Wednesday, January 27, 2021
Home देश-समाज ग्रूमिंग जिहाद (लव जिहाद) के 43 मामले... सिर्फ 112 दिनों में: मीडिया और लिबरलों...

ग्रूमिंग जिहाद (लव जिहाद) के 43 मामले… सिर्फ 112 दिनों में: मीडिया और लिबरलों को चिढ़ा रही यह डरावनी रिपोर्ट

अगस्त 2020 से लेकर अब तक, पिछले 112 दिनों में ये वो ऐसे 43 मामले हैं, जो हम सबके सामने आ सके (कइयों की तो रिपोर्टिंग तक नहीं होती)। कब हुआ, कहाँ हुआ, किसके साथ हुआ, कौन है आरोपित... इस रिपोर्ट में सब कुछ... लव जिहाद को नकारने वाले लिबरलों को आईना दिखाती यह रिपोर्ट।

ग्रूमिंग जिहाद या लव जिहाद सामाजिक अपराधों की श्रेणी में अपने लिए बहुत पहले से ही जगह बना चुका था। यह और बात है कि समाज इसे समझने और इसे स्वीकार करने में आज भी झिझक रहा है।

ख़ास बात यह है कि ग्रूमिंग जिहाद जैसे अपराध को चिन्हित करने वाले लोगों को ही छद्म सेक्युलर लोगों की ओर से अपराधी की नजर से देखा जाने लगा। जबकि यदि इस अपराध की गहरे में नजर दौड़ाएँ तो पता चलता है कि यह सिर्फ मजहबी उद्देश्य को पोषित नहीं करता बल्कि, एक अपराधी मानसिकता को भी सींचने का काम कर रहा था।

यानी, ग्रूमिंग जिहाद सिर्फ हिन्दू महिलाओं (और कुछ मामलों में पुरुषों का भी) का धर्मांतरण कर उनसे वैवाहिक सम्बन्ध स्थापित करने तक ही सीमित ना होकर, बलात्कार, जबरन धर्मांतरण, दहेज़, और महिला उत्पीड़न की भी पहली सीढ़ी बना रहा।

एक नजर ऐसे ही कुछ मामलों पर, जो हाल ही के कुछ महीनों में सामने आए

  1. अगस्त 04, 2020: मेरठ में सुहेल ने एक दलित युवती को पहले झूठी पहचान बताकर प्रेमजाल में फँसाया और जब पोल खुली तो लड़की के घर से उसे जबरन उठाकर उससे निकाह करने की कोशिश की।
  2. अगस्त 04, 2020: आउटर दिल्ली के किराड़ी इलाक़े में अनवर ने खुद के मजहब की पहचान छिपा कर छद्म हिन्दू नाम अनु रखा और युवती को अपने प्रेम के जाल में फँसा कर महीनों बलात्कार करता रहा। उसने पीड़िता के साथ शादी भी रचा ली लेकिन उसे अपने घर से लाने से साफ़ इनकार कर दिया। आरोपित ने पीड़िता से लाखों रुपए भी ऐंठ लिए। अनवर पर बलात्कार, धोखाधड़ी, धमकी और अमान्य तरीके से शादी का मामला दर्ज किया गया है।
  3. अगस्त 16, 2020: महिला ने बताया कि उसके पति का असली नाम शौकत अली है, जो पिछले 6 महीने से आर्थिक और शारीरिक रूप से उसका शोषण कर रहा था। साथ ही वो उसकी जम कर पिटाई भी करता था। महिला ने बताया कि शौकत अली ने छद्म हिन्दू नाम के साथ उसे अपने प्रेम जाल में फँसाया और फिर उससे शादी कर ली। जब वो उसके घर पहुँची और अपने ससुराल वालों से मिली, तब उसे उसके मजहब का भान हुआ। इसके कुछ दिनों बाद शौकत अली और उसके परिवार वालों ने कुल्हाड़ी से उस पर हमला किया और पीट-पीट कर घर से बाहर निकाल दिया।
  4. अगस्त 21, 2020: शालिनी यादव ने एक वीडियो जारी कर बताया कि उसका नाम अब फिजा फातिमा हो चुका है। और उसने फैसल नाम के एक शख्स से शादी कर ली है। शालिनी के भाई ने बताया कि वह घर से 10 लाख रुपए लेकर निकली थी। फैसल ने उसे बहला-फुसलाकर प्रेमजाल में फँसाया है।
  5. अगस्त 22, 2020: हरियाणा के पानीपत में 25 साल की विधवा को गोल्डी बनकर निजामुद्दीन ने कई बार उसे जान से मारने के लिए उसका गला भी दबाया। पैसों के लिए अपने दोस्तों के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव भी बनाने लगा था। गर्भवती होने के बावजूद परिवार वाले उस पर लगातार अत्याचार करते रहते थे। महिला ने बताया कि वह पाँच माह की गर्भवती है। और ऐसी हालत में परिजनों ने उसे घर से निकाल दिया गया।
  6. अगस्त 26, 2020: पीड़िता लंदन हायर स्टडीज के लिए गई थी। उसी दौरान बांग्लादेशी नागरिक नफीस ने उसे लुभाना शुरू कर दिया और नफीस पीड़िता का अपहरण कर बांग्लादेश ले गया। जहाँ महिला से जबरन इस्लाम कबूल करवाया गया। उसे घर में बंद कर के रखा जाता था, ताकि वो किसी को भी अपने साथ हुए अत्याचार के सम्बन्ध में कुछ भी बताने की स्थिति में न रहे। लेकिन, महिला किसी तरह फोन कॉल करने में सक्षम रही और अपने माता-पिता को बताया कि बांग्लादेश में उसका यौन शोषण किया जा रहा है और उसे लगातार प्रताड़ना झेलनी पड़ती है।
  7. अगस्त 28, 2020: कानपुर निवासी आसिफ शाह ने युवती को अपने प्रेम जाल में फँसाया और ब्रेनवाश कर जबरन उसको इस्लाम धर्म कबूलने पर मजबूर किया। परिजनों को उनकी बेटी चार दिन बाद खराब और मानसिक रूप से अस्थिर हालत में मिली है। पिता ने बताया उसका शारीरिक शोषण भी हुआ है।
  8. अगस्त 28, 2020: कानपुर के बजरिया थाना क्षेत्र में लकी खान नाम के एक युवक ने अपना हिंदू नाम बता कर नाबालिक लड़की को अपने प्रेम जाल में फँसाया और उसकी अश्लील तस्वीरें ले कर इस्लाम धर्म कबूलने और निक़ाह करने के लिए युवती को ब्लैकमेल करने लगा।
  9. सितम्बर 01, 2020: मध्य प्रदेश के वसीम ने अपनी पत्नी अर्पिता जैन को फेसबुक पर फोटो शेयर करने के कारण मिट्टी का तेल छिड़ककर आग के हवाले कर दिया। फेसबुक पर फोटो शेयर करने के कारण वसीम को अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह होने लगा था। जिसके बाद उसने यह कदम उठाया।
  10. सितंबर 07, 2020: उन्नाव में हसीब ने पहले नाबालिग को प्रेमजाल में फँसाया फिर ब्रेनवॉश कर बहला-फुसलाकर उसे अगवा कर लिया और लड़की के घर वालों को जान से मारने की धमकी भी दी।
  11. सितंबर 07, 2020: कानपुर की 18 वर्षीय मुस्कान को 35 साल के आसिफ ने प्रेम जाल में फँसाया और ब्रेनवॉश कर जबरन उसको इस्लाम कबूलने पर मजबूर किया। मुस्कान को धोखा देने के लिए आसिफ अपनी बीवी को आपा यानी बड़ी बहन कहता था। वहीं, बीवी उसे भाईजान कहकर बुलाती थी। इतना ही नहीं आसिफ ने अपने बच्चों को भी सिखाया था कि वे उसे मामू कहें।
  12. सितम्बर 08, 2020: कानपुर में 14 साल की हिंदू लड़की को फ़तेह खान ने हिंदू होने का नाटक करते हुए गुमराह किया। वह पिछले 3 सालों से हिन्दू होने का दिखावा कर रहा था। फतेह खान, उर्फ आर्यन मल्होत्रा ने खुद को हिंदू साबित करने के लिए वह सब किया, जो वह कर सकता था। जैसे – उसने अपने हाथ पर कलावा (हिंदू पवित्र धागा) बाँधा, तिलक लगाया और अक्सर मंदिर जाया करता था। परिवार की शिकायत के अनुसार, आरोपित फतेह खान नाबालिग लड़की का यौन शोषण भी कर रहा है।
  13. सितम्बर 12, 2020: रमन बने अफजल ने नेहा को बहन बनाकर घर से भगाया। घर से ₹25000 कैश, 3 लाख के गहने, एटीएम कार्ड गायब।
  14. सितम्बर 12, 2020: मोहम्मद आफताब के मारपीट और दबाव से तंग पूजा पटेल ने लगाई फाँसी। नमाज और इस्लाम के अनुसार रहने को किया जाता था मजबूर।
  15. सितम्बर 12, 2020: आगरा के सिकंदरा और मलपुरा क्षेत्र में इकरार और बादल खान नाम के युवकों ने अपना हिंदू नाम रखकर नाबालिग हिंदू लड़कियों को फँसाया और इस्लाम धर्म कबूल करवाकर उनसे निक़ाह कर लिया।
  16. सितम्बर 13, 2020: कानपुर में शीबू अली ने सचिन बनकर एक लड़की को पहले प्रेमजाल में फॅंसाया। गौमांस खिलाकर इस्लाम कबूलने को किया मजबूर।
  17. सितम्बर 14, 2020: सतना में अतीक मंसूरी उर्फ़ समीर उर्फ़ सिकंदर खान ने हिन्दू नाम के साथ नाबालिग को 2 साल तक यौन शोषण का शिकार बनाया, बलात्कार का मामला दर्ज।
  18. सितम्बर 16, 2020: चार बच्चों के अब्बू और चार बीबियों के शौहर अब्दुल्ला ने अमन चौधरी बनकर 17 साल की किशोरी को प्रेम जाल में फँसा लिया और फिर उसके साथ दुष्कर्म किया।
  19. सितम्बर 17, 2020: कॉन्ग्रेस के पूर्व MLA बदरुद्दीन के बेटे ने 10वीं की हिंदू लड़की से रेप किया, फँसा कर निकाह किया। यही नहीं लड़की का गर्भपात कर फिर उसे छोड़ दिया।
  20. सितम्बर 17, 2020: कमर अली ने पत्रकार अमित वाजपयी बनकर 2 साल तक युवती का रेप किया।
  21. सितम्बर 19, 2020: कानपुर में मुख्तार से राहुल विश्वकर्मा बन हिंदू लड़की को फँसाया, पहले भी एक और हिंदू लड़की को बना चुका है बेगम।
  22. सितम्बर 20, 2020: झारखंड के गुमला में इरशाद अंसारी ने 15 साल की दलित लड़की को निकाह के लिए अगवा किया और उसके परिवार को जान से मरने की धमकियाँ दी।
  23. सितम्बर 20, 2020: हरदोई के तीन युवक- शकील, इमरान, नूर ने हिंदू बनकर बिलासपुर की तीनों बहनों से दोस्ती की। फिर शादी और रोजगार का झाँसा देकर उन्हें लखनऊ बुलाया जहाँ 9 युवकों ने उनका बलात्कार करने की कोशिश की।
  24. सितम्बर 25, 2020: एजाज़ ने प्रिया को एक लॉज में बंद करके रखा था, वह प्रिया पर लगातार धर्म परिवर्तन का दबाव बनाता था। जब वह अपने इरादों में कामयाब नहीं हुआ तो उसने चोपन में दोस्त शोएब को बुलाया और उसके साथ मिल कर प्रिया का गला रेत दिया
  25. अक्टूबर 02, 2020: उत्तर प्रदेश के बदायूँ जिले की हिंदू लड़की नेहा की 25 सितंबर को उसके पति राजकुमार उर्फ़ आसिफ ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। उसने अपने मजहब की पहचान खुलने पर ऐसा किया।
  26. अक्टूबर 07, 2020: यह लव जिहाद का अपने किस्म का अलग मामला था। एक हिन्दू युवक निकाह के लिए सुमित से सैफ खान बन गया। युवती ने पहले अपने प्रेमी युवक का नाम सुमित से सैफ खान में बदला। फिर निक़ाह कर लिया। यही नहीं, युवती के घरवालों की शिकायत पर उल्टा युवक के पिता को ही अरेस्ट कर लिया गया। सुमित की माँ का आरोप है कि लड़की ने उनके बेटे का इस कदर ब्रेनवाश कर दिया था कि वह चोरी छुपे नमाज पढ़ने और रोजा रखने लगा था।
  27. अक्टूबर 13, 2020: अंजना से आइसा बनी महिला ने रेप के बाद धर्म परिवर्तन कर आसिफ नाम के युवक से शादी कर ली। शादी के बाद आसिफ सऊदी अरब चला गया। महिला ने आसिफ के परिजनों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। महिला ने तंग आकर आत्मदाह का भी प्रयास किया जिसमें उसकी मौत भी हो गई।
  28. अक्टूबर 14, 2020: बिहार के मुंगेर निवासी मुस्लिम युवक ने शादी के चार साल बाद हिंदू लड़की पर इस्लाम धर्म कबूलने का दबाव बनाया, इतना ही नहीं युवक ने हिंदू युवती की माँ पर भी इस्लाम कबूलने की जबरदस्ती की।
  29. अक्टूबर 16, 2020: मोहम्मद उवैश ने बाबू बन कर पहले लड़की को अपने प्रेमजाल में फँसाया फिर अपनी बहन के साथ मिल कर उसपर इस्लाम कबूलने का दबाव बनाया।
  30. अक्टूबर 21, 2020: बिलाल ने हिन्दू बनकर युवती को अगवा किया। घरवालों ने लव जिहाद का आरोप लगाते हुए बताया कि उनकी बेटी अपने साथ 8 लाख रूपए भी ले गई।
  31. अक्टूबर 23, 2020: दिलदार ने सबसे पहले एक लड़की के साथ भाग कर शादी की, 2 बच्चे भी हुए थे। इसके बाद सोनी से शादी की। जब सोनी गर्भवती हुई तो छोड़ कर भाग गया। इलाज के अभाव में गर्भवती सोनी और बच्चे, दोनों की मौत हो गई। दिलदार ने राहुल बनकर अपने मोहल्ले में यह बताया था कि वह अपनी दिव्यांग बहन सोनी के साथ रहता था, जिसके दोनों पैर काम नहीं करते थे। अब 8वीं में पढ़ रही 13 साल की लड़की के साथ फरार होने के बाद पता चला कि जिसे वह अपनी बहन बताता था, वह असल में उसकी पत्नी थी।
  32. अक्टूबर 23, 2020: राहुल बन नाबालिग लड़की से की दोस्ती, रेप के बाद बताया – ‘मैं साजिद हूँ, शादी करनी है तो धर्म बदलो’
  33. अक्टूबर 27, 2020: निकिता तोमर हत्याकांड- यह वो मामला था जिसने देशभर में चल रहे ग्रूमिंग जिहाद के मजहबी अजेंडे को सबके सामने रखा और लोगों ने मुखर होकर लव जिहाद की क्रूरता का बहिष्कार का फैसला किया। निकिता को दिन दहाड़े सड़क पर गोली मार दी गई। तौसीफ ही नहीं, उसकी माँ भी निकिता पर दबाव बना रही थी कि वह धर्म परिवर्तन कर तौसीफ से निकाह कर ले। जब निकिता ने मना किया तो उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई।
  34. अक्टूबर 29, 2020: मध्यप्रदेश के भोपाल में लड़की की माँ ने दूसरे समुदाय के युवक पर अपहरण का आरोप लगाया। साथ ही पुलिस को लेकर कहा है कि वह शिकायत दर्ज करवाने जब थाने गईं तो उन्हें कह दिया गया कि लड़की खुद लड़के के साथ गई है।
  35. अक्टूबर 31, 2020: मेवात में दलित नर्स का अपहरण। इकबाल बनाता था शादी और धर्म परिवर्तन का दबाव
  36. नवंबर 02, 2020: पीड़िता की मॉं ने कहा कि उनकी 16 साल की लड़की 11 अक्टूबर से गायब है। उसे एक समुदाय विशेष का जेसीबी ड्राइवर अपने साथ ले गया था।
  37. नवम्बर 03, 2020: साबिर शादीशुदा है और पहले भी लड़कियों को फँसाने का काम इसी तरह कर चुका है। वह इस बार भी लड़की को अपने साथ बुर्का पहनाकर दुबई ले जा रहा था लेकिन पकड़ा गया। बजरंग दल ने इसे ग्रूमिंग जिहाद का ही मामला बताया।
  38. नवम्बर 06, 2020: ताहिर खान ने गंभीर अवस्था मे नाबालिग हिंदू युवती को तरन्नुम नाम से चूनाभट्टी स्थित अस्पताल में भर्ती कराया था। इलाज के दौरान युवकी की संदिग्ध हालात में मृत्यु हो गई। भोपाल के कोलार इलाके के गेहूँखेड़ा में रहने वाला ताहिर खान नाम का युवक डेढ़ साल पहले नाबालिक युवती को बहला फुसलाकर झाँसी से भगाकर भोपाल ले आया था और उसके बाद उसकी कोई खोज खबर नहीं थी। युवती की मौत के बाद परिजनों को भारती के बारे में पुलिस से पता चला।
  39. नवम्बर 13, 2020: यहाँ भी लव जिहाद की अनोखी घटना देखने को मिली। नाजरीन ने फेसबुक पर मोहित से सोनिया बनकर दोस्ती लगाई। बाद में मोहित और उसकी माँ को होटल के कमरे में बंद कर दिया गया। वहाँ मोहित का धर्म परिवर्तन कर निकाह कराया। मोहित ने आरोप लगाया कि एक अस्पताल में उसका जबरन खतना भी करा दिया गया।
  40. नवंबर 13, 2020: कर्नाटक में खुद की पहचान छिपाकर अब्दुल ने हिन्दू युवती से दोस्ती की और फिर उसकी आपत्तिजनक तस्वीरें सोशल मीडिया में डाल दी। अब्दुल के व्यवहार और तौर-तरीके पर संदेह होने के बाद युवती के माता-पिता ने उसके अतीत के बारे में जानने का प्रयास किया। वह हैरान रह गए जब उन्हें मालूम चला कि अब्दुल अपनी पहचान छुपा कर और हिन्दू होने का दावा करके उनकी बेटी को धोखा दे रहा है।
  41. नवंबर 17, 2020 : गोरखपुर के गीडा इलाके की एक महिला ने अपने ही गाँव के एक व्यक्ति पर जबरन धर्मपरिवर्तन और यौन शोषण का आरोप लगाया है। महिला का आरोप है कि आरोपित शख्स उसकी अश्लील वीडियो बना कर उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बना रहा है और ऐसा नहीं करने पर वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड करने की धमकी भी दे रहा है।
  42. नवंबर 19, 2020: अक्षय बनकर 2 बच्चों का बाप डॉ. अकरम नर्स का बलात्कार करता रहा और उसने महिला की अश्लील वीडियो भी बनाई। जब वह गर्भवती हुई तो उसने महिला पर धर्मांतरण का बनाया दबाव
  43. नवम्बर 24, 2020: रहीम ने अर्जुन बनकर हिंदू विधवा से बनाए 5 दिन शारीरिक संबंध। रहीम ने बाद में विधवा से निकाह करने के लिए उस पर इस्लाम कबूल करने का दबाव भी बनाया।

अगस्त 2020 से लेकर अब तक, पिछले 112 दिनों में ये वो ऐसे 43 मामले हैं, जो हम सबके सामने किसी न किसी तरह से आ सके। इसके अलावा कई ऐसी घटनाएँ रोज घटित होती हैं, जो मीडिया की नजरों तक नहीं आ पाती या फिर दूसरे मजहब की कट्टरता की शिकार महिलाएँ समाज के बीच रखने में नाकाम रहती हैं। लेकिन हर दिन कम से कम 2 घटनाएँ भी अगर हमारे सामने आती हैं तो क्या यह ग्रूमिंग जिहाद की वास्तविकता को साबित करने के लिए नाकाफी कही जा सकती हैं?

इससे भी ज्यादा चिंता का विषय यह है कि महिला सशक्तिकरण की बात करने वाले महिला और पुरुष भी सिर्फ आभासी धर्म निरपेक्षता के आडम्बर के चलते इन अपराधों को स्वीकार करने से बचते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

Video: किसानों के हमले में दीवार से एक-एक कर गिरते रहे पुलिसकर्मी, 109 घायल

वीडियो में देखा जा सकता है कि भीड़ द्वारा किए गए हमले से पुलिसकर्मी एक-एक कर लाल किले की दीवार से नीचे गिरते जा रहे हैं।

बिहारी-गुजराती-तमिल-कश्मीरी किसान हो तो डूब मरो… क्योंकि किसान सिर्फ पंजाबी-खालिस्तानी होते हैं, वही अन्नदाता हैं

वास्तविकता ये है कि आप इतने दिनों से एक ऐसी भीड़ के जमावड़े को किसान का आंदोलन कहते रहे। जिसकी परिभाषा वामपंथी मीडिया गिरोह और विपक्षियों ने गढ़ी और जिसका पूरा ड्राफ्ट एक साल पहले हुए शाहीन बाग मॉडल के आधार पर तैयार हुआ।

जर्मनी, आयरलैंड, स्पेन आदि में भी हो चुकी हैं ट्रैक्टर रैलियाँ, लेकिन दिल्ली वाला दंगा कहीं नहीं हुआ

दिल्ली में जो आज हुआ, स्पेन, आयरलैंड, और जर्मनी के किसानों ने वो नहीं किया, हालाँकि वो भी अन्नदाता ही थे और वो भी सरकार के खिलाफ अपनी माँग रख रहे थे।

किसानों के आंदोलन में खालिस्तानी कड़े और नारे का क्या काम?

सवाल उठता है कि जो लोग इसे पवित्र निशान साहिब बोल रहे हैं, वो ये बताएँ कि ये नारा और कड़ा किसका है? यह भी बताएँ कि एक किसान आंदोलन में मजहबी झंडा कहाँ से आया? उसे कैसे डिफेंड किया जाए कि तिरंगा फेंक कर मजहबी झंडा लगा दिया गया?

कैपिटल हिल के लिए छाती पीटने वाले दिल्ली के ‘दंगाइयों’ के लिए पीट रहे ताली: ट्रम्प की आलोचना करने वाले करेंगे राहुल-प्रियंका की निंदा?

कैपिटल हिल वाले अगर दंगाई थे तो दिल्ली के उपद्रवी संत कैसे हुए? ट्रम्प की आलोचना हो रही थी तो राहुल-प्रियंका की निंदा क्यों नहीं? ये दोहरा रवैया अपनाने वाले आज भी फेक न्यूज़ फैलाने में लगे हैं।

वीडियो: जब दंगाई को किसी ने लाल किला पर तिरंगा लगाने दिया, और उसने फेंक दिया!

लाल किले पर एक आदमी सिखों का झंडा चढ़ाने खम्बे पर चढ़ा। जब एक आदमी ने उसकी ओर तिरंगा बढ़ाया तो उसने बेहद अपमानजनक तरीके से तिरंगे को दूर फेंक दिया।

प्रचलित ख़बरें

दिल्ली में ‘किसानों’ ने किया कश्मीर वाला हाल: तलवार ले पुलिस को खदेड़ा, जगह-जगह तोड़फोड़, पुलिस वैन पर पथराव

दिल्ली में प्रदर्शनकारी पुलिस के वज्र वाहन पर चढ़ गए और वहाँ जम कर तोड़-फोड़ मचाई। 'किसानों' द्वारा तलवारें भी भाँजी गईं।

महिला पुलिस कॉन्स्टेबल को जबरन घेर कर कोने में ले गए ‘अन्नदाता’, किया दुर्व्यवहार: एक अन्य जवान हुआ बेहोश

महिला पुलिस को किसान प्रदर्शनकारी चारों ओर से घेरे हुए थे। कोने में ले जाकर महिला कॉन्स्टेबल के साथ दुर्व्यवहार किया गया।

दलित लड़की की हत्या, गुप्तांग पर प्रहार, नग्न लाश… माँ-बाप-भाई ने ही मुआवजा के लिए रची साजिश: UP पुलिस ने खोली पोल

बाराबंकी में दलित युवती की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया। पुलिस ने बताया कि पिता, माँ और भाई ने ही मिल कर युवती की हत्या कर दी।

तेज रफ्तार ट्रैक्टर से मरा ‘किसान’, राजदीप ने कहा- पुलिस की गोली से हुई मौत, फिर ट्वीट किया डिलीट

राजदीप सरदेसाई ने तिरंगे में लिपटी मृतक की लाश की तस्वीर अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर करते हुए लिखा कि इसकी मौत पुलिस की गोली से हुई है।

हिंदुओं को धमकी देने वाले के अब्बा, मोदी को 420 कहने वाले मौलाना और कॉन्ग्रेस नेता: ‘लोकतंत्र की हत्या’ गैंग के मुँह पर 3...

पद्म पुरस्कारों में 3 नाम ऐसे हैं, जो ध्यान खींच रहे- मौलाना वहीदुद्दीन खान (पद्म विभूषण), तरुण गोगोई (पद्म भूषण) और कल्बे सादिक (पद्म भूषण)।

रस्सी से लाल किला का गेट तोड़ा, जहाँ से देश के PM देते हैं भाषण, वहाँ से लहरा रहे पीला-काला झंडा

किसान लाल किले तक घुस चुके हैं और उन्होंने वहाँ झंडा भी फहरा दिया है। प्रदर्शनकारी किसानों ने लाल किले के फाटक पर रस्सियाँ बाँधकर इसे गिराने की कोशिश भी कीं।
- विज्ञापन -

 

लालकिला में देर तक सहमें छिपे रहे 250 बच्चे, हिंसा के दौरान 109 पुलिसकर्मी घायल; 55 LNJP अस्पताल में भर्ती

दिल्ली में किसान ट्रैक्टर रैली का सबसे बुरा प्रभाव पुलिसकर्मियों पर पड़ा है। किसानों द्वारा की गई इस हिंसा में 109 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं, जिनमें से 1 की हालात गंभीर बताई जा रही है।

Video: किसानों के हमले में दीवार से एक-एक कर गिरते रहे पुलिसकर्मी, 109 घायल

वीडियो में देखा जा सकता है कि भीड़ द्वारा किए गए हमले से पुलिसकर्मी एक-एक कर लाल किले की दीवार से नीचे गिरते जा रहे हैं।

बिहारी-गुजराती-तमिल-कश्मीरी किसान हो तो डूब मरो… क्योंकि किसान सिर्फ पंजाबी-खालिस्तानी होते हैं, वही अन्नदाता हैं

वास्तविकता ये है कि आप इतने दिनों से एक ऐसी भीड़ के जमावड़े को किसान का आंदोलन कहते रहे। जिसकी परिभाषा वामपंथी मीडिया गिरोह और विपक्षियों ने गढ़ी और जिसका पूरा ड्राफ्ट एक साल पहले हुए शाहीन बाग मॉडल के आधार पर तैयार हुआ।

जर्मनी, आयरलैंड, स्पेन आदि में भी हो चुकी हैं ट्रैक्टर रैलियाँ, लेकिन दिल्ली वाला दंगा कहीं नहीं हुआ

दिल्ली में जो आज हुआ, स्पेन, आयरलैंड, और जर्मनी के किसानों ने वो नहीं किया, हालाँकि वो भी अन्नदाता ही थे और वो भी सरकार के खिलाफ अपनी माँग रख रहे थे।

किसानों के आंदोलन में खालिस्तानी कड़े और नारे का क्या काम?

सवाल उठता है कि जो लोग इसे पवित्र निशान साहिब बोल रहे हैं, वो ये बताएँ कि ये नारा और कड़ा किसका है? यह भी बताएँ कि एक किसान आंदोलन में मजहबी झंडा कहाँ से आया? उसे कैसे डिफेंड किया जाए कि तिरंगा फेंक कर मजहबी झंडा लगा दिया गया?

‘RSS नक्सलियों से भी ज्यादा खतरनाक, संघ समर्थक पैर छूकर गोली मार देते हैं’: कॉन्ग्रेसी सांसद और CM भूपेश बघेल का ज्ञान

कॉन्ग्रेस के सीएम भूपेश ने कहा कि आरएसएस के समर्थक पैर छूकर गोली मार देते हैं। महात्मा गाँधी की हत्या कैसे किया गया था? पहले पैर छुए फिर उनके सीने में गोली मारी।

कैपिटल हिल के लिए छाती पीटने वाले दिल्ली के ‘दंगाइयों’ के लिए पीट रहे ताली: ट्रम्प की आलोचना करने वाले करेंगे राहुल-प्रियंका की निंदा?

कैपिटल हिल वाले अगर दंगाई थे तो दिल्ली के उपद्रवी संत कैसे हुए? ट्रम्प की आलोचना हो रही थी तो राहुल-प्रियंका की निंदा क्यों नहीं? ये दोहरा रवैया अपनाने वाले आज भी फेक न्यूज़ फैलाने में लगे हैं।

‘लाल किले पर लहरा रहा खालिस्तान का झंडा- ऐतिहासिक पल’: ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग ने मनाया ‘ब्लैक डे’

गणतंत्र दिवस पर लाल किले पर 'खालिस्तानी झंडा' फहराने को लेकर ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग (APML) काफी खुश है। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ द्वारा स्थापित पाकिस्तानी राजनीतिक पार्टी ने इसे 'ऐतिहासिक क्षण' बताया है।

वीडियो: जब दंगाई को किसी ने लाल किला पर तिरंगा लगाने दिया, और उसने फेंक दिया!

लाल किले पर एक आदमी सिखों का झंडा चढ़ाने खम्बे पर चढ़ा। जब एक आदमी ने उसकी ओर तिरंगा बढ़ाया तो उसने बेहद अपमानजनक तरीके से तिरंगे को दूर फेंक दिया।

देशी-विदेशी शराब से लदी मिली प्रदर्शनकारी किसानों की ट्रैक्टर: दिल्ली पुलिस ने किया सीज, देखें तस्वीरें

पुलिस ने शराब से भरे एक ट्रैक्टर को सीज किया है। सामने आए फोटो में देखा जा सकता है कि पूरा ट्रैक्टर शराब से भरा हुआ है। यानी कि शराब के नशे में ट्रैक्टरों को चलाया जा रहा है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
386,000SubscribersSubscribe