्होंने लिखा, “अपने पूर्वजों से पुनः जुड़ने पर आपने राष्ट्र को मजबूत किया है। हम गौरवांवित है। आपका स्वागत है, अभिनंदन है।”

11 दिसंबर 2023: मुस्लिम महिला निकहत ने कन्नौज के विधूना बाजार स्थित माँ दुर्गा के मंदिर में शुद्धीकरण के बाद हिन्दू धर्म अपना लिया। वो अब नेहा बन चुकी हैं। इसी के साथ नेहा (पहले की निकहत) ने हिमांशु नाम के एक हिन्दू युवक से शादी भी कर ली। निकहत का बेटा रिहान भी अब हिंदू माता-पिता के साथ पलेगा-बढ़ेगा।

7 दिसंबर 2023: उत्तर प्रदेश के सीतापुर में सूफ़िया नामक मुस्लिम लड़की ने घर-वापसी कर हिन्दू धर्म अपना लिया। सूफ़िया का नया नाम ‘अंजलि’ रखा गया है। हिन्दू धर्म अपनाने के बाद उन्होंने विजय को अपना जीवनसाथी चुना और टिकरा मंदिर में वैदिक रीति-रिवाज से शादी रचाई।

नवंबर 2023: कुल 4 घर वापसी

28 नवंबर 2023: उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में एक मुस्लिम लड़की ने घर-वापसी की है। घर-वापसी करने वाली लड़की का नाम आफरीन है, जो अब निशा नाम से जानी जाएँगी। निशा ने प्रिंस गुप्ता नाम के लड़के से वेदमंत्रों के बीच हिन्दू रीति-रिवाज़ से शादी भी कर ली है।

27 नवंबर 2023: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में एक मुस्लिम परिवार के 2 सदस्यों ने घर वापसी की है। आसिफ नाम का युवक घर वापसी करके अब आकाश चौहान बन चुका है जबकि उनकी बीवी सुमैया खातून अब प्रिया नाम से जानी जाएँगी। आसिफ ने कहा, “मुझे सनातन धर्म सबसे बढ़िया और पवित्र धर्म लगा। इस्लाम कोई धर्म नहीं है। आपस में ही शादी-वादी। वो सब बेकार है।”

11 नवंबर 2023: उत्तर प्रदेश के सीतापुर में मुस्कान सिद्दीकी नामक महिला ने न सिर्फ हिन्दू धर्म में घर-वापसी की, बल्कि हिन्दू लड़के से शादी भी रचाई। मुस्कान सिद्दीकी इसके साथ ही अब ‘मुस्कान मौर्या’ बन गई हैं। उन्होंने बताया है कि हमास आतंकियों द्वारा इजरायल की महिलाओं के साथ की गई क्रूरता को देखने के बाद उन्होंने घर-वापसी करने का निर्णय लिया।

7 नवंबर 2023: उत्तर प्रदेश के जौनपुर में 10 साल पहले हिन्दू से ईसाई बनाए गए 36 परिवारों ने घर वापसी की। घर वापसी करने वाले कुल लोगों की संख्या 310 है। इसमें इस्लाम को मानने वाले 5 अन्य परिवार के लोग भी शामिल हैं। इन सभी ने माना कि उन्होंने बहकावे में आकर हिन्दू धर्म छोड़ दिया था।

अक्टूबर 2023: कुल 6 घर वापसी

28 अक्टूबर 2023: दिल्ली की एक मुस्लिम लड़की ने घर-वापसी कर के हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया है। लड़की का नाम गुलफ्शा है, जो अब स्नेहा राजपूत नाम से जानी जाएँगी। गुलफ्शा ने हिंदू लड़के आकाश राजपूत से शादी की। इसके बाद उसे जान से मारने की धमकियाँ मिल रही हैं। गुलफ्शा ने FIR दर्ज करके यह बताया कि उसके अब्बा सुलेमान उस पर गंदी नजर डालते हैं।

28 अक्टूबर 2023: उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले की एक मुस्लिम लड़की ने घर-वापसी की है। लड़की का नाम फ़िज़ा जहाँ है, जो अब चाहत वाल्मीकि नाम से जानी जाएँगी। फ़िज़ा ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच अंकित को अपना जीवन साथी चुना। इस विवाह के दौरान फ़िज़ा ने ख़ुशी जाहिर की है और सनातन में पूरी आस्था जताई है।

11 अक्टूबर 2023: उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में एक मुस्लिम महिला ने घर वापसी कर हिन्दू धर्म अपना लिया। महिला का नाम खुशबू बानो था, जो अब खुशबू के नाम से जानी जाएँगी। खुशबू ने विशाल नाम के युवक से शादी भी कर ली। खुशबू के मुताबिक, उनके पूर्वज इस्लामी आक्रांताओं के अत्याचार से मुस्लिम बने थे।

4 अक्टूबर 2023: उत्तर प्रदेश के बरेली की रहने वाली शबाना ने हिंदू धर्म अपनाकर अपने प्रेमी अरविंद से शादी कर ली है। शबाना ने इस्लाम त्यागने के बाद अपना नाम बदलकर शिवानी कर लिया है। शिवानी बनी शबाना ने कहा कि इस्लाम में महिलाओं को बच्चा पैदा करने की मशीन माना जाता है। शिवानी का कहना है कि हिंदू धर्म में महिलाओं को सम्मान मिलता है।

2 अक्टूबर 2023: उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में उजमा नाम की मुस्लिम महिला ने घर वापसी करते हुए हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया है। उजमा का नया नाम उर्मिला रखा गया है। उर्मिला ने अगत्स्य मुनि आश्रम में वैदिक विधि-विधान से भागीरथ नाम के युवक से विवाह किया। उजमा ने बताया कि उन्हें हिंदू धर्म में बहुत विश्वास है और वो भगवान भोलेनाथ की भक्त हैं।

1 अक्टूबर 2023: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक बच्चे समेत 4 लोगों ने इस्लाम छोड़ हिंदू धर्म अपना लिया। तनवीर को ‘तुषार झा’, उनके बेटे हुसैन को ‘युवराज’ नाम दिया गया। वहीं इरशाद बने ‘गिरीश भारद्वाज’ जबकि मीना का नाम ‘सूरजमुखी’ रखा गया। घर-वापसी करने वाले लोगों का कहना है कि उनके पूर्वजों ने मजबूरी के चलते इस्लाम कबूल कर लिया था। अब गलती का एहसास होने के बाद वह फिर से हिंदू धर्म अपना रहे हैं।

सितंबर 2023: कुल 4 घर वापसी

24 सितंबर 2023: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में 10 परिवारों के 70 लोगों ने इस्लाम त्याग कर घर वापसी की। लगभग 10 साल पहले इन सभी को किसी मौलवी और मुस्लिम नेता द्वारा डरा-धमका कर और लालच देकर इस्लाम कबूल करवाया गया था। घर वापसी किए इन 70 लोगों में बच्चे, महिलाएँ, युवा और वृद्ध सभी लोग शामिल।

4 सितंबर 2023: उत्तराखंड के पौड़ी जिले में अरमान और इस्माइल नाम के 2 मुस्लिम भाइयों ने घर वापसी की। अरमान और इस्माइल की माँ हिन्दू थीं, उन्होंने मुस्लिम व्यक्ति से निकाह कर लिया था। 4 बच्चे पैदा करके वो सभी को बेसहारा छोड़ भाग गया था। अरमान और इस्माइल की माँ का कहना है कि उन्होंने कभी अपने बच्चों को मस्जिद नहीं भेजा। अरमान ने बताया कि वो जन्म से ही मन से हिन्दू थे।

3 सितंबर 2023: असम में अलीमा अख्तर नाम की एक महिला डॉक्टर ने हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया। उन पर एक मौलवी से निकाह का दबाव बनाया गया। इसके लिए घर वालों ने जन्नत का लालच दिया। डॉक्टर लड़की ने इसी वजह से खुद को अपने परिवार से दूर कर लिया, हिन्दू धर्म अपना लिया।

2 सितंबर 2023: उत्तर प्रदेश के नोएडा में एक मुस्लिम लड़की ने हिन्दू धर्म स्वीकार कर कुलदीप ठाकुर नाम के युवक से शादी कर ली। लड़की ने यह भी कहा कि अब उसे पुराने मजहब इस्लाम से कोई लेना-देना नहीं है।

जुलाई 2023: कुल 6 घर वापसी

30 जुलाई 2023: झारखंड के गुमला जिले में धर्मांतरण का शिकार हुए जनजातीय समाज के 20 लोगों ने घर वापसी कर ली। ईसाई मिशनरियों द्वारा चंगाई सभा में इन लोगों को बीमारी ठीक करने और इलाज कराने का लालच दिया गया। ईसाई बन जाने के बाद भी न तो कोई ठीक हुआ और न ही इलाज कराया गया। इसके बाद धर्मांतरित हुए लोगों को समझ आया कि यह सब अंधविश्वास था।

26 जुलाई 2023: उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में एक मुस्लिम युवती ने हिंदू युवक से शादी की। फरजाना नाम की युवती ने अपना नया नाम सरस्वती रखा है। फरजाना ने अपने विवाह को किसी भी प्रकार के दबाव व लालच से मुक्त बताया।

25 जुलाई 2023: उत्तर प्रदेश के शामली में शानम नामक मुस्लिम लड़की ने घर वापसी करते हुए हिंदू धर्म अपना लिया। इसके बाद उसने अपने प्रेमी रूपक से मंदिर में शादी कर ली। शानम अब शालिनी के नाम से जानी जाएगी। शालनी का कहना है कि उसके पूर्वज कभी हिंदू थे। शालिनी ने यह भी कहा है कि उसे कट्टरपंथी सोच रखने वाले मुस्लिमों से परेशानी है।

16 जुलाई 2023: उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में एक मुस्लिम महिला ने घर वापसी करके हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया है। महिला का नाम शाइस्ता अली है, जो अब सीमा नाम से जानी जाएँगी। सीमा ने अपने पति के रूप में राम अवतार को चुना है।

6 जुलाई 2023: गुजरात के राजकोट का हिंदू युवक आशीष गोस्वामी बांगलादेशी मुस्लिम लड़की से शादी करने के लिए इस्लाम अपना लिया था। उसे इंस्टाग्राम के जरिए फँसाया गया था। हिंदू संगठनों और साधु-संतों की समझाइश के बाद उसने घर वापसी कर ली।

2 जुलाई 2023: उत्तर प्रदेश के कौशांबी में शबाना ने घर वापसी कर हिंदू लड़के से मंदिर में शादी कर ली। शबाना हिंदू धर्म अपनाकर रजनी बन गई और उसने बबलू को अपना जीवन साथी बनाया है। शबाना से रजनी बनी युवती ने कहा है कि उसने अपनी मर्जी से घर वापसी कर बबलू से शादी की है।

जून 2023: कुल 5 घर वापसी

22 जून 2023: उत्तर प्रदेश के बरेली की तीन तलाक पीड़िता शहनाज ने घर वापसी कर ली। बचपन के दोस्त पवन के साथ शादी कर वह आरोही बन गईं। बचपन से ही वह भगवान श्रीकृष्ण की भक्त थीं। भगवान की पूजा करने पर ही शौहर ने तीन तलाक देकर उन्हें घर से निकाल दिया था।

21 जून 2023: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले की एक मुस्लिम लड़की ने घर वापसी करते हुए हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया। आएशा नाम की इस लड़की ने फरीदाबाद में रवि नाम के हिन्दू युवक से शादी कर ली। अब आयशा आशा नाम से जानी जाएँगी।

15 जून 2023: सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर मोहम्मद शायन अली ने हिंदू धर्म स्वीकार करने की घोषणा की। शायन अली के अनुसार जब पाकिस्तानी एजेंसियों के टॉर्चर के कारण उन्हें मुल्क छोड़ना पड़ा था, तब भगवान श्रीकृष्ण उनके साथ थे। उन्होंने कहा, “करीब दो साल तक अपने पूर्वजों की संस्कृति और जीवनशैली का पालन करने के बाद मैं घर वापसी कर रहा हूँ।” शायन अली के अनुसार उनके दादा-दादी ने भारत के बजाय पाकिस्तान को सिर्फ इसलिए चुना था क्योंकि वे मुसलमान थे और वो उनकी सबसे बड़ी गलती थी।

12 जून 2023: उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक मुस्लिम महिला ने अपने बेटे सहित हिंदू धर्म अपना लिया है। दिव्यांग रानी बेगम नाम की इस महिला ने बताया कि मंदिर का प्रसाद खाने से उनके बेटे जुनैद की आँखों की रौशनी लौटी आई। जुनैद की आँखें बचपन में ही खराब हो गईं थीं। रानी ने कहा कि हिंदू धर्म में उनकी आस्था बचपन से थी।

7 जून 2023: उत्तर प्रदेश में दो मुस्लिम युवतियों ने अपने हिंदू प्रेमी से शादी की। इन युवतियों के परिजन जबरन उनका निकाह कराना चाहते थे। सीतापुर में प्रदीप से शादी कर रूबिया अब रजनी बन गई हैं। जबकि बहराइच की रुबीना खान ने शेष कुमार अवस्थी के साथ मंदिर में शादी की। अब वह रूबी अवस्थी हो गई हैं।

मई 2023: कुल 1 घर वापसी

1 मई 2023: मध्य प्रदेश के सागर जिले में बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री ने 50 से ज्यादा परिवारों के 95 लोगों को सनातन धर्म में वापसी करवाई। ये लोग जिले के अलग-अलग गाँवों के रहने वाले हैं। उन्होंने घर वापसी के वक्त कहा कि वो लोग लालच में आकर ईसाई बन गए थे लेकिन अब फिर ऐसा नहीं होगा। इनमें से कुछ को पानी में डुबकी लगवाकर ईसाई बनाया गया था। लालच के लिए बकरी, मच्छरदानी और कंबल दिया था। ईसाई बनने के बाद एक महिला को मंगलसूत्र पहनने से मना किया गया था।

अप्रैल 2023: कुल 4 घर वापसी

24 अप्रैल 2023: छत्तीसगढ़ के दुर्ग में 100 परिवार दोबारा अपने धर्म में वापस लौटे। भाजपा नेता व ‘अखिल भारतीय घर वापसी’ के प्रमुख प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने इस दौरान 100 परिवारों के पाँव पखारकर उन्हें अपने धर्म में वापसी करवाई।

22 अप्रैल 2023: उत्तर प्रदेश के बरेली में एक मुस्लिम लड़की ने हिंदू धर्म स्वीकार किया है। रोशनी बेगम नाम की इस लड़की को नई पहचान रिद्धि गुप्ता के तौर पर मिली। रमजान के आखिरी जुमे को उसने अगस्त्य मुनि आश्रम में शिवम गुप्ता से विवाह किया।

18 अप्रैल 2023: उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में सबीना नाम की एक मुस्लिम लड़की ने हिन्दू धर्म स्वीकार किया। उसने सोमपाल से शादी की। सबीना अब सोनम के नाम से जानी जाएँगी। परिजनों के तैयार नहीं होने पर दोनों ने मंदिर में शादी का फैसला किया।

11 अप्रैल 2023: उत्तर प्रदेश के कानपुर के एक मंदिर में रहमत अली ने घर वापसी की। अब वे रितिक नाम से जाने जाएँगे। वैदिक मंत्रोच्चार के बीच उन्होंने हिंदू धर्म अपनाया। शुद्धिकरण के बाद उन्होंने महादेव का अभिषेक किया। बजरंगबली का आशीर्वाद लिया। बताया कि बचपन से ही उन्हें हिंदू धर्म पसंद था। रामलीला देखना, गणेश उत्सव में हिस्सा लेना और काँवड़ ले जाना उन्हें हमेशा से पसंद रहा है।

मार्च 2023: कुल 2 घर वापसी

29 मार्च 2023: मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले में 9 साल पहले धर्मान्तरित हुए एक परिवार ने घर वापसी की। ईसाई मत से अपने मूल धर्म में वापस आने वाले एक ही परिवार के 8 सदस्य हैं। घर वापसी करने वाले कैलाश ने बताया कि उनके घर में कुछ लोग बीमार रहा करते थे। तभी एक व्यक्ति ने ईसाई बन जाने और बेहतर इलाज का झाँसा दिया। कैलाश के मुताबिक उसी लालच में वो ईसाई बन गए थे।

1 मार्च 2023: उत्तर प्रदेश के आगरा की रहने वाली नरगिस ने हिंदू धर्म स्वीकार कर मैनपुरी के आलोक से शादी रचाई। नरगिस ने कहा कि उन्हें बचपन से ही सनातन धर्म पसंद था। कभी-कभी वह मंदिर भी चली जाती थीं, जिससे नाराज अब्बू उनकी पिटाई किया करते थे। शुद्धिकरण की प्रक्रिया के बाद नरगिस से निक्की बनी नई-नवेली दुल्हन ने बताया कि इस्लाम उन्हें कभी पसंद नहीं था।

फरवरी 2023: कुल 8 घर वापसी

28 फरवरी 2023: असम में 142 लोगों ने घर वापसी की। इन सभी ने ईसाइयत छोड़ सनातन धर्म को अपनाया। यह असम में अब तक की सबसे बड़ी घर-वापसी है। घर-वापसी करने वाले तिवा जनजाति के ये लोग जन्म से हिंदू थे। लेकिन इनके दादा-दादी गरीबी तथा शिक्षा की कमी के चलते भ्रमित होकर ईसाई बन गए थे। अब अपनी इच्छा से घर वापसी की।

27 फरवरी 2023: गुजरात के वलसाड जिले में 20 क्रिश्चियन परिवारों ने घर वापसी की। स्थानीय प्रथा की आड़ में क्रिश्चियन मिशनरीज वाले भोले-भाले जनजातीयों को शादी करवाने का लालच देकर चर्च ले जाते हैं, फिर उनका धर्मांतरण करवाते हैं। अब इन लोगों ने स्वेच्छा से घर वापसी की।

22 फरवरी 2023: छत्तीसगढ़ में भाजपा नेता प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने धर्मांतरित हुए 250 लोगों की घर वापसी करवाई। ईसाई बन चुके ये सभी लोग 36 अलग-अलग परिवारों से थे। घर वापसी करने वाले सभी लोगों के पैरों को गंगाजल से धोया गया

20 फरवरी 2023: मध्य प्रदेश के छतरपुर स्थित बागेश्वर धाम में पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की मौजूदगी में 220 धर्मांतरित ईसाइयों ने हिन्दू धर्म में घर-वापसी की। घर-वापसी करने वालों ने बताया कि ईसाई मिशनरियों ने उन्हें घर देने का लालच दिया था, जिसके बाद उन्होंने हिन्दू धर्म को छोड़ दिया था। हालाँकि, वादा नहीं निभाया गया और उन्हें घर नहीं मिला। उन्होंने कहा कि वो अपनी मर्जी से घर-वापसी कर रहे हैं।

14 फरवरी 2023: चंडीगढ़ की एक लड़की ने हिंदू धर्म स्वीकार करते हुए दिल्ली में अजय कुमार संग शादी की है। नाजिश खान नाम की यह लड़की अब पूजा के नाम से जानी जाएगी। नाजिश ने हिंदू बनने पर बेहद खुशी जताई।

8 फरवरी 2023: झारखंड के लोहरदगा में एक ही परिवार के 13 सदस्यों ने ईसाई धर्म त्याग कर सरना धर्म में घर वापसी कर ली। इन सभी ने पादरियों द्वारा खुद को गुमराह करने और अन्धविश्वास सिखाने का आरोप लगाया। साल 2012 में ईसाई मत अपनाने को इस परिवार ने अपनी बड़ी भूल बताते हुए सरना धर्म को ही बेहतर कहा।

7 फरवरी 2023: मध्य प्रदेश के मुरैना में एक मुस्लिम परिवार ने हिन्दू बनने की घोषणा की। युसूफ ने कहा कि जहाँ प्रताड़ना मिल रही, ऐसे दीन में रहने का क्या फायदा। युसूफ पर अपने घर को मस्जिद के लिए देने का दबाव बना रहे थे कट्ट्ररपंथी मुस्लिम। इसके खिलाफ युसूफ ने कहा कि वो अपनी जमीन पर मंदिर बनवा देंगे।

4 फरवरी 2023: उत्तर प्रदेश के बरेली में सबा बी नामक लड़की ने हिंदू लड़के अंकुर देवल से शादी करने के लिए घर वापसी की। अब वह सोनी देवल के नाम से जानी जाएँगी। सबा बी उर्फ सोनी का कहना है कि उन्होंने अपनी मर्जी से घर वापसी की। उन्होंने कहा कि उन्हें हिंदू धर्म बहुत पसंद है। उन्हें पूजा करना अच्छा लगता है। साथ ही इसमें तीन तलाक भी नहीं होता। उन्होंने कहा कि अब वह जीवन भर हिंदू बनकर रहेंगी।

जनवरी 2023: कुल 5 घर वापसी

23 जनवरी 2023: मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में सलीम खान नामक बुजुर्ग व्यक्ति ने सनातन धर्म अपना लिया। अब वह बाबा सुखराम दास के नाम से जाने जाएँगे। सलीम का कहना है कि वह हनुमान जी से प्रभावित होकर हिंदू बने हैं। सलीम का कहना है कि उन्होंने अंतर आत्मा की आवाज सुनकर इस्लाम त्याग कर सनातन धर्म अपनाया है।

21 जनवरी 2023: बागेश्वर धाम के पंडित धीरेन्द्र शास्त्री के मंच पर एक मुस्लिम महिला सुल्ताना बेगम ने सनातन धर्म अपना लिया। मुस्लिम महिला ने कहा, “मेरा नाम सुल्ताना है। मैं मूर्ति पूजा करती हूँ, इसलिए मेरे घर वालों ने मुझे त्याग दिया। हिन्दू धर्म से अच्छा कोई धर्म हो ही नहीं सकता। इसमें भाई-बहन में शादियाँ नहीं होती। इसमें औरतों की जिंदगी बर्बाद नहीं होती। इसमें तीन तलाक नहीं होता।”

20 जनवरी 2023: छत्तीसगढ़ में 1100 ईसाइयों ने एक साथ घर वापसी की। महासमुंद जिले के बसना में बीजेपी नेता प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने गंगाजल से चरण पखारकर सबकी हिंदू धर्म में वापसी करवाई। घर वापसी करने वाले लोगों ने बताया कि वे भटक कर धर्मांतरण का शिकार हो गए और अपना धर्म छोड़ दिया था। अपनी भूल का एहसास होने के बाद वे हिंदू धर्म में लौट आए।

16 जनवरी 2023: उत्तर प्रदेश के एटा जिले में शबनम नाम की लड़की ने हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया। अब वह नेहा पाठक के नाम से जानी जाएँगी। शबनम ने कोमेश पाठक नाम के हिन्दू लड़के से शादी की। शबनम काफी पहले से हिन्दू धर्म से प्रभावित थीं। वो दीपावली त्यौहार को काफी पसंद किया करती थीं।

3 जनवरी 2023: उत्तर प्रदेश के एटा में 10 ईसाई परिवारों के 35 लोगों ने सनातन धर्म में वापसी की। वर्ष 1995 में धर्मांतरण कर ये लोग ईसाई बन गए थे। इन्हें प्रलोभन देकर ईसाई बनाया गया था। इनमें से कई लोग सनातन धर्म में वापसी के इच्छुक थे। इसलिए 35 लोगों ने स्वेच्छा से हवन में आहुति देकर घर वापसी की।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Editorial Desk
Editorial Deskhttp://www.opindia.com
Editorial team of OpIndia.com

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -